JAVA Full Form – जावा का पूरा नाम क्या है?

रोज़ाना हम अनगिनत सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं और हमे मालूम भी नहीं होता की इस सॉफ्टवेयर को किस प्रकार बनाया गया है. आपने Java का नाम कभी न कभी तो जरूर सुना ही होगा लेकिन क्या आपको ये मालूम है की जावा का फुल फॉर्म क्या है (JAVA Full Form)? अगर आप नहीं जानते की इस शब्द का हिंदी में पूरा नाम क्या होता है और इसका क्या अर्थ है तो इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

JAVA के बिना बहुत सारे एप्लीकेशन और ऑनलाइन वेबसाइट या दूसरे प्लेटफार्म के बहुत सारे फंक्शन संभव ही नहीं है. इसीलिए इस आर्टिकल के माध्यम से हमने ये बताया की आखिर जावा का फुल फॉर्म क्या है (What is the full form of JAVA in hindi)?

जावा का फुल फॉर्म क्या है – What is the full form of JAVA in hindi?

वास्तव में देखा जाए तो JAVA शब्द का कोई फुल फॉर्म नहीं होता लेकिन फिर भी कई लोगों ये समझते है की JAVA का फुल फॉर्म JUST ANOTHER VIRTUAL ACCELERATOR है.

JAVA एक हाई लेवल कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज होता है जिसे केवल कंप्यूटर ही समझ सकता है. वेब एप्लीकेशन प्रोग्राम एवं सॉफ्टवेयर को रन कराने के लिए जावा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का उपयोग किया जाता है.

यह एक प्रकार का सामान्य पर्पस हाई लेवल कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज होने के साथ-साथ एक कंप्यूटिंग प्लेटफार्म भी होता है. इसके द्वारा एप्लीकेशन डेवलपर को एक ऐसा प्लेटफार्म प्रदान किया जाता है जिसके माध्यम से कोड को केवल एक बार लिखा जाता है एवं उसे कहीं पर भी रन कराया जा सकता है.

Write once, Run anywhere बिना Recompile किए ही कंपाइल्ड जावा कोड को सभी प्लेटफार्म पर जो जावा को सपोर्ट करते हैं रन करा सकते हैं.

कभी-कभी कंप्यूटर पर कुछ वेब एप्लीकेशन, प्रोग्राम एवं सॉफ्टवेयर को रन कराने पर एक मैसेज आता है. जिस पर लिखा होता है जावा इज नॉट इंस्टॉल्ड.

इसका मतलब यह होता है कि कंप्यूटर पर बहुत सारे एप्लीकेशनस एवं वेबसाइट्स होती है जो जावा पर बनी होती है. लेकिन यह सभी जावा को इंस्टॉल किए बिना नहीं चल सकती है.

“JAMES GOSLING” द्वारा ओक(oak) नाम के प्रोजेक्ट के रूप में इसकी शुरुआत जून 1991 में की गई थी. 1995 में इसका पहला पब्लिक इंप्लीमेंटेशन जावा 1.0 था.

इसे तुरंत ही “Aplet” कंफीग्रेशन के रूप में अपने स्टैंडर्ड कंफीग्रेशन में कुछ मेजर वेब ब्राउज़र द्वारा शामिल कर लिया गया. सन माइक्रोसिस्टम्स (Sun microsystem) नामक कंपनी द्वारा 1995 में इसका विकास किया गया.
यह कंप्यूटर, लैपटॉप से लेकर डाटा सेंटर्स में, साइंटिफिक सुपर कंप्यूटर, गेम कंसोल्स में एवं साथ ही साथ सेल फोन से लेकर इंटरनेट तक प्रत्येक जगहों पर मौजूद होता है.

JAVA का अतीत:-

James gosling अपने सहयोगी कंप्यूटर साइंटिस्ट दोस्तों के साथ मिलकर Java की शुरुआत की थी.
सन माइक्रोसिस्टम द्वारा इस प्रोजेक्ट को चलाने के लिए C++ भाषा के साथ-साथ ऑपरेटिंग सिस्टम बिल्ट अप करने पर बल दिया.

C++ प्रोग्रामिंग भाषा से जेम्स गोस्लिंग संतुष्ट नहीं थे. इसलिए जेम्स गोस्लिंग ने एक दृढ़ निर्णय लिया कि वे अपना खुद का एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज बनाएंगे. इसके पश्चात उन्होंने एक ओक नामक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज बनाई. ओक नाम उन्होंने अपने ऑफिस की खिड़की से दिखने वाले पेड़ के नाम पर रखा था.

C++ भाषा के सिंटेक्स (Syntax) पर (Oak) ओक आधारित थी. C++ की तुलना में ओक एक सरल, अधिक स्टेबल एवं बेहतर नेटवर्क  सपोर्टिव प्रोग्रामिंग भाषा थी. 1995 में ओक नाम को बदलकर इसके स्थान पर जावा रखा गया.

JAVA के Versions:-

इसके केवल 4 वर्जन ही नहीं है बल्कि समय-समय पर इसके वर्जन को रिलीज किया जाता है जो निम्न है:-

Release DateVersions
1995Jdk Beta
23 January1996Jdk 1.0
19 February 1997 Jdk 1.1
8 December 1998J2SE 1.2
8 may 2000J2SE  1.3
6 February 2002J2SE  1.4
30 September 2004J2SE  5.0
11 December 2006Java SE 6
7July 2011  Java SE 7
18 March 2014 Java SE 8
9 August 2017   Java SE 9
20 March 2018 Java SE 10
25 September 2018Java SE 11
19 March 2019  Java SE 12
17 September 2019Java SE 13

                                

JAVA कार्य कैसे करती है?

किसी भी प्रोग्राम को कंपाइल करने पर यह प्रोग्राम पूरी तरह से मशीन लैंग्वेज में कन्वर्ट नहीं होता है बल्कि यह एक इंटरमीडिएट लैंग्वेज में कन्वर्ट हो जाता है. इसे ही जावा बिटकोड (Java Bitecodes) कहा जाता है. इसे  किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम एवं किसी भी प्रोसेसर पर चलाया जा सकता है.

जावा प्रोग्राम को जब भी चलाया जाता है तो उस प्रोग्राम का इंटरप्रिटेशन होता है जबकि इसकी कंपाइलेशन मात्र एक बार होती है. जावा वर्चुअल मशीन (Jvm) का मशीन कोड जावा बीट कोट्स (Java Bitecodes) को कहा जाता है.

JAVA के Features:-

यह किसी हार्डवेअर या किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम से नहीं बंधा हुआ पहला प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है, साथ ही एक प्लेटफॉर्म इंडिपेंडेंट प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी है.

इससे यह समझा जा सकता है कि जावा प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर को बिना चेंज किए अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम पर जैसे कि लिनक्स या macintosh पर भी चला सकते हैं.

इसके कुल 8 features होते हैं जो निम्न है:-

Simple Programming Language

यह अनेक प्रकार की भाषाओं की तुलना में अत्यधिक सुरक्षित भाषा है, क्योंकि इसके प्रत्येक कोड कंपाइल होने के पश्चात बिटकोड में बदल जाते हैं. इसलिए इसे सुरक्षित भाषा माना जाता है.

Create Software

Distributed सॉफ्टवेयर बनाने के लिए इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल किया जाता है. यह सॉफ्टवेयर अलग-अलग कंप्यूटर पर चाहे वह किसी भी नेटवर्क से जुड़ा हो एक साथ काम कर सकता है.

Save programming language

यह मजबूत मेमोरी मैनेजमेंट का इस्तेमाल करती है. इसलिए यह बहुत ही मजबूत प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है.Pointers का बहुत कम इस्तेमाल  होने की वजह से इसकी सुरक्षा में कोई कमी नहीं रहती है.

Fast programming language

C++ जैसे कंपाइल्ड लैंग्वेज की तुलना में इसकी गति थोड़ी धीमी होती है. अन्य प्रोग्रामिंग भाषा की तुलना में इसकी गति बहुत अधिक होती है इसलिए इसे हम Slow लैंग्वेज भी नहीं कह सकते हैं.

Dynamic programming language

C एवं C++ से भी अधिक यह डायनेमिक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज होता है.Variables एवं Class को जो  कोट्स (codes)में लिखे होते हैं Run टाइम में Alocate होती है. इसलिए ज्यादा मेमोरी का इस्तेमाल नहीं हो पाता है.

More than one task

यह एक समय में एक साथ बहुत से टास्क को कंप्लीट कर सकता है. इसलिए इसे मल्टीथ्रेडेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कहा जाता है.

Make Architectural Neutral Format

आर्किटेक्चरल न्यूट्रल ऑब्जेक्ट फाइल फॉरमैट का निर्माण जावा कंपाइलर द्वारा किया जाता है. जिसके द्वारा कंपाइल कोड को एटीट्यूट होने जैसा बनाया जाता है. इससे कंपाइल किया गया कोड किसी भी मशीन पर रन कराया जा सकता है.

Portable

प्लेटफॉर्म इंडिपेंडेंट होता है इसलिए यह पोर्टेबल है. यह 2020 की सबसे लोकप्रिय प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है. जावा सॉफ्टवेयर का प्रयोग सबसे ज्यादा सभी कमर्शियल सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए किया जाता है. इसमें बहुत सारी विशेषताएं मौजूद होती है.

निष्कर्ष

JAVA एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रोग्रामिंग लैंग्वेज हैं जिसकी मदद से विभिन्न प्रकार के सॉफ्टवेयर, मोबाइल एप्लीकेशन, वेबसाइट बनाये जाते हैं.

इसीलिए आज की पोस्ट में हमने आपको बताया की जावा का फुल फॉर्म क्या है (What is the full form of JAVA in hindi)? अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें.

Leave a Comment