IP Full Form – IP का पूरा नाम क्या है?

इंटरनेट के दौर में हर किसी को मालूम होता है कि इसका इस्तेमाल कैसे करते हैं और इसके क्या फायदे हैं लेकिन क्या आपको पता है कि IP का फुल फॉर्म क्या है (IP Full Form).

अगर आपको इसके बारे में नहीं मालूम कि इस शब्द का हिंदी में पूरा नाम क्या है और इसका अर्थ क्या होता है तो आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि इसमें हम इससे जुड़ी हर प्रकार की जानकारी आपके लिए मुहैया कराने वाले हैं,.

आज के दौर में इंटरनेट से जुड़ी हर प्रकार की जानकारी का होना अनिवार्य है तभी आप इसका सही ढंग से उपयोग कर सकते हैं तो आइए जानते हैं कि आखिर इस शब्द का फुल फॉर्म क्या होता है.

IP का फुल फॉर्म क्या है – What is the full form of IP in Hindi?

IP का फुल फॉर्म “ Internet Protocol ” है.

इसे हिंदी में “ इंटरनेट प्रोटोकोल” कहते हैं.

इंटरनेट का आविष्कार होने के पश्चात ही आईपी ऐड्रेस का इस्तेमाल किया जा रहा है. यह एक यूनिक संख्या होती है.

जिस प्रकार एक व्यक्ति की पहचान के लिए उसका नाम का होना बेहद जरूरी होता है ठीक उसी प्रकार से आईपी एड्रेस को मोबाइल और कंप्यूटर की पहचान करने के लिए बनाया गया है.

एक डिवाइस को अपनी पहचान पाने के लिए के लिए इसी Address की आवश्यकता होती है.

जब हम इंटरनेट पर अपने डिवाइस के थ्रू किसी भी चीज को सर्च करते हैं तो वह आईपी ही होता है जिसकी मदद से यह पता चल पाता है की यह इंफॉर्मेशन कहां भेजनी है.

इसके बाद एक राइटर सभी डाटा को कलेक्ट कर के डिवाइस के आईपी एड्रेस पर भेज देता है.

दुनिया के सभी कंप्यूटर या डिवाइस किसी केबल या फिर वायरलेस की मदद से एक दूसरे से कनेक्ट रहते हैं. जिससे यह एक प्राइवेट नेटवर्क बन जाते हैं.

जिसमें सभी तरह के फाइल और डाटा को शेयर करने के लिए यूनिक आईपी ऐड्रेस का इस्तेमाल किया जाता है जैसे: FTP server, इंटरनेट प्रोटोकोल कैमरा, web hosting या remote computer इत्यादि.

ये दो प्रकार के होते हैं:

  1. Private address
  2. Public address

Public address भी दो प्रकार के होते हैं:

  1. Static
  2. Dynamic

Static address को चेंज नहीं किया जा सकता है, जबकि Dynamic address को चेंज कर सकते हैं.

ज्यादातर इंटरनेट यूजर्स के पास dynamic address ही होता है.

जैसे ही यह इंटरनेट से डिस्कनेक्ट होते हैं तो हर बार नया इंटरनेट प्रोटोकोल एड्रेस प्रयोग में  लेता है.

ये address binary संख्या के बने होते हैं.

यह 32-bit के होते हैं. इनके बीच में दशमलव का प्रयोग किया जाता है. जिससे इसे याद रखने में आसानी होती है.

निष्कर्ष

इंटरनेट का इस्तेमाल आप भी जरूर करते होंगे लेकिन बहुत सारे ऐसे टॉपिक हैं जिसके बारे में शायद ही आपको मालूम हो. ‘

इसीलिए आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हमने इससे जुड़ी एक टॉपिक के बारे में बात किया और बताया कि IP का फुल फॉर्म क्या है (What is the full form of IP in Hindi) है और इसका हिंदी अर्थ क्या होता है.

हम उम्मीद करते हैं कि यह आर्टिकल आपको अच्छी लगी होगी अगर हमारा काम आपको पसंद आए तो हमारे पोस्ट को दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें.

Leave a Comment