TAN Full Form – TAN का पूरा नाम क्या है?

भारत में रहने वाला हर नागरिक जिसकी कमाई टैक्स के अनुसार होती है. यानि कमाई की एक सीमा तक जब एक नागरिक पहुँच जाता है तो उसे टैक्स देना पड़ता है. काम कमाई करने वाले नागरिको से टैक्स नहीं लिया जाता है.

इसके लिए एक अकाउंट नंबर बनता है जो टैक्स भरने के काम आता है इसीलिए आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे की TAN का फुल फॉर्म क्या है (TAN Full Form)?

आप ये भी जानेंगे की इस अकाउंट नंबर का क्या फॉर्मेट होता है. तो चलिए अब जान लेते हैं की इस शब्द का हिंदी में पूरा नाम क्या है और इसका क्या अर्थ है?

TAN का फुल फॉर्म क्या है – What is the full form TAN in Hindi?

TAN का फुल फॉर्म Tax Deduction and Collection Account Number है.

इसे हिंदी में टैक्स डिडक्शन एंड कलेक्शन अकाउंट नंबर भी बोलते हैं जिसका अर्थ है कर कटौती और संग्रह खाता संख्या.

यह भारत के आयकर विभाग द्वारा उन लोगों और कंपनियो के लिए शुरू किया गया जिन्हें आयकर अधिनियम, 1961 के तहत उनके द्वारा किए गए भुगतानों पर कर में कटौती या भुगतान करना जरुरी है.

आयकर विभाग की धारा 203 A के तहत यह प्रदान करना अनिवार्य है. सभी TDS रिटर्न और चालान का भुगतान करते वक़्त में TAN नंबर देना अनिवार्य है.

TAN खाता संख्या है जिसका उपयोग कर का भुगतान करने के लिए किया जाता है.

बिना TAN आप कर का भुगतान नहीं कर सकते.

कर राशि प्राप्त करने पर आयकर विभाग राशि की पुष्टि करता है और यदि करदाता ने गलती से अतिरिक्त कर जमा किया है तो अतिरिक्त कर वापस उसके खाते में जमा कर दिया जाएगा.

TAN का फॉर्मेट

यह दस अंकों का अल्फ़ान्यूमेरिक नंबर है. इसके पहले तीन अक्षर एक शहर का प्रतिनिधित्व करते हैं, चौथा अक्षर करदाता का प्रारंभिक और अगले पांच नंबर का होता है और आखिरी अक्षर टैक्स नंबर को विशिष्ट बनाता है.

टैन के लिए आवेदन करने के लिए करदाता को फॉर्म नं 49B भरना होगा.

फिर उसे सभी आवश्यक दस्तावेजों जैसेआइडेंटिफिकेशन प्रूफ जैसे आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और पते के प्रमाण को अटैच कर के एनएसडीएल या कर सूचना नेटवर्क सुविधा केंद्र की वेबसाइट पर जमा करना होता है.

एनएसडीएल विभाग जब भी एक नए अकाउंट नंबर के लिए इसका आवेदन पत्र प्राप्त करता है तो फिर इसके डिटेल्स को वेरीफाई करता है.

जिसके बाद इन डिटेल्स को आयकर विभाग को भेजता है.

इसके बाद नया अकाउंट बनकर तैयार हो जाता है.

निष्कर्ष

दुनिया के हर देश में उनका अपना टैक्स का सिस्टम होता है ठीक उसी प्रकार भारत में भी योग्य नागरिकों से टैक्स वसूला जाता है.

देश के सभी प्रकार के विभागों पर कार्यरत लोगों को सैलरी देने के लिए एवं शिक्षा सुरक्षा तथा दूसरे विभागों में पैसे खर्च करने के लिए इसी टैक्स जमा हुए पैसों का इस्तेमाल किया जाता है.

इसीलिए आज की इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि TAN का फुल फॉर्म क्या है (What is the full form TAN in Hindi)?

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here