MBBS Full Form – एमबीबीएस का पूरा नाम क्या है?

आज भारत के छात्रों में डॉक्टर बनने की उम्र काफी ज्यादा देखी जाती है और वह पढ़ाई करके एक अच्छे डॉक्टर के रूप में स्थापित होने का सपना देखते हैं लेकिन क्या आपको यह मालूम है कि एमबीबीएस का फुल फॉर्म क्या है (MBBS Full Form) और उसका हिंदी में पूरा नाम क्या होता है

अगर आपको नहीं मालूम कि इस शब्द का हिंदी में पूरा नाम क्या होता है तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पड़े क्योंकि इसमें हम आपको इससे जुड़ी हर प्रकार की जानकारी देने जा रहे हैं.

अगर आपके परिवार वाले भी आपको एक डॉक्टर के रूप में देखना चाहते हैं तो आपको इस शब्द की जानकारी जरूर होनी चाहिए क्योंकि यह एक मेडिकल से जुड़ा एक बहुत ही लोकप्रिय कोर से तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से

MBBS का फुल फॉर्म क्या है – What is the full form of MBBS in Hindi?

MBBS का फुल फॉर्म Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery है.

इसका हिंदी में पूरा नाम बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी होता है.

जिसका हिंदी अर्थ होता है चिकित्सा स्नातक और शल्य चिकित्सा स्नातक. यह डिग्री मेडिकल की फील्ड में एक बैचलर डिग्री के कोर्स के रूप में प्राप्त होती है जब कोई उम्मीदवार इसकी पढ़ाई करते हुए से सफलतापूर्वक पूरा कर लेता है तो उसके नाम के आगे डॉक्टर शब्द का प्रयोग किया जा सकता है

जब छात्र इस कोर्स को करना चाहता है उसे 5:30 और इस कोर्स को करने के बाद जो पद प्राप्त होता है यानी कि एक इंसान डॉक्टर के रूप में पहचाना जाता है जिसकी समाज में काफी इज्जत होती है.

जिन्हें भी यह कोर्स करना होता है उन्हें 12वीं में साइंस लेकर पढ़ना पड़ता है और जिसके अंतर फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी के विषय रखने होते हैं.

पढ़ने वाले छात्रों के बीच में सबसे पॉपुलर कोर्स में से इंजीनियरिंग और डॉक्टरी की ही कोर्स होती हैं.

डॉक्टर कैसे बने और डॉक्टर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए इसके लिए हमारा आर्टिकल जरूर पढ़ें.

एमबीबीएस करने के लिए योग्यता

इस कोर्स को करने वाले छात्रों को 12वीं हिस्ट्री और बायोलॉजी रखना अनिवार्य होता है इसके अलावा उन्हें 50% अंकों के साथ पास होना भी जरूरी है..

छात्र की आयु 17 से 25 वर्ष के बीच में होना अनिवार्य है.

जो छात्र sc-st से बिलॉन्ग करते हैं उन्हें 5 वर्ष की छूट भी दी जाती है

मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए छात्रों नीट का एग्जाम पास करना जरूरी होता है जब वह इस परीक्षा में बात करके अच्छे अंक को हासिल कर लेते हैं.

तो फिर उन्हें बेहतरीन मेडिकल कॉलेज प्रदान की जाती है जहां पर वह पढ़ाई करके अपनी डॉक्टर की उपाधि प्राप्त करते हैं.

एमबीबीएस की फीस कितनी होती है अगर भारत की बात करें तो इस कोर्स को करने के दो विकल्प होते होते हैं जो कि सरकारी और गैर सरकारी हैं कॉलेज की बात करें तो इनमें प्राइवेट की तुलना में फीस कम ही होती है.

जहां एक और हम बात करें तो एम्स जैसे मेडिकल कॉलेज में 1 साल की फीस ₹1390 के आसपास होती हैं वही किसी अन्य प्राइवेट कॉलेज की बात करें तो उनकी 1 साल की फीस 4 से 500000 भी हो सकते हैं.

एमबीबीएस करने के बाद क्या करें

इस कोर्स को पूरा करने के बाद आपके पास करियर ग्रुप में बहुत सारे विकल्प होते हैं जिन्हें आप चुन सकते हैं और अपने प्रैक्टिस को जारी रख सकते हैं या फिर अच्छा करियर बना सकते हैं जिनमें सबसे प्रमुख निम्नलिखित हैं

  • निजी अस्पताल
  • सरकारी हॉस्पिटल
  • लेबोरेटरी या प्रयोगशाला
  • बायो टेक्नोलॉजी
  • फार्मास्यूटिकल कंपनी
  • प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र
  • मेडिकल कॉलेज
  • बायोमेडिकल कंपनियां

निष्कर्ष

पढ़ लिख कर अच्छी पद पर काम करने की ख्वाहिश सभी की होती है वहीं कुछ ऐसे बच्चे भी होते हैं जो पढ़ाई करने के दौरान ही यह निर्णय ले लेते हैं कि वह बड़े होकर डॉक्टर बनना पसंद करेंगे

मेडिकल के क्षेत्र में भी बहुत सारे कोर्स है कुछ बारे में हमने यहां पर बताया और यह जाना कि MBBS का फुल फॉर्म क्या है (What is the full form of MBBS in Hindi)? और इसका हिंदी में पूरा नाम क्या है.

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here