GSM Full Form – GSM का पूरा नाम क्या है?

हर मोबाइल उपयोगकर्ता को यह जरूर मालूम होना चाहिए कि GSM का फुल फॉर्म क्या है (GSM Full Form)?

अगर आप नहीं जानते कि इस शब्द का हिंदी में पूरा नाम क्या होता है और उसका अर्थ क्या है तो इस पोस्ट से अंत तक बने रहें।

क्योंकि यहां पर हम इससे जुड़ी जानकारी देने वाले हैं पूरी दुनिया में आज लोग किसी भी कोने के दोस्त या फिर रिश्तेदार से आसानी से बात कर लेते हैं वह भी बिना परेशानी के.

यह संभव हो सका है तो अभी इस्तेमाल होने वाले आधुनिक तकनीकी जिसमें से एक तकनीक जीएसएम भी है.

जिसके बारे में हम आपको यहां पर जानकारी प्रदान कर रहे हैं तो चलिए जान लेते हैं कि इस शब्द का फुल फॉर्म क्या होता है.

GSM का फुल फॉर्म क्या है – What is the full form of GSM in Hindi?

GSM का फुल फॉर्म Global System for Mobile communication है.

इसका पूरा नाम ग्लोबल सिस्टम फॉर मोबाइल कम्युनिकेशन होता है जिसका अर्थ है मोबाइल संचार के लिए ग्लोबल सिस्टम.

इस तकनीक को European Telecommunication Standards Institute (ETSI) के द्वारा विकसित किया गया था.

इसे मानक के रूप में स्थापित करके लोगों के उपयोग करने के उद्देश्य से विकसित किया गया.

यह 1G का ही विकसित किया गया हुआ रूप है.

1970 ईस्वी में बेल लैबोरेट्रीज में बैटरी का उपयोग करके मोबाइल रेडियो सिस्टम को विकसित करने यह लोगों के उपयोग करने के लिए ओपन की तकनीक है जिसका उपयोग पूरी दुनिया में 200 देशों के द्वारा किया जाता है.

यह नैरो बैंड टाइम डिविजन मल्टीप्ल एक्सेस तकनीक का उपयोग करती है.

यूरोप अमेरिका और एशिया के लगभग हर क्षेत्र में इसका उपयोग किया जाता है.

इसका उपयोग सिर्फ वॉइस कॉल के लिए ही नहीं बल्कि मैसेज भेजने और डाटा कंप्यूटिंग के लिए भी किया जाता है.

इस तकनीक से लैस फोन को कंप्यूटर से जोड़कर इंटरनेट का भी उपयोग किया जा सकता है.

विशेषताएँ

  • यह एक सर्किट-स्विचिंग सिस्टम है.
  • इस सिस्टम में हर 200 kHz चैनल को आठ 25 kHz टाइम-स्लॉट में बाँट करके काम करता है.
  • यह तकनीक संकेतों को भेजने के लिए नैरोबैंड टाइम डिवीजन मल्टीपल एक्सेस (TDMA) तकनीक का उपयोग करता है.
  • जीएसएम मोबाइल संचार बैंड 900 मेगाहर्ट्ज और दुनिया के अधिकांश हिस्सों में 1800 मेगाहर्ट्ज पर काम करता है.

निष्कर्ष

मोबाइल स्मार्टफोन का उपयोग करके हम जो अपने दोस्तों रिश्तेदारों से आसानी से बात कर लेते हैं वह 1 दिन में विकसित नहीं हुआ बल्कि काफी समय लगा.

शुरुआत में टेलीफोन तार लाइनों के द्वारा हम बात किया करते थे लेकिन आज मोबाइल वायरलेस हो चुका है और इसमें बैटरी का उपयोग किया जाता है.

जिसकी वजह से हम इसे लंबे समय तक ऐसे ही इस्तेमाल करके बात कर लेते हैं.

हम उम्मीद करते हैं किस आर्टिकल के माध्यम से आप समझ गए होंगे कि GSM का फुल फॉर्म क्या है (What is the full form of GSM in Hindi)?

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें.

Leave a Comment