SERP Full Form – SERP का पूरा नाम क्या है?

क्या आप एक ब्लॉगर हैं तो आपको जरूर मालूम होगा कि SERP का फुल फॉर्म क्या होता है (SERP Full Form) और इसका हिंदी अर्थ क्या है.

हर ब्लॉगर का जो सबसे बड़ा लक्ष्य होता है वह गूगल के पहले पेज में पहला पोजीशन प्राप्त करना होता है. जब आपका पोस्ट पहले पेज पर होता है तो आपके ब्लॉग में अधिक से अधिक लोग इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए जाते हैं.

इस प्रकार आप की ट्रैफिक काफी अच्छी बड़ी हुई होती है वहीं अगर आप पहले पेज में नीचे स्थान पर रहते हैं या फिर दूसरे तीसरे पेज पर चले आते हैं तो आपके आर्टिकल की ट्रैफिक बिल्कुल जीरो होती है.

तो अगर आप एक ऐसे इंसान हैं जो अभी सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन की तकनीक सीख रहे हैं तो इस पोस्ट में आपको यह समझ में आ जाएगा कि इस शब्द का हिंदी में पूरा नाम क्या होता है तो चलिए जानते हैं इसके बारे में.

SERP का फुल फॉर्म क्या है – What is the full form of SERP in Hindi?

SERP का फुल फॉर्म Search Engine Results Pages है.

इसे हिंदी में सर्च इंजन रिजल्ट पेजेज भी बोलते हैं जिसका अर्थ होता है सर्च इंजन के पैन में आने वाला परिणाम.

जब विजिटर को किसी जानकारी की जरूरत पड़ती है तो वह गूगल का होम पेज खुलता है और वहां पर अपनी जानकारी को सर्च करने के लिए कुछ कीवर्ड को टाइप करके उसे सर्च करता है.

तो उस से जुड़े हुए जितने भी इंटरनेट में वेबपेज होते हैं वह आ जाते हैं अब जो भी सबसे बेहतरीन होते हैं वही टॉप टेन में होते हैं.

इस प्रकार विजिटर अपनी मर्जी से पहले पेज के 10 रिजल्ट में से किसी एक रिजल्ट में जाता है. जो निश्चित रूप से पहले जगह पर होता है लोग पहले उसी में प्रवेश करते हैं.

अगर वह उसके जवाब से संतुष्ट नहीं होता है तो वह उसके नीचे वाले हैं यानी कि दूसरे आर्टिकल को पढता है. इसी प्रकार से तीसरे चौथे जब तक वह पूरी तरह से संतुष्ट नहीं हो जाता वेबपेजेस को पढ़ते रहते हैं.

अब यहां पर सबसे गौर करने वाली बात यह है कि अगर आप सर्च इंजन रिजल्ट पेज के पहले पेज में पहला स्थान प्राप्त करते हैं तो सबसे अधिक ट्रैफिक आने का प्रतिशत आपके पास ही होता है जैसे जैसे आप होते हैं आपकी ट्रैफिक भी कम होती है.

इस प्रकार पहले पोजीशन प्राप्त करने के लिए आपकी सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन का ज्ञान का होना बहुत जरूरी है और इसके बगैर आप पहला स्थान प्राप्त नहीं कर सकते हैं.

पहला पोजीशन कैसे प्राप्त करें यानी कि आपने लिखे हुए आर्टिकल को किसी भी सर्च इंजन जैसे गूगल में कैसे रैंक कराएं इसके लिए हमने भी बहुत ही अच्छी आर्टिकल तैयार की है तो उसे एक बार जरूर पढ़े.

और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के अंतर्गत ऑन पेज एसईओ और ऑफ पेज एसईओ क्या है इसकी भी जानकारी आप यहां से ले सकते हैं.

अगर आप इन सभी में निपुण हो जाते हैं तो आप किसी भी लिखे हुए आर्टिकल को आसानी से रैंक करा पाते हैं और इस प्रकार अपने ब्लॉग पर अधिक से अधिक ट्रैफिक ला सकते हैं.

सर्च इंजन कोई सा भी हो यह तकनीक सभी के लिए महत्वपूर्ण है और इसका सही तरह से उपयोग करके आर्टिकल को लिखना काफी जरूरी है.

हर ब्लॉगर अच्छा कंटेंट राइटर होने के साथ-साथ एसडीओ विशेषज्ञ भी होता है और तभी वह अपने ब्लॉग में अधिक से अधिक ट्रैफिक लाने में सफल होता है.

निष्कर्ष

एक ब्लॉगर होने के नाते जब तक आप का एकमात्र यह लक्ष्य नहीं होता कि आपको सर्च इंजन के पहले पेज पर आना है तब तक आप अपने ब्लॉग को सफल नहीं बना सकते हैं.

क्योंकि ब्लॉग तभी सफल कहा जाता है जब इस पर अधिक से अधिक लोग आते हैं. किसी भी ब्लॉग में ट्रैफिक बढ़ाने के लिए सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन की तकनीक का आना जरूरी है.

अगर आपको नहीं मालूम कि SEO क्या है और यह कैसे किया जाता है तो इसके लिए हमने एक अलग से आर्टिकल लिख रखा है तो उसको जरूर पढ़ें.

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको बताया कि SERP का फुल फॉर्म क्या है (What is the full form of SERP in Hindi) और उसका हिंदी अर्थ क्या है.

अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे.

Leave a Comment