खरगोश पर निबंध – Essay on rabbit in Hindi

खरगोश एक चौपाया जानवर के साथ साथ शाकाहारी जानवर भी होता है जो शाकाहारी भोजन का सेवन करता है. खरगोश दिखने में सफेद रंग के होने के साथ-साथ बहुत ही मासूम देखते हैं. इसलिए इस पशु को लगभग घरों में रखा जाता है और इसे इसकी पसंदीदा भोजन के अनुसार भोजन खिला कर इसका पालन पोषण किया जाता है.

खरगोश शाकाहारी भोजन का सेवन करते हैं और इन्हें खासकर गाजर बहुत ही पसंद होते हैं. खरगोश एक चालाक जानवर होते हैं जो हर एक चीज को चला कि प्रयोग करते हैं. कभी किसी से ठगे नहीं जाते हैं वह हमेशा अपना हर एक कार्य चला कि पूर्वक करते हैं.

खरगोश पर छोटे एवं बड़े निबंध – Long & Short Essay on Rabbit in Hindi for Class 6, 7, 8, 9, 10 students.

बच्चों आज हम आपके लिए चार निबंध खरगोश पर लाए हैं जो आपके लिए पढ़ने में बहुत ही आसानी होगी. इसे आप अपने क्लास के अनुसार पढ़ सकते हैं.

निबंध 1 (300 शब्द)

प्रस्तावना

खरगोश एक सरकारी पशु है जो दिखने में सफेद रंग के होते हैं और बहुत ही मासूम दिखते हैं. खरगोश खाने में शाकाहारी भोजन का सेवन करते हैं और उन्हें खासकर गाजर बहुत ही पसंद होती है. इतने मासूम दिखते हैं कि इन्हें पालतू पशु बनाकर लोग घर में इनका पालन-पोषण करते हैं. खरगोश एक चालाक पशु है जो हर एक कार्य चला कि से करता है इसलिए कभी किसी से ठगे नहीं जाते हैं बल्कि हर एक कार्य आसानी क्रोध करके निकल जाते हैं.

खरगोश की जीवन शैली

खरगोश की जीवन शैली बहुत ही आकर्षित रूप की होती है जिसमें खरगोश बहुत ही आकर्षक रूप कार्य करते हैं जिससे लोग इन्हें बहुत ही पसंद करते हैं और अपने घरों में लाकर रखते हैं.

खरगोश जंगलों में रहने वाला जानवर है जो जमीन में अपने नुकीले नाखूनों के सहायता से गड्ढे कर कर वहां रहते हैं. खरगोशों को अपने खरगोश प्रजातियों के साथ झुंड में रहना बहुत ही पसंद होता है वे हमेशा झुंड बनाकर रहते हैं. खरगोश बहुत ही चंचल स्वभाव के होते हैं और वह दिन भर उछल कूद करते रहते हैं.

खरगोश एक शाकाहारी पशु है जो खाने में हरी हरी सब्जियां घास पत्ते सभी प्रकार के शाकाहारी भोजन का सेवन करती है. खरगोश को अधिकतर गाजर खाना बेहद पसंद होता है और यह किसी भी भोजन को अपने दांतों के द्वारा कुतर कुतर कर खाते हैं. खरगोश की आयु सीमा 8 से 10 साल तक की होती है. यह जानवर देखने में इतना ही प्रिय लगता है कि इसे अधिकतर कोई अपने घरों में लाकर इनका पालन पोषण करते हैं.

निष्कर्ष

खरगोश बहुत ही प्यारा जानवर होता है जो हमें दिखने में बहुत ही प्रिय लगता है यह हमेशा उछल कूद करते रहते हैं इनके शरीर बहुत ही फुर्तीले होते हैं. यह बहुत ही चालाक जानवर होता है जो हर एक तारे अपना चालाकी पूर्वक करता है.

निबंध 2 (350 शब्द) 

प्रस्तावना

खरगोश एक चालाक जानवर होने के साथ-साथ बहुत ही बुद्धिमान जानवर  होते हैं जो अपना सारा काम बुद्धि से और चालाकी से करते हैं. इन्हें पकड़ पाना बहुत ही मुश्किल होता है क्योंकि यह शारीरिक रूप से बहुत ही फुर्तीला होते हैं और इनका शरीर बहुत ही लचीला होने के साथ-साथ इनके शरीर में बहुत ही घने बाल होते हैं जिस कारण इसे  ऊंचाई से गिरने के बावजूद भी चोट नहीं लगती. उनके घने बाल और उनका लचीला शरीर उन्हें सुरक्षित रखता है.

खरगोश की आयु 

खरगोश की आयु 8 से 10 साल तक की होती है, खरगोश 8 से 10 साल तक जीता है. खरगोश जब जन्म लेते हैं तब हुए 10 से 13 दिन तक कुछ नहीं कर पाते जैसे ही 14 दिन होती है खरगोश खुद से खाना स्टार्ट कर देते हैं उछलना कूदना स्टार्ट कर देते हैं, यह सारा क्रियाकलाप करना जन्म के 14 दिन बाद स्टार्ट कर देते हैं. मादा खरगोश की जनन  प्रक्रिया 1 महीने तक का होता है जिसने एक बार में 9 से 10 बच्चे को जन्म देती है. जब खरगोश के बच्चे जन्म लेते हैं उस समय उनके शरीर में एक भी बाल नहीं होती है और जैसे जैसे भी बड़े होते हैं उनके शरीर में बाल आना शुरू हो जाते हैं और धीरे-धीरे बहुत ही घना बाल आ जाते हैं. इसलिए हम लोग खरगोश के बालों से उन भी प्राप्त करते हैं.

खरगोश के रंग 

खरगोश धरती पर अनेक प्रकार के रंगों के पाए जाते हैं जैसे सफेद काले भूरे इत्यादि. हर रंग के खरगोश बहुत ही प्रिय दिखते हैं लेकिन सफेद रंग खरगोश व्यक्ति को बहुत ही ज्यादा भाता है और वे इसे अपने घरों में पालन-पोषण करके रखते हैं. इस धरती पर खरगोश की अनेक प्रजातियां पाई जाती है लेकिन भारत में दक्षिण अमेरिका में खरगोश बहुत ही ज्यादा देखने को मिलती है.

निष्कर्ष

खरगोश बहुत ही प्यारा जानवर होता है जिनके सुंदर सुंदर बालों से हमें उन प्राप्त हो. खरगोश के बाल बहुत ही मुलायम और घने होते हैं इसलिए वह अपने बालों को बहुत ही बचा कर रखते हैं. इनके बाल इनके शरीर को रक्षा प्रदान करती है.

इन्हे भी अवश्य पढ़ें:

निबंध 3 (450 शब्द) 

प्रस्तावना 

खरगोश एक शाकाहारी पशु है जो दिखने में सफेद रंग के होते हैं. यह एक बहुत ही फुर्तीला जानवर होता है जो अपना सारा चालाकीपूर्वक पूर्वक करते हैं.

खरगोश देखने में इतना प्यारे दिखते हैं कि बहुत कोई इन्हें जंगल में ना रख अपने घरों में रखकर इनकी पालन पोषण करते हैं और इन्हें इनकी पसंदीदा भोजन भी खिलाते हैं.

खरगोश की शारीरिक संरचना

खरगोश बिल्ली के आकार में होता है तथा इसके शरीर में वाइट रंग के घने बाल होते हैं जिससे उन भी निकाली जाती है. यह अपने बालों की सहायता से गर्मी और ठंडे के दिनों में अपने शरीर की रक्षा करते हैं. इनके एक नाक होते हैं जिनकी सहायता से यह सब कुछ सूंघ सकते हैं और इसकी सूंघने की क्षमता बहुत ज्यादा होती है.

खरगोश की 2 लंबी सी कान होती है, इससे उनकी किसी भी ध्वनि को सुनने की क्षमता बहुत ही अधिक होती है, इनके दोनों कानों की लंबाई 10 सेंटीमीटर तक होती है जिससे यह किसी प्रकार की भी ध्वनि हो वह सुन लेते हैं. खरगोश कम से कम ध्वनि को अपने कानों के द्वारा बहुत ही तेज गति से सुनने में सक्षम होते हैं. इसके साथ खरगोश की दो चमकीली आंखें भी होती है जिनमें 307 डिग्री का कोण बनता है और उनकी आंखें बहुत ही प्यारी  दिखाई देती है.

खरगोश के चार पैर होते हैं जिन की मांसपेशियां बहुत ही लचीली होती है इस मांसपेशियों की सहायता से यह बहुत ही लंबी छलांग लगाने में अपने आप को सक्षम बनाते हैं. इसके साथ साथ इनके पैरों के नाखून ए बहुत ही नुकीली होती है जिसकी मदद से यह अपने रहने का बिल बनाते हैं. खरगोश बिलों में रहते हैं.

खरगोश की प्रजातियां

खरगोश की अनेक प्रजातियां पाई जाती है, इस धरती पर खरगोश की लगभग 305 प्रजातियां पाई जाती है. हमारे देश में सबसे ज्यादा खरगोश दक्षिण अमेरिका में पाया जाता है, वहां अत्यधिक मात्रा में हमें खरगोश देखने को मिलती है.

इस दुनिया में खरगोश की अनेक प्रकार की प्रजाति होती है जैसे मैक्सिन , जर्सी वूली , मिनी लोप, पोलिस, तैपती, अलास्का इत्यादि.

इन सभी प्रजातियों का हमारे धरती पर वास है जो बहुत ही सुंदर प्रतीक होते हैं इन्हें हर कोई अपने घरों में रखना बेहद पसंद करते हैं क्योंकि इनका सफेद रंग दिखने में लोगों को बहुत ही आकर्षित करती है.

निष्कर्ष

खरगोश हमारी बहुत ही प्रिय पशु होती है क्योंकि इनका रंग सफेद होने के कारण और इसके साथ-साथ इनके लचीलापन शरीर बहुत ही प्यारी प्रतीक होती है सभी लोग खरगोश को रखने में रुचि रखते हैं. खरगोश बहुत ही चालाक जानवर होता है यह जहां भी रहते हैं अपने चालाकी से काम लेते हैं.

निबंध 4 (500 शब्द)

प्रस्तावना

खरगोश एक शाकाहारी पशु के साथ-साथ बहुत ही बुद्धिमान पशु होते हैं जो सभी पशुओं से ज्यादा चालाक होते हैं, यह अपना काम बहुत ही चालाकी पूर्वक करते हैं और हर चीज से चौकन्ना भी रहते हैं.

खरगोश दिखने में बहुत ही प्यारे प्रतीत होते हैं इसलिए इन्हें बहुत कोई अपने घरों में रखता है और इनका देखभाल करता है. खरगोश बच्चों के साथ भी खेलते हैं क्योंकि खरगोश का क्रियाकलाप उछल कूद करना होता है और बच्चे इनके साथ खेल कर अपना समय व्यतीत करते हैं.

खरगोश एक खुदाई करने वाला जानवर है

जंगल में खरगोश बिल बनाकर रहते हैं. यह बिल को अपने पैरों के नुकीले नाखून की सहायता से खोद  कर बनाते हैं. इनके नाखून बहुत ही नुकीले होते हैं जिनकी सहायता से यह मिट्टी को खोदते हैं और अपना रहने का बिल बनाते हैं इसलिए इन्हें खुदाई जानवर भी कहा जाता है. इनके दांत बहुत ही लंबे होते हैं लगभग 28 दांत खरगोश में पाए जाते हैं जिसकी सहायता से यह अपने खाना को कुतर कर  खाते हैं. इनकी दांत जीवन भर बढ़ते रहती है। गाजर को यह बहुत ही चाव से खाते हैं.

इनकी शारीरिक संरचना है बहुत ही अनोखी है जिस वजह से इन्हें बहुत लोग रखना पसंद करते हैं और इन्हें अपने घरों में पालते हैं और इनका ध्यान रखते हैं.

खरगोश के रहन-सहन एवं भोजन 

बहुत सारी खरगोश जंगलों में पाए जाते हैं जहां वे अपने प्रजातियों के साथ झुंड में रहना बहुत ही पसंद करते हैं इसके साथ-साथ हुए वहां रहने के लिए अपने नुकीले नाखून से जमीन में गड्ढा खोद बिल बनाकर रहते हैं. साथ-साथ वे अपने आप को शिकारियों से बचाने के लिए अपनी चालाक बुद्धि का इस्तेमाल करते हैं तथा अपने कानों का भी इस्तेमाल करते हैं क्योंकि इनके कान 10 सेंटीमीटर लंबे होते हैं जिससे कम से कम ध्वनि भी खरगोश आसानी पूर्वक सुन सकता है इस तरह अपने आप को शिकारियों से सुरक्षित रखता है.

खरगोश का चंचल स्वभाव

खरगोश बहुत ही तेजी से दौड़ता है जिसे पकड़ पाना बहुत मुश्किल होता है. यह दिन भर उछल कूद कर अपना टाइम को व्यतीत करते हैं.

खरगोश जब जन्म लेते हैं तब इनके शरीर में एक भी बाल नहीं होती जैसे-जैसे यह बड़े होते हैं वैसे वैसे उनके शरीर में बाल आना शुरू हो जाते हैं और लगभग 3 से 4 बार इन के बाल झड़ते हैं और नए बाल आते हैं इस तरह इनके बाल बहुत ही मुलायम और घने दार होता है. अपने बालों का बहुत ही ध्यान रखते हैं और इनका रखरखाव बहुत ही अच्छी तरीके से करते हैं खासकर खरगोश अपने बालों को गिला करने से बचाते हैं क्योंकि गीला होने पर इनके बाल झड़ने लगते हैं.

निष्कर्ष

खरगोश बहुत ही प्यारा पशु होता है जो हमें अनेक प्रकार से आनंद देता है, इनकी दिनभर की क्रियाकलापों को देख लोगों को बहुत ही आनंद मिलता है, लोग इसे अपने घरों में रख इनका देखभाल करने में रुचि रखते हैं इस तरह बहुत सारे खरगोश का पालन पोषण मनुष्य करते हैं.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment

×