बसंत ऋतु पर निबंध – Essay on spring season in Hindi

बसंत ऋतु हमारे देश के लिए अन्य देशों के मुकाबले बहुत ही महत्वपूर्ण ऋतु है. बसंत ऋतु के आगमन से जीव जगत पक्षियों पेड़ पौधे एवं जानवर के मन हुल्लास से भर उठते है .

इस धरती पर जी रहे सभी जीव जंतु बसंत ऋतु के आगमन का इंतजार कर रहे होते हैं क्योंकि इस ऋतु में प्रकृति का सौंदर्य बहुत ही मनमोहक रूप में दिखाई देता है.

बसंत ऋतु पर छोटे एवं बड़े निबंध – Long and Short Essay on Spring Season for Class 6, 7, 8, 9, 10

बच्चों आज आपके लिए चार निबंध बसंत ऋतु पर लाए हैं जो आपके लिए पढ़ने में बहुत ही आसान होगी. इसे आप अपने क्लास के अनुसार पढ़ सकते हैं.

निबंध 1 ( 350 शब्द )

प्रस्तावना

हमारे पृथ्वी पर बहुत सारे ऋतु का आगमन होता है इन सभी रितु ओं से सभी जीव जंतु इस धरती पर जीने के लिए अपने आप को अनुकूलित कर पाते हैं. बसंत ऋतु सभी ऋतु की रानी मानी जाती है क्योंकि ऋतु में ना ज्यादा ठंडा का महसूस होता है ना ज्यादा गर्मी महसूस होती है इस ऋतु में हर एक चीज सौंदर्य पूर्वक दिखाई देती है और हमें इस ऋतु में बहुत ही आनंद प्राप्त होता है.

बसंत ऋतु शीत ऋतु के बाद आरंभ होती है और हमारे पृथ्वी पर अपनी कृपा बरसाती है, इस धरती को सौंदर्य पूर्वक बनाकर हमें प्रदान करती है. बसंत ऋतु सभी ऋतु में महान ऋतु मानी जाती है.

बसंत ऋतु का आगमन

बसंत ऋतु सभी ऋतु ओं की राजा माना जाती है क्योंकि इस ऋतु में हमें नाही ठंडे की महसूस होती है ना ही गर्मी महसूस होती है यह मौसम बहुत ही सुहाना मौसम होती है जिसमें हर एक चीज सौंदर्य पूर्वक दिखाई देती है.

बसंत ऋतु का आगमन 15 फरवरी से होता है और 15 अप्रैल तक यह महत्वपूर्ण रितु रहती है. बसंत ऋतु शीत ऋतु के पश्चात हमारे देश में प्रवेश करती है सभी जीव जंतुओं को इस ऋतु से राहत मिलती है. इस ऋतु के आगमन से पूरे प्रकृतिक दृश्य में बदलाव आ जाता है.

बसंत ऋतु के आगमन के लिए हर कोई इनका इंतजार बहुत ही उत्सुकता पूर्वक करते हैं क्योंकि इस ऋतु के आगमन से हमारे पूरे पर्यावरण खिल उठते हैं और चारों और हरियाली दिखाई देती है जिसे देखने के पश्चात हमारे मन प्रफुल्लित हो उठते हैं. हमारे आस पास के इतनी सुंदरता वाली सौंदर्य को देखने के बाद हमारा मन बहुत ही सकारात्मक हो जाता है इससे हमें बहुत ही सुकून महसूस होती है और हमारा व्यवहार भी इस मौसम के आगमन से बदलने लगता है, अच्छी दृष्टि आने लगती है.

निष्कर्ष

बसंत ऋतु का आगमन होने से हमारे भारत देश के चारों और की प्रकृति खिल उठती है क्योंकि इस के आगमन से नए-नए फूल खिलने लगते हैं जो दिखने में बहुत ही सुंदर प्रतीत होते हैं इनकी खुशबू से मन खुश हो उठता है. फसलें पकने लगती है जिनसे हमें नई नई फसलों को खाने का आनंद प्राप्त होता है.

निबंध 2 ( 450 शब्द )

प्रस्तावना

बसंत ऋतु का आगमन हर देश में अलग-अलग समय में होता है लेकिन हमारे भारत देश में इस महत्वपूर्ण ऋतु का आगमन 15 फरवरी से शुरू होती है और 15 अप्रैल तक रहती है, इन 3 महीनों में हमारी प्रकृति का सौंदर्य बहुत ही सुंदरता रूप में दिखाई देती है.

हरी-भरी बसंत ऋतु

बसंत ऋतु इतनी सुहानी और इतनी प्रभावशाली ऋतु होती है कि इन के आगमन के लिए सभी को बेसब्री से इंतजार कर रहे होते हैं क्योंकि इनके आने से तापमान सामान्य रूप में होती है उस समय ना ही ज्यादा गर्मी के एहसास होती है ना ही ज्यादा ठंडी के एहसास होती है इस मौसम के पहले शीत ऋतु होती है जिसमें लोग ठंड से व्याकुल होते हैं इस ऋतु के आने से ठंड से परेशान लोगों को राहत मिलती है.

बसंत ऋतु के लाभ

बसंत ऋतु के आने से हमारा जीवन धन्य हो उठता है हमारे मन में सकारात्मक विचारों की उत्पत्ति होने लगती है जिससे हमारा व्यवहार भी अच्छे व्यवहार की ओर बदलने लगता है.

इस सुहानी ऋतु के निम्नलिखित लाभ है:

इस सुहावनी बसंत ऋतु के समय ठंडी और शीतल दाई हवाएं दक्षिण दिशा से पूर्व दिशा की ओर बहती है जिसमें ठंडी ठंडी सुहावनी हवाएं हर कोई के त्वचा से स्पर्श होकर गुजरती है जिससे बहुत ही अंतरिक्ष खुशी मिलती है.

इस मौसम में बहुत से त्योहार आते हैं जैसे लोहड़ी होली इत्यादि त्यौहार. इन त्योहारों में मौसम इतना सुहावना होता है और वातावरण इतना सुंदर युवक दिखाई देता है की हर एक कोई इन त्योहारों को बहुत ही आनंद लेते हुए अपने परिवार और रिश्तेदारों के साथ मना कर सभी की खुशियों में शामिल होते हैं.

बसंत मौसम में फलों के राजा आम को खाने का अवसर मिलता है जिसमें आम पूरे पक्के पक्के होते हैं और मीठे पूर्वक होते हैं जिसे खाने के बाद बहुत ही शांति पूर्वक महसूस होती है.

इस मौसम में नए-नए विभिन्न प्रकार के फूल खिलने लगते हैं और अपने सुगंध से पूरा वातावरण को सुगंधित कर देते हैं.

इन दिनों में कमल के फूल तालाबों और नदियों में खिलकर पानी को अपने अंदर छिपा लेते हैं. इन कमलो के फूलों को देख ऐसा प्रतीत होता है जैसे मानो यह कमल के फूल संकेत दे रहे हैं कि मानव अपने सारे दुखों को कष्टों को मनो में समेट लें और अपनी खुशियों का आनंद प्राप्त करें

निष्कर्ष

बसंत ऋतु सभी ऋतु की रानी मानी जाती है क्योंकि इस सुहावनी मौसम के आगमन से हमारा मन प्रफुल्लित होता है इसके साथ साथ हमारा सेहत भी इन दिनों बहुत ही अच्छा रहता है.  बसंत ऋतु के आगमन से हमारे प्रकृति का सौंदर्य देखने योग्य रहता है इसमें हम अपने इच्छा अनुसार प्रकृति के नजारों को देखने में सक्षम हो पाते हैं.

निबंध 3 ( 650 शब्द )

प्रस्तावना

हमारा भारत देश एक ऐसा देश है जिसमें विभिन्न प्रकार की ऋतु प्रवेश कर हमारे वातावरण और प्रकृति को सौंदर्य बनाती है. हालांकि हमारे देश में विभिन्न प्रकार की ऋतु अपना आगमन करती हैं लेकिन बसंत ऋतु एक ऐसी रितु है जिसका इंतजार सब बेसब्री से करते हैं क्योंकि इस ऋतु के आगमन से पूरा प्रकृति देखने योग्य होता है.

ऋतुओ का राजा

इस धरती पर सभी जीवो को जीने के लिए विभिन्न प्रकार की ऋतुए प्रवेश करती हैं और इन्हें जीने के लिए अनुकूलित वातावरण बनाकर चली जाती है. विभिन्न प्रकार की ऋतु है अपने-अपने तरीकों से धरती को सौंदर्य प्रमुख बनाकर आती रहती हैं जिसमें बसंत ऋतु एक ऐसी ऋतु है जो सभी ऋतु का राजा है जिस के आगमन के लिए हर एक जीव जंतु जो इस धरती पर रह रहे हैं वह बहुत ही उत्सुकता से इनकी बेसब्री से इंतजार करते हैं.

बसंत ऋतु की ऐतिहासिकता

बसंत ऋतु सभी ऋतु ओं में महान ऋतु मानी जाती है क्योंकि इस ऋतु की शोभा अत्यधिक आनंद पूर्वक होती है इन के आगमन से मौसम सुहावना बन जाती है और सभी जीव जंतुओं को इस मौसम में ना ही ज्यादा गर्मी की आस आस होती है और ना ही ज्यादा ठंडे की एहसास होती है यह मौसम बहुत ही आनंददायक मौसम है.

इस दिन एक महावीर हकीकत राय की मृत्यु हुई थी जिन्होंने अपना बलिदान हमारे धर्म के लिए दीया, इनकी सकारात्मक विचार है हमें अपने आप में उतारने चाहिए. हम सभी को सभी धर्मों को इज्जत देने के साथ-साथ सभी धर्मों के लिए अपनी दृष्टि सकारात्मक विचारों के साथ रखनी चाहिए किसी धर्म से कभी नफरत नहीं करनी चाहिए बल्कि उनके नियमों को मानकर हर धर्म को इज्जत करना चाहिए. इस दिन वीर हकीकत राय जी की यादों में मेला लगता है और इन्हें सकारात्मक विचारों द्वारा स्वरांजलि प्रदान की जाती है.

प्राणी जगत में उल्लास

बसंत ऋतु ग्रीष्म ऋतु के पश्चात आने वाली ऋतु है जिसके पहले सभी लोग ठंड से व्याकुल होते हैं वही इस ऋतु के आगमन से ना ही ज्यादा ठंड का एहसास होता है और ना ही ज्यादा गर्मी का, सभी लोगों को ठंड से राहत मिलती है इसलिए बसंत ऋतु का इंतजार मानव जाति बहुत ही बेसब्री से करते हैं और इनकी आगमन में अपनी उत्सुकता और प्रसन्नता दोनों प्रदर्शित करते हैं.

इस सुहावनी मौसम में प्रकृति का दृश्य पूरा सुंदरता पूर्वक प्रदर्शित होता है आकाश स्पष्ट दिखाई देते हैं और सूर्य का तापमान निम्न होता है.

इन दिनों में पत्तियां ऐसे अपना आवाज निकालती है जैसे उन्हें यह मौसम बहुत ही भा रहा हो और वह अपनी खुशी अपने आवाजों को निकालकर व्यक्त कर रही हैं. नए-नए फल पटना शुरू हो जाते हैं और हमें इन दिनों फलों का राजा आम को खाने का अवसर मिलता है.

बसंत ऋतु का महत्व

संत ऋतु का प्रभाव इस धरती पर रह रहे सभी जीव जंतु पेड़ पौधे पशु पक्षियों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है. इन दिनों मौसम बहुत ही सुहाना होता है और चारों और प्रकृति का सौंदर्य हरा भरा प्रतीत होता है.

मानव के साथ-साथ पक्षी जानवर इत्यादि भी इन मासूमों का लुफ्त आनंददायक उठाते हैं, पक्षियों अपने गानों को गाती इसके साथ गुनगुनाती है और इस मौसम का लुफ्त उठाते हैं. मनुष्य इस सुहावनी मौसम में शाम में टहलना पसंद करते हैं पार्क जाना पसंद करते हैं घूमना पसंद करते हैं क्योंकि इन दिनों तापमान बहुत ही निम्न होता है और वातावरण बहुत ही स्वच्छ होता है चारों तरफ हरियाली होती है इससे दृश्य भी आकर्षित रूप में दिखता है. जानवरों के लिए यह मौसम बहुत ही आनंददायक है क्योंकि इन दिनों छोटे-छोटे नए नए पत्ते जो निकलेंगे होते हैं और जो हरे-भरे घास होते हैं वह इन्हें खाने का अवसर मिलता है.

निष्कर्ष

बसंत ऋतु हम सभी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण ऋतु होती है जिसमें हमें रंगों से भरी त्योहारों को मनाने का अवसर मिलता है इसके साथ साथ हमें हरी-भरी दृश्य को देखने का भी आवश्यक यह ऋतु हमें प्रदान करती है.

निबंध 4 (650 शब्द)

प्रस्तावना

बसंत ऋतु हर देशों में अलग-अलग समय में प्रवेश लेती है लेकिन भारत देश में इनका आगमन शीत ऋतु के पश्चात होता है यह अपना आगमन से लोगों को ठंड से राहत प्रदान करती है जिसमें लोगों के मन बहुत ही सादगी पूर्वक रहता है क्योंकि वसंत ऋतु अपने साथ प्रकृति का सौंदर्य लेकर प्रवेश करती हैं जिन्हें देखने के पश्चात मन खुश हो जाता है.

बसंत ऋतु सभी नेताओं की रानी मानी जाती है इस सुहाने मौसम में किसानों की फसलें पकने लगती है और लोगों को नए फसलों को खाने का अवसर मिलता है जो बहुत ही स्वादिष्ट होता है, इन दिनों सरसों के फूल ऐसे खिल उठते हैं जैसे वसंत ऋतु को यह स्वागत कर रहे हो.

आनंद और खुशियों का मौसम

बसंत ऋतु सभी ऋतु की रानी मानी जाती है क्योंकि इस ऋतु में मौसम हरा भरा प्रतीत होता है और सभी लोगों को खुशी और आनंद प्राप्त होता है. इस मौसम में पक्षियों की आवाज सुनना इतना मधुर प्रतीत होता है जैसे मानो वह गाना गा रही हो. पेड़ पौधे भी इस मौसम का इंतजार कर रहे होते हैं क्योंकि इन के आगमन से पेड़ों में नई नई पत्तियां खेलती है.

इस मौसम में बहुत तरह के विभिन्न फुले अपने विभिन्न विभिन्न प्रकार के सुगंध से पूरे वातावरण को सुगंधित करते हैं और साथ में हमारे मन को भी खुशी प्रदान करते हैं क्योंकि इन सभी सुगंध को लेकर मन खुश हो उठाता है.

इस सुहावनी मौसम में ठंडी एवं शीतल हवाएं दक्षिण दिशा की ओर से चलती है जो अत्यधिक प्रसन्नता प्रदान करती है जब यह हवाएं हमारे शरीर में स्पर्श होती है आंतरिक रुप से बहुत ही खुशी मिलती है. इस मौसम में अनेक प्रकार की खुशियां प्रदान होती है. होली और लोहड़ी यही मौसम में मनाई जाती है जब हाथी रंग बिरंगी त्यौहार है जिसमें एक त्यौहार में विभिन्न रंगों की पतंगे उड़ाई जाती है और दूसरा होली में अनेक प्रकार के विभिन्न विभिन्न रंगों से होली खेल कर सुहावनी मौसम के साथ आनंद लेने का अवसर मिलता है.

बसंत ऋतु की विशेषता

बसंत ऋतु बहुत ही महत्वपूर्ण रितु मानी जाती है क्योंकि यह मौसम बहुत ही सुहावनी रूप में हमारी पृथ्वी पर प्रवेश करती है और हमें विभिन्न प्रकार के सौंदर्य से परिचित कराती है. यह मौसम शीत ऋतु के पश्चात आरंभ होती है जिसमें ना ही ज्यादा ठंडा का महसूस होता है और ना ही ज्यादा गर्मी का महसूस होता है.

बसंत ऋतु हमारे लिए बहुत ही प्रभावशाली रितु मानी जाती है क्योंकि इनके आने से पूर्व प्रकृति हरा-भरा प्रतीत होता है और इसके साथ साथ हमें नए-नए फलों को खाने का अवसर भी मिलता है क्योंकि इनके आगमन से फसलें पकना स्टार्ट हो जाती है.

इस ऋतु में मौसम इतनी सुहावनी होती है कि अक्सर लोग सुबह और शाम टहलने के लिए निकल पड़ते हैं और इसके साथ ठंडी ठंडी हवाओं को महसूस करते हैं और आसपास के वातावरण को देख आनंद लेते हैं.

बसंत पंचमी

बसंत पंचमी बहुत ही प्रसिद्ध त्यौहार है जो वसंत ऋतु के आगमन में उत्सव के रूप में सभी लोग अपने परिवारों और रिश्तेदारों के साथ मिलकर खुशियां बांटते हैं और इस त्यौहार को मना कर आनंद प्राप्त करते हैं. बसंत पंचमी इतनी आनंददायक पर्व होती है किस में हर एक व्यक्ति पीले कलर के वस्त्र में होता है और पतंगे उड़ा कर आनंद प्राप्त करता है.

इस त्यौहार में लोग खेलते हैं हंसते हैं झूला झूलते हैं और पतंग उड़ाने के साथ-साथ अपनी खुशियों को आदान-प्रदान कर आनंद उठाते हैं. इस सुहावनी मौसम में लोहड़ी और होली दोनों त्यौहार मनाई जाती है जो बहुत ही रंग बिरंगी त्यौहार होती है, फागुन की पंचमी को बसंत पंचमी के मेले के रूप में माना जाता है जिसमें लोग आनंद लेते हुए इस मेले में घूमते हैं.

निष्कर्ष

बसंत ऋतु में मौसम सुहावनी होती है और रंग-बिरंगे त्योहार खेले जाते हैं जिसे खेल मानो बहुत ही आनंद प्राप्त करते हैं क्योंकि यह त्यौहार अपने परिवारों दोस्तों रिश्तेदारों से मिलकर खेली जाने वाली त्यौहार होती है. इन त्योहारों में सभी लोग एक दूसरे से मिलजुल कर खुशियां बांटते हैं.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment