होस्टगेटर इंडिया से होस्टिंग कैसे ख़रीदे?

वेबसाइट के लिए होस्टिंग उतना ही महत्वपूर्ण होता है जितना इंसानों के लिए अपना एक घर. अगर ब्लॉगिंग के फील्ड में अपने हैं तब की सबसे बड़ी समस्या अच्छे ब्लॉगिंग कंपनी का चुनाव करना होगा इसीलिए आज की पोस्ट में हम बताएंगे की होस्टिंग कैसे खरीदें और कौन सी कंपनी इसके के लिए सबसे अच्छी है. यह हम यह भी जानेंगे कि खरीदने से पहले किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

हर ब्लॉगर को यह पता होता है कि वेबसाइट के लिए एक अच्छी सर्वर का क्या महत्व है. किसी वेबसाइट को बनाने के बाद उस को आगे बढ़ाने के लिए अच्छी होस्टिंग का होना काफी जरूरी है. गूगल के अनुसार अगर आपकी वेबसाइट को खोलने में 3 सेकंड से ज्यादा समय लग रहा है तो फिर आप की वेबसाइट को पहले पेज पर आने में समस्या हो सकती है यह तभी पहले पेज में आ सकती हैं जब इसका कंटेंट बाकियों की तुलना में सबसे अच्छा हो.

वेब होस्टिंग क्या है इसके बारे में हम पहले ही बता चुके हैं साथ ही यह भी बता चुके हैं कि डोमेन क्या होता है. इन दोनों की वेबसाइट नहीं बनाया जा सकता है. इस पोस्ट में हम आपको होस्टगेटर इंडिया से होस्टिंग कैसे खरीदें इसका प्रोसेस स्टेप बाय स्टेप बताएंगे. अगर आप जानना चाहते हैं कि होस्टिंग कैसे और कहां से खरीदें तो हमारे पोस्ट को पूरा पढ़ें और जाने की आपके लिए सबसे अच्छी होस्टिंग कंपनी कौन सी है.

होस्टिंग कैसे और कहाँ से ख़रीदे?

ये जानने से पहले हम कुछ चीज़े जान लेते हैं जो Hosting खरीदने से पहले जानना बहुत जरुरी है. Blogging के शुरुआत में ये मालूम नहीं होता की कहाँ से होडिंग ख़रीदे और खरीदते वक़्त किन बातों का ध्यान रखे. जी नए होने की वजह से  निर्णय ले लेते हैं.

पैसे तो खर्च कर देते हैं लेकिन एक तरह से नुकसान हो. इन्ही बातों को हम यहाँ विस्तार से जानेंगे.

वेबसाइट बनाने की जब बात आती है तो 2 चीज़ें सबसे ज़रूरी होती है ।

1. डोमेन
2.होस्टिंग
हमने पहले ही डोमेन क्या है और इसकी क्या ज़रूरत पड़ती है?  वेबसाइट बनाने के लिए और ये कहाँ से खरीदना है ? ये अच्छे से समझ लिया था .
अक्सर बहुत सारे लोग इस बात को जानने के लिए काफी इच्छुक होते हैं की Hosting क्या होता है?  और कैसे काम करता है ? साथ ही ये कहाँ से खरीदना है?  अगर आप इस सवाल को लेकर अभी तक confused है तो ये पोस्ट पूरा पढ़ने के बाद आप को इस confusion से छुटकारा मिल जाएगा.  ये कैसे और कहाँ से ख़रीदे इसके पहले जानते हैं की इसके काम करने का तरीका क्या है. ये पूरी तरह से इंटरनेट पर आधारित होता है इसीलिए ये भी जानना जरुरी हो जाता है की इंटरनेट कैसे काम करता है.

इंटरनेट कैसे काम करता है?

होस्टिंग क्या है, ये जानने के लिए हमे पहले इंटरनेट के बारे में जानना पड़ेगा तो इसके बारे में अच्छे से समझ में आ जाएगी.
इंटरनेट को एक तरह से हम कह सकते हैं की ये पूरी दुनिया के कम्प्यूटर्स का जाल है. जब एक कंप्यूटर किसी दूसरे कंप्यूटर से जुड़ जाता है और उनके बिच में फाइल को रिसीव और सेंड कर सकते हैं तो इसे भी हम इंटरनेट बोल सकते हैं ।

आज के ज़माने में इंटरनेट में अनगिनत कम्प्यूटर्स जुड़े हुए हैं जो 24*7 सर्विस में रहते हैं.। और इनकी अगर हम गिनती करना चाहे तो ये समझ लो की मुश्किल है .

क्या हमारे  कंप्यूटर के डाटा सुरक्षित है ?

अब यहाँ एक बात आती है की इंटरनेट में जब बहुत सारे कम्प्यूटर्स एक साथ जुड़े होते हैं,  और हम डाटा को भेजते हैं और रिसीव करते हैं तो क्या कोई हमारे कंप्यूटर के डाटा को खोल के देख सकता है ?

तो इसका जवाब है दोस्तों नहीं क्यों की जो हमारा पर्सनल कंप्यूटर होता है इसे काफी सिक्योरिटी और प्राइवेसी दी जाती हैं.

डाटा को सेफ और सुरक्षित रखने के लिए कोई अगर हमारे पर्सनल कंप्यूटर के डाटा को देखना या फिर लेना चाहता है तो हमारी मर्ज़ी के बिना वो डाटा नहीं ले सकता ।

किसी पर्सनल कंप्यूटर को एक्सेस करने के लिए एक अथॉरिटी चाहिए इसके बिना हम दूसरे के कंप्यूटर में कुछ नहीं कर सकते, आजकल बहुत सारे सॉफ्टवेयर उपलब्ध जिसका इस्तेमाल कर के आप रिमोटली दूसरे कंप्यूटर को कण्ट्रोल कर सकते हो और कोई भी वर्क कर सकते हो.

इससे आपको ये अंदाज़ा अच्छे से लग गया होगा की इंटरनेट क्या है?  ये एक नेटवर्क का जाल है जो पूरी दुनिया में फैला हुआ  है .

इससे बहुत सारे अनगिनत कंप्यूटर इससे जुड़े हुए हैं और हर वक़्त डाटा रिसीव और सेंड करते रहते हैं.

संख्या जानना. कम्प्यूटर्स को जब हम काम संख्या में एक साथ जोड़ते हैं तो भी ये एक नेटवर्क ही कहलाता और इसे हम इंटरनेटवर्क बोलते हैं जिसे शार्ट में इंटरनेट बोला जाता है.

होस्टिंग कैसे काम करता है?

जब हम कोई भी ब्राउज़र खोलते हैं , और एड्रेस बार में जा के किसी भी वेबसाइट का एड्रेस डालते हैं तो इंटरनेट वो वेबसाइट हमे खोल के दिखा देती है. अब आप सोचो की क्या आदमी बैठा हुआ होता है जो वेबसाइट की एड्रेस डालते ही वेबसाइट को सामने खोल देता है. आप कभी भी 24*7 वेबसाइट को खोलोगे तो ये हर वक़्त खुल जाएगा ऐसा कैसे होता है ?

ये हर वक़्त कैसे खुल जाता है? तो दोस्तों ऐसा कोई इंसान नहीं करता बल्कि कंप्यूटर करते हैं जो हर वक़्त चालु रहते हैं 24*7 , ये हमेशा चलते रहते हैं. इस तरह के कंप्यूटर को ही सर्वर बोलते हैं जो हमारे वेबसाइट के सारे पोस्ट,आर्टिकल , फोटोज को स्टोर या होस्ट कर के रखते हैं जिसे सर्वर के नाम से भी जानते हैं.

वेबसाइट बनाने के लिए होस्टिंग क्यों ज़रूरी है?

  • वेबसाइट के हर फाइल को स्टोर कर के रखने के लिए सर्वर ज़रूरी होता है . जिस तरह हम अपनी सारी चीज़ें रखने के लिए एक मकान बना लेते हैं और उसी के अंदर अपनी ज़रूरत का हर सामान रखते हैं और खुद भी रहते हैं.
  • जिस तरह हम अपने फोटोज , वीडियोस, डाटा इन सभी फाइल्स को आने फ़ोन में रखने के मोबाइल की इंटरनल मेमोरी या फिर मेमोरी कार्ड का इस्तेमाल करते हैं ठीक उसी तरह हमे अपने वेबसाइट के सारे पोस्ट , आर्टिकल्स, फोटो,और फाइल्स को इंटरनेट में स्टोर या होस्ट करने के लिए मेमोरी की ज़रूरत पड़ती है तो उस मेमोरी को हम होस्टिंग बोलते हैं जहाँ हम वेबसाइट के सारे फाइल्स को सेव कर के रखते हैं ।

क्या सर्वर कंप्यूटर हर 24*7 काम करते हैं ?

  • वेबसाइट को 24*7 ऑनलाइन होना ज़रूरी होता है ताकि दुनिया से कहीं से कोई भी वेबसाइट को जब चाहे तब खोल के पढ़ सके या देख सके । इसका मतलब ये है की सर्वर 24*7 चालू रहना बहुत ज़रूरी है. अगर हम अपनी कंप्यूटर से चाहे तो भी वेबसाइट को होस्ट कर सक्ते हैं लेकिन आप ही बताओ क्या आप 24*7*365 अपने कंप्यूटर को चालु रख सकते हो?
    आपका जवाब होगा “नहीं” इसीलिए हम इस को Monthly रेंट पर ही ले लेते है जो सबसे बेहतर है.
  • हमे  कंपनी से बहुत तरह की सुविधाएँ मिलती हैं वेबसाइट को ज़्यादा से ज़्यादा सुरखित रखने के लिए.
  • कभी कभी किसी भी कारण से अगर वेबसाइट से कुछ डाटा डिलीट हो गई इसे फिर वेबसाइट में कुछ error हो गया तो  साइट से हमे अपने डाटा को बैक-अप करने की भी सुविधा मिल जाती है.
  • जब कोई Beginner होता है Blogging में तो उसके लिए बेहतर यही है की वो कम पैसे में होस्टिंग ख़रीदे क्यों की उस वक़्त साइट में ट्रैफिक कम होती है और जब विस्तार बढ़ जाये तो प्लान को अपग्रेड करा ले.

तो अभी तक तो आप को समझ में आ गया होगा की  क्यों ज़रूरी है किसी भी वेबसाइट के लिए , तो चलिए अब आगे बात करते हैं की हमे सेवा किस कंपनी से खरीदनी चाहिए और इसे खरीदने से पहले किन बातों का ध्यान रखना है.

अपटाइम और डाउनटाइम क्या होता है?

सबसे ज़्यादा तो इस बात का ध्यान रखना होता है की वेबसाइट की जो कंपनी है उसका Uptime  और Downtime क्या है ? इसका मतलब यही है की हमारा वेबसाइट कितनी देर चालू रहती है और कितने देर के लिए बंद रहती है.

जितनी देर चालु रहती है उसे हम Uptime  बोलते हैं और जितनी देर बंद रहती है वो Downtime होता है.

आजकल ज़्यादातर कंपनियां 100 % अपटाइम देने की गारंटी देती हैं .

हमे सेवा खरीदने के वक़्त उनके द्वारा दी जाने वाली कस्टमर सर्विस के बारे में भी जान लेना चाहिए.

जितनी अच्छी कस्टमर सर्विस होगी उतनी ज़्यादा हमे आसानी होगी.

Hosting खरीदने के पहले क्या करना हैं इसके लिए कुछ टिप्स.

Web Space:

अपनी वेबसाइट के कंटेंट्स को स्टोर करने के लिए हमे स्टोरेज लेना पड़ता है .

कम से कम पैसे में अगर अनलिमिटेड प्लान मिले वो सबसे बेस्ट होता है .

तो आप स्पेस की कैपेसिटी और उसके लिए कितने पैसे लग रहे हैं इसे ज़रूर ध्यान में रखें की स्पेस अनलिमिटेड ही ले ।

Uptime:

जो कंपनी वेबसाइट का अपटाइम 100% देती हो उसी कंपनी का Selection करे.

क्यों अगर यूजर को वेबसाइट  डाउनटाइम की वजह से बंद मिले तो वो दुबारा वेबसाइट पे नहीं आएगा.

Downtime की वजह से वेबसाइट की छवि भी ख़राब हो जाएगी ।

Bandwidth:

कभी भी Plan की Bandwidth अनलिमिटेड लेनी चाहिए .

इससे क्या होगा की कितने भी Users एक साथ वेबसाइट को ओपन करे तो वेबसाइट की स्पीड काम नहीं होगी.

Plan की Bandwidth कभी भी लिमिटेड में नहीं लेना चाहिए ।

24*7 Customer Support:

ऐसी Company  चुने जिसके Customer Care 24*7  हर वक़्त अपने कस्टमर्स को सपोर्ट करती हो .

और जब तक प्रॉब्लम का solution न हो जाए तब तक सपोर्ट करे ऐसे ही कंपनी से सेवा ख़रीदे.

मैं आपको कुछ बेस्ट कंपनियों के बारे में बताऊंगा जो मुझे पर्सनली बहुत पसंद हैं.

सबसे अच्छी होस्टिंग कंपनियों की लिस्ट

अगर आप बिगिनर हैं तो आपके लिए शेयर्ड होस्टिंग सबसे अच्छी है क्यूंकि जब तक आप नए हैं आपको ज्यादा ट्रैफिक नहीं आती है और इस सूरत में कुछ कंपनियां आपको अच्छी सेवा देते हैं जिन में से कुछ की लिस्ट मैं आपको दे ने जा रहा हूँ. इस बात पर सबसे अधिक ध्यान दें क्योंकि जब आप नहीं होते हैं तो आप की ट्रैफिक बिल्कुल भी नहीं होती और धीरे-धीरे यह बढ़ती जाती है. लेकिन जब ट्रैफिक बढ़ने लगती है फिर आपको अपनी वेबसाइट को किसी अच्छी होस्टिंग में ले जाना पड़ता है जैसे कि क्लाउड सर्वर. इसलिए कभी भी किसी भी कंपनी की लंबे प्लान को ना खरीदें. इससे आपका पैसा तो खर्च आएगा ही फसे गा आप किस साइड में भी प्रॉब्लम होनी शुरू हो जाएगी. क्योंकि जब अधिक ट्रैफिक आती है तो शेयर्ड होस्टिंग उस ट्रैफिक को फिर झेल नहीं पाएगा. ऐसे में आपको मजबूरन क्लाउड सर्वर की तरफ रुख करना पड़ेगा.

नोट: शेयर्ड होस्टिंग का कभी भी लम्बा प्लान न खरीदें

आपको यहां पर मैं उन्ही कंपनियों के बारे में बताऊंगा जो काफी अच्छी सेवा देती हैं और बहुत समय से इस फील्ड में काम कर रही हैं. वैसे आजकल हर रोज आपको नई-नई कंपनियां दिखाई देंगी जो इस फील्ड में उतर चुकी हैं लेकिन उनकी परफॉर्मेंस चेक करने की वजह चोर हम उन्हीं कंपनियों पर काम करें जो पहले से विश्वसनीय है.

बेस्ट Shared होस्टिंग कंपनियां 

  1. Hostgator India
  2. BlueHost

बेस्ट क्लाउड कंपनियां 

पहले Cloud होस्टिंग सबसे कॉस्टली होस्टिंग होती थी. लेकिन अब क्लाउड होस्टिंग में भी सस्ते प्लान आ गए हैं. Digital Ocean और Vultr के नार्मल प्लान काफी किफायती हो चुके हैं. इससे बिगिनर को भी क्लाउड होस्टिंग इस्तेमाल करने में कोई शंका नहीं रहेगी और शुरू से ही अच्छी स्पीड की वेबसाइट के साथ काम कर सकते है. डिजिटल ओसियन और Vultr  के प्लान 1 महीने आप फ्री में इस्तेमाल कर के देख सकते हैं और इसकी क्षमता को भी चेक कर सकते हैं।  आपको समझ में आ जाएगी की आपकी वेबसाइट की स्पीड कितनी हैं.

Digital Ocean और Vultr से 1 महीने की होस्टिंग खरीदने के लिए आप यहाँ क्लिक कर के खरीद सकते हैं.

Digital Ocean

Vultr

Vultr Plan 50$

Vultr का सबसे सस्ता प्लान 2.5$ और 3.5$:

इनके अलावा भी आपको बहुत सारी कंपनियां मिल जाएंगी जहाँ से आप सेवा ले सकते हो. लेकिन ऊपर जो लिस्ट मैंने बताई हैं वो बेस्ट हैं आप बिना किसी शक के इनसे सेवा खरीद सकते हो. अब जानते हैं की कैसे हम वेबसाइट के लिए सर्वर खरीदते हैं. तो  इसके लिए हम अब Step by Step  देखेंगे की ये कैसे करना है.

 होस्टगेटर इंडिया से होस्टिंग कैसे ख़रीदे

  •  सबसे पहले तो आपको Hostgator की वेबसाइट खोल लेनी है अपने ब्राउज़र में  https://www.hostgator.in
  •  वहां जाकर आपको एक अकाउंट बनाना है जिससे आप लॉगिन कर सकोगे.

Hosting Wtechni

Registration Process
  • यहाँ पर आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म में अपने डिटेल्स डाल के रजिस्टर कर लेना है .
  • अब आपको ईमेल में जाकर Confirmation मेल से अकाउंट Activate कर लेना है.
  • Account Activate  हो जाने के बाद आपको Login करना है .
  • इसके Homepage में आपको Choose Plan का Option मिलेगा इसे क्लिक कर के आपको आगे बढ़ जाना है .

Hosting Wtechni

Plan सेलेक्ट करते वक़्त ध्यान देने वाली बातें 
  • अब आपको यहाँ पर अलग अलग Plan देखने को मिलेगा जिसमे आपको पैसे के हिसाब से Feature  मिलेंगे.
  • अगर आप सस्ता प्लान खरीदोगे तो आपको आपको Feature थोड़ा कम मिलेगा.
  • महंगा प्लान लोगे तो, उसमे बहुत सारे फीचर्स रहेंगे.
  • अगर आप एक नए Blogger हो तो Starter Plan ही लेना आपके बेहतर ऑप्शन है .
  • Plan जो भी खरीदो लेकिन उसमे Bandwidth और Space अनलिमिटेड होनी चाहिए.
  • कंपनी का Selection करते वक़्त , आपको कितने समय के लिए सेवा चाहिए वो भी निर्णय लेना होगा.
  • अगर एक साल के लिए लोगे तो सस्ता लगेगा और अगर एक Month के लिए लोगे तो महंगा होगा ।

Hosting Wtechni

  • यहाँ पर प्लान चुनने के बाद आप अगले स्टेप में आर्डर Summary में पहुँच जाओगे.
  • Order Summary  में आप अपने आर्डर को review कर सकते हैं .
  • अगर आपको कुछ बदलाव करने का इरादा हो तो  आप Change  कर सकते हैं.

Hosting Wtechni

 

Payment process
  • जब आप रिव्यु कर के पूरी तरह से संतुष्ट हो जाएँ तो फिर आप वहां पर कंटिन्यू पर क्लिक करें।.
  •  तो आप सीधे पेमेंट के ऑप्शन में पहुँच जाओगे.

 

Hosting Wtechni

  • अब आपको जो Method अच्छा लगे उससे Payment  कर सकते हो और  प्लान फिर आपका हो जाएगा .
  • इस तरह से आप आसानी से Plan खरीद सकते हो .

संक्षेप में

दोस्तों अब आप समझ गए होंगे की होस्टिंग कैसे ख़रीदे और भारत में हिंदी ब्लॉग  के लिए सबसे अच्छी होस्टिंग कंपनियां कौन सी हैं इसकी लिस्ट भी दी है. ब्लॉगरका ये सर दर्द बना रहता है की कौन सी होस्टिंग ख़रीदे और कहाँ से ख़रीदे जिससे की वो ब्लॉग्गिंग में सफल हो सके. यही वजह है की हमने इस पोस्ट के माध्यम से आपके लिए सबसे अच्छी कंपनियों की लिस्ट तैयार की है. इसके अलावा अगर आप कोई कंपनी चुनते हैं तो फिर आपको आगे परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. इस आर्टिकल में हमने और ये भी जाना की होस्टगेटर इंडिया से होस्टिंग कैसे ख़रीदे इस प्रोसेस भी स्टेप बाई स्टेप स्क्रीनशॉट के साथ बताया है.

आपको जो बात हमेशा ध्यान रखनी है वो ये है की कभी भी आप शेयर्ड का लॉन्ग टर्म प्लान न ख़रीदे क्यूंकि अगर आप ब्लॉग्गिंग में करियर बनाना चाहते हैं तो आप जरूर ट्रैफिक लाएंगे और ऐसे में शेयर्ड अधिक ट्रैफिक झेलने में सफल नहीं होगा अगर आप ज्यादा कीमत की प्लान लेंगे तो आपको अधिक पैसे खर्च करेंगे और साथ में आपको क्लाउड  सर्वर की तरह स्पीड भी नहीं मिल सकेगी. क्लाउड सर्वर इसकी तुलना में काफी सस्ता स्पीड राकेट जैसी जैसी होती है. अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को अपने साथी ब्लॉगर के साथ भी शेयर करें. मैं हमेशा आपकी मदद करने की कोशिश करूँगा.

7 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here