XML Full Form – XML का पूरा नाम क्या है?

अगर आप एक वेब डिजाइनर है तो आपको जरूर मालूम होना चाहिए कि XML का फुल फॉर्म क्या है (XML Full Form)?

वेब डिजाइनिंग के लिए इस्तेमाल होने वाले लैंग्वेज में से एक लैंग्वेज यह भी है इसलिए हम यहां पर आपको बताएंगे कि इस शब्द का हिंदी में पूरा नाम क्या होता है और इसका अर्थ क्या है.

एक वेबसाइट के रीडर को इसके बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं होती है कि वह जिस वेबसाइट का इस्तेमाल कर रहा है उसके पीछे कितना मेहनत की गई है.

लेकिन उन्हें अपने अनुभव को बेहतर चाहिए होता है और इसीलिए गूगल भी वेब डिजाइनर्स को ऐसी तकनीक का उपयोग करने के लिए आग्रह करता है जो उसके पाठकों को अच्छा अनुभव दे सके.

तो चलिए जानते हैं कि इस शब्द का फुल फॉर्म क्या होता है.

XML का फुल फॉर्म क्या है – What is the full form of XML in Hindi?

XML का फुल फॉर्म “Extensible Markup language” होता है.

इसे हिंदी में “एक्सटेंसिबल मार्कअप  लैंग्वेज” कहते हैं.

इसको HTML की लिमिटेशन को पूरा करने के लिए उपयोग किया जाता है. 

यह एक वेब डिजाइनिंग भाषा होने के साथ-साथ एक टेक्स्ट फाइल भी होता है.

XML एवं HTML के संयुक्त संस्करण (combined version ) को X-HTML कहते हैं.

यह इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में भी अहम भूमिका निभाता है.

HTML पैसों के अंदर डाटा को स्टोर किया जाता है. उसमें टैग्स की संख्या 100 से भी अधिक होती है.

ऐसे में इन सभी tags को याद रखना एवं उनका इस्तेमाल करना बहुत ही मुश्किल होता है. इसलिए इस लैंग्वेज को विकसित किया गया था ताकि समस्याओं से छुटकारा आसानी से पाया जा सके.

हम बहुत छोटे साइज में इसके डाटा को स्टोर और एक्सेस कर सकते हैं.

लेकिन ऐसा करना HTML में संभव नहीं है. डॉक्यूमेंट के इनकोडिंग को यह ऐसे फॉर्मेट में डिफाइंड करती है जिसे आसानी से समझा जा सकता है.

 URL का फुल फॉर्म क्या है?

इंटरनेट को ज्यादा सरल, उपयोगी और व्यापक बनाने में इस ने अहम भूमिका निभाई है.

यह डाटा फॉर्मेट के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है जिसके द्वारा अलग-अलग नेटवर्क, एप्लीकेशन और आर्गेनाईजेशन के बीच बड़ी आसानी से डाटा ट्रांसपोर्ट किया जा सकता है. 

इस के डॉक्यूमेंट सेट अप करने में बहुत ज्यादा कठिन और खर्चीला होता है. इसका कोई भी एप्लीकेशन प्रोसेसिंग सिस्टम नहीं होता है.

इसके लिए यह एचटीएमएल पर निर्भर करता है. यह नेम्स स्पेस का उपयोग करने के लिए समस्यात्मक है.

यह किसी भी तरह के डाटा टाइप्स को सपोर्ट नहीं करता है जैसे: – integer, strings आदि.

निष्कर्ष

इंटरनेट पर उपलब्ध वेबसाइट को और यूजर फ्रेंडली बनाने के लिए गूगल की तरफ से कई क्राइटेरिया निकाली जाती है.

जिनमें मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट का निर्माण भी शामिल है.

इसीलिए आज के समय में अधिकतर वेब डेवलपर ऐसी वेबसाइट को बनाते हैं जो रिस्पांस होते हैं और मोबाइल में भी आसानी से लोगों द्वारा उपयोग किए जा सकते हैं इसी के लिए एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का उपयोग वेब डिजाइनिंग के लिए किया जाता है.

जिसके बारे में हमने यहां पर चर्चा की XML का फुल फॉर्म क्या है (What is the full form of XML in Hindi)?

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों के साथ भी जरूर शेयर करें

Leave a Comment