मेरी मां पर निबंध – Essay on my mother in Hindi

मां सभी बच्चों के लिए जीवनदायिनी होती है जो बच्चे को जन्म देकर उन्हें इस धरती का रंग बिरंगा प्राकृतिक सौंदर्य दिखाती है. मां का हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान है क्योंकि मां अनेक कष्टों को झेल कर हमें जीवन प्रदान करती है इसलिए मां को भगवान द्वारा दिया गया वरदान भी कहा जाता है.

मां ममता और प्यार का एक प्रतीक मानी गई है जो अपने बच्चों को सदैव ममता और प्यार से भरपूर रखती है. मां हमें जीवन दान देती है जिससे हम इस धरती आ पाते हैं. मां ममता की देवी होती है जो अपने बच्चों की कष्टों को हर उनको खुशी प्रदान करती है.

मेरी मां पर छोटे एवं बड़े निबंध – Long and Short Essay on My Mother in Hindi

बच्चों आज हम आपके लिए चार निबंध मेरी मां पर लाए हैं जो आपके लिए पढ़ने में बहुत ही आसानी होगी. इसे आप अपने क्लास के अनुसार पढ़ सकते हैं.

निबंध 1 (250 शब्द) 

प्रस्तावना

मां वह होती है जो हमें जन्म देकर इस धरती पर लाती है. मां हमें हर तरह के प्यार दुलार देकर हमारा पालन-पोषण करती है. मां हमारे जीवन के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा होती है जो हमारी सभी दुखो को दूर कर हमारे चेहरे में खुशी लाती है. मां का उपकार हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि इस दुनिया में मा ही होती है जो हमें निस्वार्थ भावना से प्यार कर हमारी जिंदगी को अच्छा बनाती है.

हमारे जीवन में मां का महत्व

मां हमारे सुख के लिए अपनी खुशी का बलिदान कर देती है और हमें मां की ममता प्रदान करती है. छोटे बच्चे जब जन्म लेते हैं उस बच्चे का हर दुख मां हर लेती है और उन्हें सुख प्रदान करती है. हमारे जीवन में मां का महत्व बहुत ही महत्वपूर्ण है मां दया की देवी होती है जो हमारे जीवन में अनेक प्रकार की दया का कृपा बरसाती है. मां का हमारे जीवन में होने से हमारा जीवन एक रंग बिरंगी खुशहाली जीवन बन जाती है जिसमें हमें किसी भी चीज का कोई भी कष्ट नहीं होता, मां हमारे लिए सभी कष्टों को दुखों को छिपाकर हमें बस निस्वार्थ रूप से प्यार करती है.

निष्कर्ष

मां हमारे जीवन का वह महत्वपूर्ण हिस्सा होती है जिससे हम अपनी सारी दुखों और खुशियों को बांट सकते हैं, मां कभी बच्चों से नाराज नहीं होती बल्कि मां हमारे लिए ममता और प्यार का सागर होती है जो हमेशा अपने बच्चों पर बरसाते रहती है.

निबंध 2 (350 शब्द) 

प्रस्तावना

मां अपने बच्चों के लिए एक करुणा की देवी होती है जो हमेशा अपने बच्चों को सुख रखने का प्रयास करती है . मां कभी अपने बच्चों को नाराज नहीं देख सकती क्योंकि वह अपने बच्चों से अत्यधिक प्यार करती है और इनकी खुशी के लिए मां अपने खुशियों को अपने आप से दूर कर सकती हैं. मां बिना जिंदगी ऐसे हैं जैसे बिना हरियाली का वातावरण.

मातृत्व का संबंध 

मां के रूप में एक स्त्री अपने अपने संतानों के सभी परेशानियों को अपने ऊपर ले कर बच्चों की जिंदगी खुशमय बनाती है. लोग कितने भी बड़े हो जाए लेकिन मां के लिए वह छोटा सा बच्चा ही होता है जब भी किसी को बहुत ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है तब यदि वे अपने मां के आंचल में जाकर छिप जाए तो ऐसा प्रतीत होता है जैसे मां उनकी सभी परेशानियों को अपने में लेकर उनको परेशानी मुक्त कर दी है. इसलिए इस धरती पर मां को अत्यधिक सम्मान और प्यार दिया जाता है.

मां मेरी मित्र

मां हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाती हैं जिससे हमारा जीवन और ज्यादा बेहतर होते जाता है. मां और बच्चों का संबंध ऐसा संबंध होता है जैसे मछली और पानी का संबंध. जिसकी मां नहीं होती उनका जिंदगी खाली-खाली लगता है क्योंकि मां हमारे जीवन का वह हिस्सा है जो हमें कभी खालीपन का एहसास नहीं होने देती वह हमारी हर मुसीबतों को पूछ कर हमारे सारी मुसीबतें का हल निकाल देती है.

हमारे जीवन में प्रेरणा का महत्व

इन सभी से हमें महत्वपूर्ण प्रेरणा मिलती है लेकिन बचपन से जो हमें प्रेरणा सिखाती है वह हमारी मां है जो हमें हर मुश्किलों का सामना दटके करना सिखाती है, कभी हमें यह नहीं सिखाती कि किसी मुश्किल से डर के पीछे हटो वे हमेशा यह सिखाती है कि हर मुश्किल का सामना धैर्य और संयम रखकर करनी चाहिए जिससे हमें उस मुसीबत में सफलता मिल पाती है.

निष्कर्ष

मां हमारे जीवन में इतनी महत्वपूर्ण हिस्सा होती है जितना कि हमारे जीवन को जीने के लिए पानी की आवश्यकता. जिस तरह लोग पानी के बिना जीवित नहीं रह पाते ठीक उसी प्रकार मां के बिना हर बच्चे का जीवन अधूरा सा रहता है.

निबंध 3 (450 शब्द) 

प्रस्तावना 

मां हमारे जीवन की महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसे इस धरती पर महान दर्जा दिया गया है जिसकी तुलना इस धरती पर किसी भी चीजों से नहीं की जा सकती. मां कष्टों को हरने वाली देवी होती है जो अपने संतानों की विभिन्न प्रकार के कष्टों को अपने ऊपर ले कर अपने बच्चों को खुशी और स्नेह प्रदान करती है.

एक आदर्श जीवन के लिए मां की शिक्षाएं

मां अपनी संतान के जीवन में हमेशा एक करुणा देवी के रूप में उनका जीवन बेहतर बनाती है अपने संतान के जीवन में अनेक प्रकार की करुणा और दया प्रदान कर अपने बच्चों की जीवन बेहतर बनाती है.

बच्चों के लिए मां एक प्रारंभिक शिक्षिका होती है जिनके द्वारा बच्चों को सदैव अच्छे संस्कार प्रदान किए जाते हैं जिससे उनका बच्चा एक नेक बच्चा बन सके इसके साथ साथ मां अपने बच्चों को अच्छे संस्कार अच्छे गुण तथा अनेक प्रकार की अच्छी विचारे भी प्रदान करती है जिससे उनके बच्चे गलत मार्ग में ना जा सके.

मां हमारी सबसे अच्छी शिक्षक

मां अपने सभी बच्चों के लिए एक प्रारंभिक शिक्षक होती है क्योंकि मां अपने बच्चों को हर दिन के क्रियाकलापों के कार्य को करने के लिए धीरे-धीरे उन्हें सिखा कर उनको अपने काम खुद करने को सिखाती है जैसे सुबह उठकर ब्रश करना, नहाना, कपड़े पहनना, खाना खाना इत्यादि.

मां हमें सिर्फ पढ़ाई से संबंधित शिक्षा नहीं देती बल्कि इस जीवन में हम अपने आप को कैसे ढालें और इस रफ्तार से चल रही दुनिया में हम अपने आपको इसकी पटरी पर कैसे चढ़ाएं वह भी सीख हमें मां से मिलती है.

मां ईश्वर का दूसरा रूप

मां हमें उन सभी सुविधाओं को देती है जो हमें आवश्यक होता है, मां हमें कभी निराश नहीं देख सकती इसलिए वह हर एक वह कार्य करती है जिससे हमें आवश्यकता अनुसार चीजों की पूर्ति कर सकें. मां के जैसा हमें दयालु रूप से प्यार करने वाला इंसान इस धरती पर कोई नहीं है इसलिए हमें मां का आदर और सम्मान करना चाहिए. अपनी खुशियों को साइड में रख हमारी खुशियों में शामिल होकर हमें खुश करती है. बच्चों के लिए मां एक संवेदनशील स्त्री है जो उनके कष्टों को हर उन्हें हर प्रकार की खुशियों को प्रदान करती है जिससे उनके बच्चे हमेशा खुश रहें.

निष्कर्ष

हमें मां द्वारा जितना भी निस्वार्थ रूप से प्यार मिलता है उतना हमें मां को भी निस्वार्थ रूप से प्यार देना चाहिए क्योंकि मां हमेशा अपने बच्चों के दुख में दुखी होती है तथा उनके सुख में खुश होकर सभी के बीच खुशियां बढ़ती है. इसलिए जब मां बूढ़ी हो जाती है तो उन्हें उसी प्रकार प्यार देना चाहिए जिस प्रकार जब हम छोटे रहते हैं और मां हमें निस्वार्थ रूप से प्यार कर हमारा पालन-पोषण करती है.

निबंध 4 (600 शब्द) 

प्रस्तावना

मां एक ममता की देवी होती है जो हमें बचपन से लेकर बड़े तक प्यार करती है. हमारे मां के आंचल में वह खुशी के पल होते हैं जो हमें इस दुनिया में कहीं नहीं मिलती इसलिए हर एक लोग जो अपनी जिंदगी से परेशान रहते हैं वे जब अपनी मां के गोदी में जाकर सोते हैं तो उन्हें जन्नत का सुकून मिलता है.

हमारे जीवन में प्रेरणा का महत्व

हमें अपनी जिंदगी को जीने के लिए प्रेरणा की बहुत ही आवश्यकता होती है क्योंकि प्रेरणा हमें बल और बुद्धि प्रदान करती है जिससे हम कठिन से कठिन कार्यों को करने में सक्षम हो पाते है . प्रेरणा एक ऐसी सकारात्मक अनुभूति होती है जो हमें अंधेरे से प्रकाश की ओर ले जाने में हमारी सहायता करती है.

प्रेरणा से हमें वह सकारात्मक शक्ति मिलती है जिससे हम किसी भी मुश्किल का सामना धैर्य और संयम रखकर कर पाने में सफल होते हैं. प्रेरणा हमारे जीवन के लिए बहुत ही आवश्यक है क्योंकि प्रेरणा हमें अनेक प्रकार की अच्छे विचार प्रदान करती है जिससे हमारा सोच कभी नकारात्मक नहीं होता. सकारात्मक सोच रखने पर हर व्यक्ति के जीवन में हर एक पल अच्छा गुजरता है और नकारात्मक सोच रखने पर जिंदगी खराब होती चली जाती है.

हमें किसी ना किसी से प्रेरणा मिलती है और जीवन को जीने के लिए हमें अनेक व्यक्तियों से प्रेरणा लेनी पड़ती है जैसे हमारे घर के बुजुर्ग, बड़े लोग, बड़े भाई बहन इसके साथ साथ कई इतिहास में लिखित विचारों से भी हमें प्रेरणा मिलती है.

मां का अपने बच्चों के प्रति श्रद्धा

 मां अपने बच्चों को बहुत ही प्यार से पाल पोस कर बड़ी करती है और उन्हें हमेशा बुरी नजरों से दूर रखती है ताकि उनका जीवन खुशी पूर्वक बीते. मां हमेशा सभी मुश्किलों को अपने आप में लेकर बच्चों को खुशी प्रदान करती है और उस मुश्किल का सामना वह खुद करती है.

मां हमारे जीवन के लिए अच्छी कामना करती है जिससे हमारा जीवन अच्छा हो सके इसलिए वे अपने बच्चों के लिए पूजा रखती है दिन भर भूखे रह कर पूजा कर भगवान से अपनी संतानों के लिए खुशी मांगती हैं और उनके जीवन में उनकी सफलता मांगती है.

हमारी मां हम लोगों की अच्छी जीवन के लिए दुआ करती है. इसलिए हमें भी अपने मां को हमेशा खुश रखना चाहिए अब बहुत सा प्यार देना चाहिए.

मां के प्रति हमारा कर्तव्य 

मां हमारे जीवन का वह अमूल्य धन है जो यदि एक बार खो जाए तो हम उन्हें दोबारा नहीं पा सकते हैं हम जितना भी कोशिश कर ले वह हमारी जिंदगी में फिर लौट कर नहीं आती है इसलिए हमें मां के प्रति जो कर्तव्य है वह पूरी करनी चाहिए क्योंकि मा ही एक ऐसी महत्वपूर्ण हिस्सा है हमारी जिंदगी का जो हमें हमेशा प्यार और स्नेह दिया है. इनकी प्रेरणा और शिक्षा से ही हम अपने जिंदगी में आगे बढ़ पाते हैं इसलिए हमें मां को सम्मान और प्यार देकर उन्हें प्यार से भरपूर रखना चाहिए.

जब हमारी मां वृद्धावस्था में होती है तो हमें उनका सम्मान और प्यार से प्रतिदिन उनके खाने-पीने का ध्यान उनके हर एक आवश्यक चीजों का ध्यान रखना हमारा कर्तव्य है.

निष्कर्ष

हमारी मां हमारे लिए हमारे जिंदगी की बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है जो हमें हर कदम पर हमारा साथ देती है और हमें प्यार और प्रेरणा देकर हमारे जिंदगी को खुशहाल बनाने में अपना योगदान देती है.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment

×