DNA Full Form – DNA का पूरा नाम क्या है?

आपने DNA शब्द तो कई बार सुना ही होगा लेकिन क्या आप जानते हैं DNA का फुल फॉर्म क्या है (DNA full form).

तकनीक का विकास इतनी तेज गति से हो रहा है कि आज किसी के खून के सैंपल से पता लगा लिया जाता है कि वह किस खानदान का है या फिर उसके असली मां बाप कौन है.

यह इसलिए संभव हो सका है क्योंकि डीएनए स्ट्रक्चर इस कार्य को आसानी से करके बता देता है.

हम आपको ये भी बताएँगे की इस शब्द का हिंदी में पूरा नाम क्या है और इसका क्या अर्थ है.

DNA का पूरा नाम क्या है – What is the full form of DNA in Hindi?

DNA का फुल फॉर्म “Deoxyribonucleic acid” होता है.

इसे हिंदी में “ डी ऑक्सी राइबो न्यूक्लिक एसिड” कहते हैं.

जीवित कोशिकाओं के गुणसूत्रों में जो तंतुनुमा अणु पाए जाते हैं, उसे डीएनए कहते हैं.

यह प्रत्येक जीवो में पाया जाता है एवं घुमावदार सीढ़ी की तरह इसका आकार होता है. इसमें अनुवांशिक गुण मौजूद होते हैं जो प्रत्येक जीवित कोशिका के लिए अनिवार्य है.

वर्ष 1953  में वैज्ञानिक जेम्स एवं फ्रांसीसी ग्रीक ने इसका खोज किया था. वर्ष 1962  में उन्हें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. यह एक प्रकार का मॉलिक्यूल होता है इसमें सभी प्रकार के जीवो के जेनेटिक कोड होते हैं.

यह सभी प्रकार के जीवो जैसे  पेड़ – पौधों, मनुष्यों, बैक्टीरिया, कीटाणु एवं जीव – जंतुओं इत्यादि में पाया जाता है.

डीएनए हमारे शरीर में केवल लाल रक्त कोशिकाओं को छोड़कर लगभग प्रत्येक कोशिकाओं में पाया जाता है.

अपने माता-पिता से प्रत्येक व्यक्ति को 23 जोड़े डीएनए प्राप्त होते हैं. प्रत्येक जोड़े में से एक माता एवं एक पिता द्वारा प्राप्त होता है.

इसका मतलब यह हुआ कि चाहे वह कोई भी व्यक्ति हो उसका डीएनए उसके माता-पिता के डीएनए के मिश्रण से बना हुआ होता है.

माता पिता के बहुत से लक्षण इसी कारण से बच्चों में एक जैसे पाए जाते हैं जैसे चमड़ी का रंग, बालों का रंग, कद, आंखें इत्यादि.

मनुष्य के डीएनए में लगभग 3 बिलियन बेस होते हैं. सभी मनुष्यों में यह 99.9 प्रतिशत समान होते हैं. बाकी 0.01 प्रतिशत सभी मनुष्यों को एक दूसरे से अलग बनाता है. चिंपांजी और मनुष्य के डीएनए में 98 प्रतिशत समानता रहती है.

किसी बच्चे का पिता कौन है , यह पता इस जांच से सुनिश्चित किया जा सकता है. इस टेस्ट का उपयोग अच्छे प्रजनन वाले जीवो की पहचान के लिए एवं कृषि के क्षेत्र में अधिक रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए भी किया जाता है.

अनुवांशिक बीमारी की पहचान कर मेडिकल के क्षेत्र में उनकी अगली पीढ़ी के रोकथाम के लिए भी प्रयास किए जाते हैं.

निष्कर्ष

अजी पता लगाना तो बहुत आसान हो चुका है कि किसी भी इंसान का खानदान कौन सा है और उसके डीएनए का स्ट्रक्चर क्या है. पुलिस अपनी जांच कार्य के लिए भी इस तकनीक का इस्तेमाल करती है और असल मुजरिम का पता लगा लेती है.

इसके अलावा भी मेडिकल फील्ड में इस तकनीक के इस्तेमाल से काफी फायदे उठाए जाते हैं और यही वजह है की आज के इस आर्टिकल में हमने आपको बताया की DNA का फुल फॉर्म क्या होता है (What is the full form of DNA in Hindi), इस शब्द का हिंदी में पूरा नाम क्या है और इसका क्या अर्थ है.

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें.

Leave a Comment