DLC Full Form – DLC का फुल फॉर्म क्या है?

इस पोस्ट को पढ़ने का मतलब यही है कि आप जानना चाहते हैं कि DLC का फुल फॉर्म क्या है (DLC Full Form). तो आप निश्चित हो जाएं क्योंकि इसमें हम आपको उसकी जानकारी देने जा रहे हैं और बताइए किस का हिंदी में पूरा नाम क्या होता है.

आज पूरी दुनिया कोरोना वायरस बीमारी से जूझ रहे हैं और इस दौर में भी कोविड-19 से लड़ने में जो हमारी सबसे ज्यादा मदद कर रहा है वह हमारी शरीर के अंदर मौजूद श्वेत रक्त कणिकाएं ही हैं.

आज का पोस्ट हमारे White Blood Shell से ही जुड़ा हुआ है जो हमारे शरीर में एक सैनिक के रूप में कार्य करते हैं और हमें बीमारियों से बचाते हैं. DLC शब्द का हिंदी में क्या अर्थ होता है यह जानने के लिए पोस्ट को जरूर पढ़ें.

DLC का पूरा नाम क्या है – What is the full form of DLC in Hindi?

DLC Full Form - DLC का फुल फॉर्म क्या है?
DLC ka full form kya hai

DLC का फुल फॉर्म Differential Leukocyte Count है. इसे हिंदी में हम डिफरेंशियल ल्यूकोसाइट काउंट भी बोलते हैं. जिस का हिंदी अर्थ होता है विभेदक ल्यूकोसाइट गिनती.

यह ब्लड टेस्ट से जुड़ा एक ऐसा टेस्ट है जो हमारे रक्त में मौजूद प्रत्येक श्वेत रक्त कणिकाओं की उपस्थिति को गिनती है.

इसके अलावा हमारे श्वेत रक्त कणिकाओं में ऐसे कणों को भी पता लगाती है जो पूरी तरह से विकसित नहीं होती है और शरीर में उत्पन्न हुई कई प्रकार की समस्याएं जैसे एनीमिया, ल्यूकेमिया और कई प्रकार के इंफेक्शन का भी पता लगाती है.

जब कभी भी हम अपने खून की जांच करवाते हैं तो ब्लड टेस्ट रिपोर्ट में कई प्रकार के विवरण दिए हुए होते हैं जैसे कि प्लेटलेट्स, हिमोग्लोबिन, लाल रक्त कणिकाएं और श्वेत रक्त कणिकाएं इत्यादि इसके अलावा भी Total Leukocyte Count (TLC), Differential Leukocyte Count (DLC) डॉक्टरों द्वारा दिए हुए निर्देशों के अनुसार ब्लड टेस्ट किए जाते हैं.

एक वयस्क इंसान में पांच प्रकार के वाइट ब्लड सेल खून में मौजूद होते हैं:

  • Neutrophils या Polymorphs,
  • Lymphocytes (B and T cells),
  • Monocytes,
  • Eosinophils,
  • Basophils
  • Band या young neutrophils

TLC और DLC टेस्ट के जरिए हमें एक आईडिया मिल जाता है कि हमारा शरीर किस प्रकार की बीमारी से ग्रसित है और यह एक शुरुआती स्तर पर होने वाला भी टेस्ट है.

यह हमारे शरीर में उत्पन्न विभिन्न प्रकार की बीमारियों जैसे बुखार, खांसी, और पेशाब में होने वाले इन्फेक्शन की जानकारी देता है. इसके अलावा हमारे शरीर में अगर किसी प्रकार की गंभीर समस्या है उसके बारे में भी इससे पता चल जाता है.

यह दोनों ही टेस्ट काफी अच्छे होते हैं क्योंकि यह हमें किसी भी प्रकार की समस्या की जानकारी दे देते हैं.

निष्कर्ष

बीमारी से बचने का सबसे आसान तरीका यही है कि समय रहते बीमारी का पता चल जाना.
समस्याओं का पता लगाने के लिए कई प्रकार के टेस्ट किए जाते हैं और उन्हीं के जरिए हमारे शरीर में उत्पन्न विभिन्न बीमारियों का पता लगाया जा सकता है.

Differential Leukocyte Count भी एक प्रकार वाइट ब्लड सेल की मात्रा को हमारे खून में जाते हैं और शरीर में उत्पन्न किसी भी प्रकार की बीमारी का पता लगाते हैं. इसीलिए आज की पोस्ट में हमने आपको बताया कि DLC का हिंदी में पूरा नाम क्या होता है.

अगर ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो शेयर करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here