एट द रेट का फुल फॉर्म क्या होता है? इसके उपयोग तथा इतिहास

एट द रेट एक ऐसा अक्षर है जिसका प्रयोग पूरे दुनिया में अनेक प्रकार के ईमेल या जीमेल बनाने में किया जाता है. आज हम आपको बताएंगे की एट द रेट का फुल फॉर्म क्या है?

इसके साथ आपको यह भी बताएंगे कि इस लेटर की उत्पत्ति कहां से हुई तथा इसका उपयोग कहां किया जाता है?

एट द रेट जिसे ‘@’ इस चिन्ह से पहचाना जाता है, इसका प्रयोग हम सभी अपने ईमेल या जीमेल आईडी बनाने में करते हैं 

लेकिन बहुत से ऐसे लोग है जिन्हें इसका मतलब नहीं पता होता कुछ ऐसे लोग होते हैं जो इस लेटर को पढ़ नहीं पाते, यह एक तरह का ऐसा प्रसिद्ध चिन्ह है जिसे हर देशों में जाना जाता है.

एट द रेट क्या है?

एट द रेट एक साधारण अक्षर है जिसे ‘@’ इस प्रतीक चिन्ह से जाना जाता है. कई लोग ऐसे होते हैं जो इस अक्षर का प्रयोग तो करते हैं लेकिन उन्हें इसका मतलब नहीं पता होता. 

यह अक्षर पूरे विश्व भर में प्रसिद्ध है क्योंकि हर एक देश में इस अक्षर का प्रयोग ईमेल या जीमेल जैसे आईडी को बनाने में किया जाता है इसलिए इसकी जानकारी रखना आवश्यक है.

लगभग सभी लोगों का अपना एक जीमेल आईडी ,ईमेल आईडी गूगल अकाउंट ,फेसबुक आईडी, इंस्टाग्राम आईडी होता है. इन सभी में लोग अपने नाम के अक्षरों के साथ-साथ एट द रेट का भी प्रयोग करते हैं.

लेकिन उन्हें इनका मतलब नहीं पता होता लेकिन हमारे ईमेल या अन्य सोशल मीडिया से संबंधित वेबसाइट की  आईडी में जिस महत्वपूर्ण लेटर का इस्तेमाल किया जाता है उसकी जानकारी रखना आवश्यक है.

गणित विषय में एट द रेट का मीनिंग

 एट द रेट हम कई प्रकार के ऐप में अपना आईडी बनाने में इसका इस्तेमाल करते हैं लेकिन गणित विषय में एट द रेट का मतलब सबसे अलग होता है क्योंकि एट द रेट मींस वस्तुओं का दर माना जाता है

इसका मतलब यह है कि गणित के विषय में जितने लाभ हानि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं उसमें रेट वर्ड बहुत यूज़ होता है रेट मतलब  दाम .

यदि हम गणित के किसी प्रश्न को सॉल्व करते हैं और उस प्रश्न में वस्तुओं के मूल्य निर्धारित होते हैं तो उस समय हम उस क्वेश्चन को सॉल्व करते हुए लिखते हैं वस्तु की रेट लिखी जाती है जिसने इस वर्ड का प्रयोग किया जाता है.

इस प्रकार सोशल मीडिया से संबंधित वेबसाइट में जीमेल ईमेल बनाने के साथ-साथ गणित विषय में भी एट द रेट का इस्तेमाल किया जाता है.

एट द रेट की उत्पत्ति कैसे हुई?

एट द रेट अभी के जनरेशन में बहुत ही प्रसिद्ध सिंबल बन चुका है हर एक देश के प्रत्येक नागरिक अपने ईमेल बनाने में इस अक्षर का प्रयोग करते हैं.

यह अक्षर इतना जरूरी हो गया है कि बिना इसके किसी भी प्रकार की ईमेल आईडी नहीं बन सकती हर एक ईमेल आईडी में इस अक्षर का रहना अनिवार्य है.

हमारे लिए यह लेटर बहुत ही ज्यादा जरूरी है लेकिन इसकी जरूरत रहते हुए भी लोग बस इसका यूज करते हैं ना कि इसके बारे में जानकारी जानना चाहते हैं.

ऐसे कई लोग होंगे जिनको एट द रेट की उत्पत्ति कैसे हुई यह नहीं पता होगा यहां तक कि लोग एट द रेट को एट द रेट ही पड़ते हैं लेकिन यह गलत है एट द रेट को ऐड पढ़ा जाता है वार्तालाप की बात करें तो एट बोलना सही होता है.

एट द रेट की उत्पत्ति एक व्यापारी के द्वारा 1536 ईसवी में किया गया जो इटली देश के फ्लोरेंस नामक शहर का निवासी था.  

यह व्यापारी किसी कागज में मिद्रा यानी कि शराब का दाम लिखते समय दाम को ‘@’ एस अक्षर के रूप में लिखा था जहां से इस शब्द की उत्पत्ति हुई थी.

इस व्यापारी के द्वारा एट द रेट का मतलब दाम के रूप में शुरू हुआ और उस समय से किसी भी चीज का दाम में एट द रेट इस्तेमाल होने लगा.

वहीं दूसरी ओर एट द रेट का इस्तेमाल 1971 में रे टॉमलिंगसन जो एक कंप्यूटर इंजीनियर थे इनके द्वारा ईमेल आईडी में किया गया. इन्होंने सबसे पहले अपने ईमेल आईडी में इस अक्षर का प्रयोग किया.

उस समय से लेकर आज तक सभी के ईमेल आईडी, गूगल अकाउंट, फेसबुक के यूजरनेम, इंस्टाग्राम के यूजर नेम तथा ट्विटर के यूजर नेम में एट द रेट का इस्तेमाल किया जाता है.

@ इसे एट द रेट के नाम से हमारे भारत में जाना जाता है इसलिए हर एक लोग अपने ईमेल आईडी बोलते वक्त इस अक्षर को एट द रेट बोलते हैं.

इस लेटर @ का प्रयोग कहां किया जाता है?

एट द रेट का प्रयोग सोशल मीडिया के विभिन्न प्रकार के सर्विस में किया जाता है: –

गूगल अकाउंट बनाने के लिए कुछ अक्षरों तथा अंकों के साथ साथ एट द रेट का इस्तेमाल किया जाता है. एट द रेट अक्षर के पहले लोग अपने नाम का कुछ अक्षर लिखते हैं.

एट द रेट के पश्चात कुछ अंकों को लिखा जाता है इस प्रकार व्यक्तियों की ईमेल आईडी बनाई जाती है.

फेसबुक इंस्टाग्राम तथा ट्यूटर जैसे सोशल मीडिया से संबंधित सर्विस यूजरनेम में एट द रेट का प्रयोग किया जाता है, जितने भी लोग अपने यूजर नेम लिखते हैं उसमें अपने नाम के अक्षरों के साथ साथ एट द रेट और कुछ अंक भी शामिल करते हैं.

सोशल मीडिया से संबंधित सभी वेबसाइट में लोगों का ईमेल आईडी तथा यूजर नेम आवश्यक होता है और इन सभी में एट द रेट जिसे एट बोला जाता है इसी एट का प्रयोग करके यूजरनेम लिखा जाता है.

आज के जमाने में जितने भी लोग फोन यूज कर रहे हैं यह सोशल मीडिया से जुड़े हुए हैं उन लोगों का अपना एक ईमेल आईडी के साथ साथ जीमेल आईडी होता है, जब लोग अपना ईमेल आईडी बनाते हैं तो उसमें ‘@’ इस अक्षर का प्रयोग करते हैं. 

एट द रेट से बनाए गए ईमेल और जीमेल लोगों को ऑनलाइन से जुड़े कार्यों को करने के लिए आवश्यक होता है जिस व्यक्ति का ईमेल आईडी बना होता है वह जीमेल के जरिए किसी भी लिंक को दूसरे ईमेल आईडी में सेंड कर सकते हैं इसके साथ और भी अन्य कार्य ईमेल आईडी के द्वारा किया जाता है.

सरकारी आईडी बनाने में भी एट द रेट का इस्तेमाल किया जाता है. ‘@’इसका मीनिंग ऐड्रेस या  लोकेशन होता है आईडी के नाम पर जितना भी जीमेल आता है उसका एड्रेस इसी अक्षर से पता चलता है.

विभिन्न देशों में एट द रेट को किस नामों से जाना जाता है?

एट द रेट पूरे विश्व में प्रसिद्ध अक्षर है जिसे हर एक देश में अलग-अलग पुकारो नाम दिया गया है :- 

यूरोप देश में @ यह कीड़ा के नाम से जाना जाता है.

मध्य एशिया में इसे चांद का कान कहा जाता है वहां के जितने भी लोग हैं वह एट द रेट को चांद के कान कहकर इस लेटर को बोलते हैं.

जर्मनी जैसे देश में एट द रेट को स्पाइडर मंकी के नाम से जाना जाता है.

यूनानी के लोग इसे छोटे बत्तख कहकर पुकारते हैं. वहा  के लोग जब अपना ईमेल आईडी बोलकर किसी को बताते हैं उस समय इस प्रसिद्ध अक्षर को छोटे बत्तख कहते हैं .

@ इसे तुर्की में खूबसूरत वाला ए कहां जाता है. तुर्की के लोग पगली इस अक्षर को खूबसूरत वाला ए कह कर बुलाते हैं और वे  ईमेल आईडी बनाते वक्त इस अक्षर का प्रयोग करते हैं जब इन लोगों से ईमेल आईडी पूछी जाती है तो ईमेल आईडी बोलते वक्त इस अक्षर को खूबसूरत वाला कह कर बुलाते हैं.

बोस्निया में इसे लोगों के द्वारा एक्की ए पुकारू नाम दिया गया है.

स्लोवाकिया नामक स्थान में इस अक्षर को लोग अचारी फीस रोल से पुकारते हैं. जिस प्रकार हमारे भारत देश में इस अक्षर को एट द रेट कहकर बोला जाता है उसी प्रकार स्लोवाकिया में इसे अचारी फीस रोल से जाना जाता है.

डेनिश जुबान  नामक शहर में @ को हाथी का सूंड कहा जाता है इस प्रकार वहां के लोग जो अपने ईमेल आईडी बनाते हैं या फिर गूगल अकाउंट या सोशल मीडिया के सर्विस में अपना यूजरनेम बनाते हैं तो उसमें एस अक्षर का प्रयोग करते हैं.

चीन देश में एस अक्षर को छोटे चूहे के साथ-साथ घुमावदार ए भी कहते हैं.

इस प्रकार विदेशों में इसे अलग-अलग नामों से जाना जाता है लेकिन इसका प्रयोग सभी देशों में एक जैसा ही किया जाता है सिंपल कहा जाए तो काम एक नाम अनेक. 

क्योंकि हर देशों में इसका इस्तेमाल ईमेल आईडी और गणित जैसे विषयों में रेट अर्थात दाम की जगह इसका प्रयोग किया जाता है  वहीं अगर नाम की बात करें तो अलग-अलग देशों में इसे अलग-अलग नामों से जाना जाता है.

@  इस अक्षर के चारों ओर जलेबी जैसा आकार दिखने में प्रतीत होता है . यह अक्षर दिखने में जितना विचित्र है उतना ही पूरे दुनिया में प्रसिद्ध भी है.

निष्कर्ष

एट द रेट को सटीक रूप से पढ़ते हुए इसे ‘एट’ बोला जाता है बहुत लोग इसे एट द रेट पढ़ते हैं जो सही नहीं माना जाता. 

आज हमने आपको बताया की एट द रेट का फुल फॉर्म क्या है? तथा इसकी उत्पत्ति कैसे हुई? और इसका उपयोग कहां किया जाता है?

आशा है एट द रेट की सारी जानकारी आपको हमारे इस आर्टिकल से मिली होगी.

Leave a Comment