UPSC Full Form – UPSC का पूरा नाम क्या है?

अगर आप ने आईएएस आईपीएस पदों के बारे में सुना है तो ये भी जरूर पता होना चाहिए की UPSC का फुल फॉर्म क्या है (UPSC Full Form).

हमारे देश में प्रतिभा की कमी नहीं है.

देश के हर कोने से छात्र हर साल अनेक परीक्षाओं को पास करते हैं जो बहुत कठिन माने जाते हैं.

यहाँ तक सबसे कठिन परीक्षाओं को भी मेहनत कर के पास करते हैं जिनमे IIT, CAT, GATE, NEET भी शामिल है.

इन परीक्षाओं को पास करने पर या तो उच्च शिक्षा के लिए कॉलेजों में एडमिशन मिल जाता है या फिर भारत सर्कार के अंतर्गत उच्च पदों में नौकरी प्राप्त हो जाती है.

लेकिन एक बात की गाँठ बाँध लीजिए की अगर इनमे पास करना है तो आपको प्लानिंग के साथ मन लगाकर पढाई करनी पड़ेगी.

आपको अच्छे टाइम टेबल को बनाकर स्मार्ट तरीके से पढ़ना होगा.

इस लेख के माध्यम से आप जान सकेंगे की UPSC का पूरा नाम क्या है और इसका क्या अर्थ है.

UPSC का फुल फॉर्म क्या है – What is the full form of UPSC in Hindi?

UPSC का फुल फॉर्म “Union Public Service Commission” होता है.

इसे हिंदी में “यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन” कहते हैं. इसका अर्थ संघ लोक सेवा आयोग होता है.

यह भारत की केंद्र और राज्य सरकार के तहत 24 सेवाओं में भर्ती कराने वाली एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा होती है.

यह अखिल भारतीय सेवाओं, केंद्रीय सेवाओं और सनवर्गों के साथ-साथ भारतीय संघ के सशस्त्र बलों के लिए चलाई जाने वाली भर्ती की प्रक्रिया को आयोजित करता है.

यह भारत  की बहुत ही कठिन परीक्षा होती है. इसकी स्थापना 1 अक्टूबर 1926 को हुई थी.

इसका ऑफिसियल वेबसाइट http://www.upsc.gov.in/ है एवं इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है.

देश में हर साल सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है.

यूपीएससी के चयनित उम्मीदवार भारतीय प्रशासनिक सेवा(IAS), भारतीय पुलिस सेवा(IPS), भारतीय विदेश सेवा(IFS), एवं भारतीय राजस्व सेवा(IRS) इत्यादि पदों पर भर्ती किए जाते हैं.

इसमें level A और level B कर्मचारियों की विभिन्न क्षेत्रों में भर्ती के लिए एक स्वतंत्र संगठन है.

स्टूडेंट के लिए बेहद लोकप्रिय परीक्षा होती है. क्योंकि इसमें अच्छे वेतन के साथ-साथ बहुत ही सम्मानजनक पद होता है. यह परीक्षा तीन चरण के होते हैं:

Prelims

Mains और

Personal Test.

UPSC Prelims Exam Pattern:

प्रीलिम्स परीक्षा पर प्रकृति में एक क्वालीफाइंग चरण होती है. इसमें प्राप्त अंकों को अंतिम मेरिट सूची में  नहीं गिना जाता है जाता है.

इसके दोनों पेपर वस्तुनिष्ठ प्रकार के होते हैं. सामान्य अध्ययन (CSAT) का पेपर प्रकृति में क्वालीफाइंग होता है एवं दूसरे पेपर को 33% अंकों के साथ उत्तीर्ण  किया जाता है.

साथ ही इसमें नेगेटिव मार्किंग भी होती है.

प्रत्येक गलत उत्तर पर 1/3 अंक प्राप्त अंको से कम कर लिए जाते हैं.

UPSC Mains Exam Pattern

जो उम्मीदवार प्रीलिम्स की परीक्षा को अच्छे अंको से उत्तीर्ण करते हैं वही मेंस परीक्षा में उपस्थित हो सकते हैं. मेंस की परीक्षा 9 पेपर पेपर के होते हैं.

इसके सभी पेपर वर्णनात्मक प्रकार ( descriptive types) के होते हैं. 2 भाषा के पेपर प्रकृति में क्वालीफाइंग होते हैं.

इसकी मेंस परीक्षा 5-7 दिनों की अवधि में आयोजित कर दी जाती है.

पेपर A एवं पेपर B क्वालीफाइंग प्रकृति के होते हैं.

मेंस की परीक्षा में उम्मीदवारों को अपने पेपर 1 से पेपर 7 तक कम से कम 25% अंक प्राप्त करना पड़ता है.

Interview

इस परीक्षा का अंतिम चरण साक्षात्कार है. मेरिट लिस्ट व्यक्तित्व परीक्षण/ साक्षात्कार और मेंस परीक्षा के आधार पर तैयार की जाती है.

साक्षात्कार चरण के लिए अधिकतम अंक 275 है एवं मेरिट सूची के लिए कुल अंक 2025 है.

साक्षात्कार करता छात्रों में  कुछ गुण खोजते हैं.

जैसे: –

  • Mental alertness,
  • Critical power of assimilation,
  • A balance of judgement,
  • Clear logical exposition,
  • Depth of interest,
  • Leadership,
  • Intellectual,
  • Moral Integrity.

निष्कर्ष

अगर आप एक आईएएस अफसर बनना चाहते हैं तो आपको अच्छे ढंग से मन लगाकर पढ़ना होगा.

इसके लिए आपको टाइम टेबल बनाकर पढाई करना होगा.

उम्मीद करते हैं की आपको ये पोस्ट UPSC का फुल फॉर्म क्या है (What is the full form of UPSC in Hindi)? अच्छी लगी होगी.

अगर इससे आपको सिखने को मिले हो तो पोस्ट को जरूर शेयर करें .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here