HAL Full Form – एचएएल का फुल फॉर्म क्या है?

बहुत सारे लोगों को हवाई जहाज उड़ाने की ख्वाहिश होती है और इसी वजह से वह पायलट का कोर्स करते हैं लेकिन जो पायलट के साथ-साथ देश की सेवा करना चाहते हैं वह. वायु सेना में भर्ती होते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि एचएएल का फुल फॉर्म क्या है (HAL Full Form).

भारत की रक्षा विभाग में एक ऐसा क्षेत्र होता है जो वायु सेना के लिए विभिन्न प्रकार के उपकरण को तैयार करता है. हर देश में रक्षा विभाग होता है जो उड़ने वाले जानो और सेना के लिए सुविधाजनक हवाई यात्रा करने की तकनीक ईजाद करते हैं

रक्षा से जुड़े इसी विभाग के बारे में हम आपको बताएंगे और आप समझ सकेंगे कि एचएएल का फुल फॉर्म क्या होता है (What is the full form HAL in Hindi) इसका अर्थ क्या है.

एचएएल का पूरा नाम क्या है – What is the full form HAL in Hindi?

HAL Full Form
HAL ka full form kya hai

HAL का फुल फॉर्म Hindustan Aeronautics Limited हैं.

इसे हम हिंदी में हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड बोल सकते हैं. भारत के रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत आने वाला एयरोस्पेस रक्षा कंपनी है इसका हेड क्वार्टर भारत के बेंगलुरु में स्थित है.

यह हवाई जहाज से जुड़े हुए सभी संचालन ओं के लिए जिम्मेदार होती है और जिसमें हेलीकॉप्टर जेट इंजन हवाई जहाज इत्यादि के डिजाइन उनके कंस्ट्रक्शन और उनके मैनेजमेंट भी शामिल है

इसकी स्थापना 23 दिसंबर 1940 ईस्वी को की गई थी.

स्पेस इंडस्ट्री में एक बहुत बड़ा कद हासिल करना इसका विज़न है.

स्पेस इक्विपमेंट के डिजाइन डेवलपमेंट उनकी मैन्युफैक्चरिंग मेंटेनेंस और विकास में आत्मनिर्भरता हासिल करना और सबसे बड़े कंप्यूटर को इसमें पढ़ना है इस कंपनी का टारगेट है

हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लिमिटेड का नेटवर्क पूरे इंडिया में फैला हुआ है जिसमें कानपुर कोरापुट कोरवा और नासिक भी शामिल है इसके अलावा लखनऊ बेंगलुरु और हैदराबाद में भी इसके कार्यालय हैं.

HAL full form in computer

Hardware Abstraction Layer

HAL full form in kannada

ಹಿಂದೂಸ್ತಾನ್ ಏರೋನಾಟಿಕ್ಸ್ ಲಿಮಿಟೆಡ್

HAL full form in Tamil

இந்துஸ்தான் ஏரோநாட்டிக்ஸ் லிமிடெட்

चलिए अब जान लेते हैं इसके नीतियां क्या क्या है.

  • इनोवेशन क्रिएटिविटी
  • ग्राहक संतुष्टि
  • टीमस्पिरिट और विश्वास
  • ईमानदारी
  • हर इंसान की आदर करना
  • लागत और समय के प्रति सचेत रहना
  • क्वालिटी के साथ कोई समझौता नहीं करना

HAL का इतिहास

हिंदुस्तान एयर क्राफ्ट लिमिटेड का गठन 23 दिसंबर 1940 ईस्वी को किया गया था और इसका मुख्यालय बेंगलुरु में स्थापित किया गया इस को स्थापित करने के पीछे जो सबसे अहम भूमिका थी वह वालचंद हीरा चंद ने निभाई थी.

इसका कार्यालय Domlur रोड में था और उसका नाम था Eventide.

दूसरे विश्व युद्ध के दौरान 1941 में भारत सरकार ने हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड का एक तिहाई हिस्सा खरीद लिया

HAL का इतिहास

1945 ईस्वी में इस कंपनी को भारतीय सरकार के इंडस्ट्री और सप्लाई मंत्रालय के अधीन कर दिया गया

1951 ईस्वी में रक्षा मंत्रालय को सौंप दिया गया और फिर वही उसका नियंत्रण करने लगा

HT-2 Trainer aircraft पहली बार 1951 ईस्वी में डिजाइन किया गया और इसका उड़ाकर परीक्षण भी किया गया

इस दरमियान अगस्त 1963 में, मिग -21 विमान का निर्माण शुरू करने के लिए एयरोनॉटिक्स इंडिया लिमिटेड (AIL) की स्थापना की गई, जो पूरी तरह से सरकार के अंतर्गत वाली कंपनी बनाई गयी.

अक्टूबर 1964 में, हिंदुस्तान एयरक्राफ्ट लिमिटेड को एयरोनॉटिक्स इंडिया लिमिटेड के साथ मिला दिया गया और इस तरह हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड भारत में आया.

1970 में, बैंगलोर में ‘चेतक’ और ‘चीता’ हेलीकॉप्टरों के निर्माण के लिए एचएएल का एक अलग डिपार्टमेंट बनाया गया.

1971 में, IFF, UHF, HF, रेडियो घटकों, Radio Altimeter इत्यादि के मैन्युफैक्चरिंग और विकास के लिए हैदराबाद में एवियोनिक्स डिज़ाइन ब्यूरो की स्थापना की गई थी.

मार्च 2014 में, लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट के निर्माण के लिए एक अलग एलसीए (लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट) तेजस डिवीजन बैंगलोर में स्थापित किया गया.

निष्कर्ष

हर देश का विकास उसके हर पहलु पर निर्भर करती है उसी में रक्षा विभाग का काफी महत्व होता है. यही वजह है की आज के ,पोस्ट में हमने आपको बताया की एचएएल का फुल फॉर्म क्या है

इस विभाग की अहमियत काफी ज्यादा है और इससे के शक्ति का प्रदर्शन भी होता है इसीलिए हमने आपको आज के पोस्ट में एचएएल का पूरा नाम भी बताया है. हम उम्मीद करते हैं की ये ये आर्टिकल अच्छी लगी होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here