मातृ दिवस पर निबंध – Essay on mother’s day in Hindi

मां जगत की जननी होती है अपने बच्चों को जन्म देकर उन्हें जिंदगी प्रदान करती है. माता हमें बचपन से लेकर बड़े तक निस्वार्थ भावना से प्रेम करती है और हमारी देखभाल करती है.

एक मां संतान को धरती पर लाकर उनका पालन पोषण कर उन्हें इस जीवन में जीने योग्य बनाती हैं. अपने बच्चों के दिन भर के क्रियाकलापों में मदद करती हैं और उनका ध्यान रखती है. मां का दर्जा इस दुनिया में किसी को नहीं मिल सकता क्योंकि माता भगवान द्वारा दिए गए अमूल्य उपहार होती है. इसलिए हम लोग मातृ दिवस बनाकर अपनी मां का सम्मान और प्यार देते हैं.

मातृ दिवस पर छोटे एवं बड़े निबंध – Long and Short Essay on mother day in Hindi for Class 6, 7, 8, 9, 10 Students

बच्चों आज हम आपके लिए चार निबंध मातृ दिवस पर लाए हैं जो आपके लिए पढ़ने में बहुत ही आसानी होगी. इसे आप अपने क्लास के अनुसार पढ़ सकते हैं.

निबंध 1 (250 शब्द) 

प्रस्तावना

हमारी मां हमारी जिंदगी में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है क्योंकि माता का प्यार हमारे लिए वह अनमोल प्यार होता है जो इस धरती पर हमें कोई इंसान नहीं दे सकता. मां की कृपा हर बच्चों में सदा बनी रहती है क्योंकि बच्चे की हर क्रियाकलाप में माता ध्यान देती है और उन्हें दिन भर देखभाल करती हैं.

माता का हमारे प्रति प्यार

इस धरती पर एक मां ही होती है जो हम लोगों को निष्ठा पूर्वक प्यार देकर हमारी जिंदगी को बहुत ही प्यारे ढंग से संवारती है. मां की ममता बहुत ही लोभनीय होती है. हर एक बच्चे पर मां का आशीर्वाद सदा ही बना रहता है तभी वह बच्चा अपने जिंदगी में आगे बढ़ पाता है और अपना मुकाम हासिल कर पाता है.

मां हमें अनेक रूप से प्रेम देकर हमारी जिंदगी बेहतर बनाती है, वे कभी दोस्त बनकर हमें प्यार करती है तो कभी शिक्षक बनकर हमें शिक्षा प्रदान कर प्यार करती है तो कभी पिता बनकर प्यार करती है. मां हमारे सभी आवश्यकताओं की पूर्ति कर हमें खुश करती है और अच्छी जिंदगी के लिए भगवान से प्रार्थना  करती है .

मम्मी जो हमें अत्यधिक प्रेम कर हमारी देखभाल करती है और हमें अच्छे संस्कार देती हैं उन्हें सम्मानित करने के लिए मातृ दिवस पर हम उन्हें ढेर सारा प्यार खुशियां और सम्मान देते हैं.

निष्कर्ष

हमारी जिंदगी के लिए मां का होना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि एक जननी हर दुखों को झेल कर अपने बच्चों को सुख प्रदान करती हैं और जहां तक संभव होता है अपने बच्चे की हर एक जरूरत को पूरा करने में अपनी भूमिका निभाती है.

निबंध 2 (300 शब्द)

मां का हमारे प्रति निष्ठावान प्यार हमारे जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि बिना मां के प्यार और आशीर्वाद का अपने जिंदगी में आगे बढ़ना नामुमकिन है. माता हमें  निस्वार्थ रूप से प्यार करती है और उन्हीं प्यार को हमें मां को देते हुए हम मातृ दिवस को मना कर मां को सम्मान और प्यार प्रदान करते हैं.

मातृ दिवस का शुरुआत

मातृ दिवस सर्वप्रथम रूस देश में मनाया जाने वाला मां के प्रति पहला दिवस था जिसे वहां के लोग मातृ दिवस पर बहुत ही उत्साह पूर्वक तथा अनेक तरह के कार्यक्रमों को कर इस दिवस को मनाते थे. इसके पश्चात यह दिवस धीरे-धीरे हर देश के हर क्षेत्र में मनाया जाने वाला बहुत ही महत्वपूर्ण दिवस बन गया है जो मई के दूसरे रविवार को मनाया जाता है. माता शीतलता और धैर्य का प्रतीक होती है जो बच्चों के लिए अपनी खुशी को बलिदान कर उन्हें प्यार प्रदान करती है. मां हमें इस धरती पर लाने के साथ साथ हमारी देखभाल और हमारा ध्यान रखती है.हमारी  सारे दुखों को मां हर लेती है. मां बच्चों के लिए जितनी कुर्बानियां देती है और जितना प्यार लुटाती है उतना हमें भी मां को प्यार देना चाहिए. इसलिए हर क्षेत्र में मातृ दिवस मना कर हम अपने मां को सम्मान इज्जत और बहुत सा प्रेम देते हैं.

विद्यालय में मातृ दिवस मनाना

मातृ दिवस हर लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण दिवस माना जाता है जिसे लोग बहुत है उत्साह पूर्वक मना कर अपने माताओं को खुश करते हैं. जितने भी बच्चे विद्यालय में पढ़ाई कर रहे होते हैं उनके विद्यालय द्वारा मातृ दिवस पर सभी बच्चों के माताओं को आमंत्रित किया जाता है और उस दिन बच्चों द्वारा अनेक प्रकार के प्रतियोगिता की जाती है जिसमें कुछ बच्चे अपने माता के लिए प्यारा गीत गाते हैं तो कोई प्यारे गीत पर डांस करते हैं तथा कोई अपनी माता के लिए कविता पढ़ते हैं तो कोई अपनी मां पर निबंध बोलते हैं. बच्चे अपनी मां के चेहरे में खुशी लाने के लिए इन सभी क्रियाकलापों को करते हैं. इसके दौरान मां को सम्मानित और उपहार भी दिए जाते हैं.

निष्कर्ष

हम लोगों कि जिंदगी में जिनकी महत्व कई अनमोल चीजों से भी ज्यादा होती है वह मां का प्यार होता है. इसलिए हम सब मातृ दिवस में अपने मां को सम्मान और प्यार देकर इस दिवस को बहुत ही उत्साह पूर्वक बनाते हैं.

निबंध 3 (400 शब्द)

प्रस्तावना

मां का हमारे जीवन में होना ही एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात है क्योंकि हमारे जीवन की शुरुआती से मरते दम तक मां का आंचल हमारे सर पर होता है, मां के बिना इस धरती पर बच्चों  की जिंदगी ठीक उस प्रकार है जिस प्रकार बिना बारिश के फसल. इसलिए मातृ दिवस को मनाने के लिए हमें हर एक वह चीज करनी चाहिए जिससे हमारी मां के चेहरे में खुशी आ सके.

मातृ दिवस का इतिहास

मातृ दिवस उस जननी के लिए मनाया जाता है जो हमारे जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है इसके साथ वह हमारे जीवन में हमारी जिंदगी के लिए बहुत ही अहम भूमिका निभाती है.

मातृ दिवस ग्रीक देवताओं की मां पर आधारित है. ग्रीक देवताओं की माता के सम्मान में यह दिवस मनाया जाता था इस दिवस को मना कर वे देवताओं की जननी को सम्मानित करते थे. एशिया माइनर तथा रोम के आसपास क्षेत्रों में मातृ दिवस मई के दूसरे रविवार को मनाया जाता है. यह दिवस उन लोगों के लिए इतनी खास होती है कि वह अति उत्साह पूर्वक इस दिवस को मना कर अपनी माताओं को सम्मान और इज्जत देते हैं.

घरों में मातृ दिवस बनाना

जिस तरह इस धरती को धरती माता संभालने के साथ-साथ संजो कर रखती है ठीक उसी प्रकार हमारी माता हमारे जिंदगी को बहुत ही सुंदर ढंग से  संवारती है. हमें निष्ठावान और निस्वार्थ भावना से प्रेम कर इस दुनिया के किसी भी दुख को हम तक आने से रुकती है. मां का हमारे प्रति प्यार बहुत ही सादगी पूर्वक होती है.

इसलिए कई वर्षों से चला आ रहा यह रिवाज आज भी सभी घरों में अपनी माताओं को खुश और प्रेम देकर इस त्यौहार को बहुत ही उत्साह पूर्वक मनाते हैं. इस दिन हम अपने घरों में केक बनाकर तथा अन्य अनेक प्रकार के पकवानों को बनाकर इस उत्सव का आनंद उठाते हैं और अपने मां के लिए विभिन्न तरह के उपहार भी खिलाते हैं.

कुछ बच्चे घर को सजावट कर इस त्योहार को मनाते हैं तो कुछ बच्चे अपनी माताओं के लिए अनेक प्रकार के उपहार देकर उन्हें खुश करते हैं इस तरह हर घर में मातृ दिवस अपनी माताओं को सम्मानित करने के लिए और खुश रखने के लिए मनाया जाता है.

मातृ दिवस पर मां को दिए गए उपहार

बच्चों मातृ दिवस को इतने उत्साह पूर्वक मनाते हैं कि उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहता क्योंकि उनकी मां उनके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होती है इसलिए वे अपनी माताओं की खुशी के लिए इस दिवस को बहुत ही शानदार तरीके से मना कर अपनी जननी को खुशियां प्रदान करते हैं.

इन दिनों में छोटे बच्चे अपने कोपियो के पन्नों को फाड़ कर अनेक तरह के उपहार बनाते हैं जैसे नाव, सांप, गुड़िया इत्यादि इन सभी चीजों को पन्नों से बनाकर अपनी माताओं को मातृ दिवस पर देते हैं. कुछ बच्चे अपनी मम्मी के लिए बहुत सा प्यारा प्यारा चित्र बनाते हैं जिसमें वह चित्र उनकी माता का होता है या तो उनके पूरे परिवार का होता है, उपहार को देकर वे उनके चेहरे में खुशी लाते हैं.

कुछ बच्चे अपनी मां को साड़ियां, ज्वेलरी, सोने के कंगन, इत्यादि यादगार चीजें देकर उन्हें सम्मानित करते हैं और खूब सारा प्यार बांटते हैं. बच्चे अपने मां को खुश करने के लिए उन्हें उनकी शादियों से संबंधित फोटो को फ्रेम में बनवा कर उन्हें गिफ्ट करते हैं जिससे उनकी मां खुश हो जाती है.

इस तरह से मातृ दिवस पर बच्चे अपने मां को अनेक प्रकार के उपहारों को देखकर उनके चेहरे में खुशियां लाते हैं. लेकिन एक मां हमेशा अपने बच्चों की प्यार चाहती है ना कि उपहार, इस दिन हर बच्चा मां को उपहार देने के साथ-साथ उन्हें ढेर सारा प्यार भी देते हैं.

निष्कर्ष

मां हमें बचपन से लेकर आज तक जितने भी मुश्किलों का सामना किए हैं हमें उन मुश्किलों को उनके जिंदगी से दूर करनी चाहिए और उन्हें ढेर सारा प्यार देकर उनकी जिंदगी खुशियों से भर देनी चाहिए ,यह हमारा कर्तव्य है अपने मां के प्रति ,जो हर बच्चे को निभानी चाहिए.

निबंध 4 (600 शब्द) 

प्रस्तावना

मां के द्वारा हमारे जीवन में दीया गया हर तरह का प्यार बहुत ही महत्वपूर्ण होता है जिसे हम किसी भी चीज से तुलना नहीं कर सकते. इसलिए हर क्षेत्र में मातृ दिवस मई के दूसरे रविवार को मना कर माताओं को सम्मान और प्यार दिया जाता है. इस दिवस में लोग अपने मम्मी को बहुत ही प्यारा प्यारा तोहफा और ढेर सारा खुशियां देते हैं. मातृ दिवस हर एक बच्चा के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिवस होता है. 

मातृ दिवस का महत्व

एक माता अपने बच्चों की जिंदगी के लिए बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा होती है जिनकी जगह कोई भी नहीं ले सकता. मां के द्वारा अपने बच्चों को दिया गया प्यार और उनके द्वारा किया गया देखभाल बच्चों की जिंदगी के लिए बहुत ही प्यारा सा पल होता है जो बच्चे कभी खोना नहीं चाहते. मां की जिंदगी में उनका संतान उनके लिए सब कुछ होता है इसलिए वह अपना सारा जिंदगी बच्चों की देखरेख में न्योछावर कर देती है. एक जननी अपने संतान की देखभाल शुरुआत से लेकर अंतिम सांस तक करती है. माता अपने बच्चों पर कभी किसी भी विपत्ति का साया भी नहीं आने देती क्योंकि बच्चे इनके जिंदगी का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा होते हैं जिसे मां कभी खोना नहीं चाहती. हमारी मां हमारे लिए हर कष्टों को झेल कर हमें प्यारा सा मीठा सा समय देकर हमारे जीवन में खुशियां लाती है.

मां का महत्व हर एक बच्चा के जिंदगी में बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि उनके जीवन में मां का आशीर्वाद बना रहता है जिससे वह अपने जिंदगी को आगे अच्छे तरीके से जी पाते हैं. मां बाप का आशीर्वाद से बड़ा आशीर्वाद इस दुनिया में कुछ नहीं है इसलिए हमें अपने कर्तव्य को समझ कर अपने माता-पिता के प्रति अपना कर्तव्य निभाना चाहिए. क्योंकि माता वह इंसान है जो हमें कभी रोते हुए नहीं देख सकते, हमारी खुशियों के पल में अपने गमों को भूल कर खुश होकर हमारे चेहरे में मुस्कान लाती है तथा हमारे दुखों में दुख होकर अपने आंसू बहाती है. मां का प्यार इस जनम में हमें कोई नहीं दे सकता इसलिए हमें मां इज्जत सम्मान और ध्यान रखना चाहिए. मां को कभी नाराज नहीं करना चाहिए.

मां दया की देवी होती है जो हमारे जीवन में दया और प्यार बरसाते रहती है इसलिए बरसों से चला आ रहा यह मातृ दिवस हर बच्चों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिवस है,इस दिवस में वे अपने मम्मीयो से अत्यधिक प्रेम कर और सम्मान देकर इस दिवस को बहुत ही आनंद लेते हुए मनाते हैं और अपनी मां को खुश करते हैं. मातृ दिवस हर एक बच्चों के लिए सभी दिवसों में से खास दिवस होता है जिसे बच्चे बहुत ही खुशी और आनंद से इस दिवस को मना कर अपने मां को बहुत सारे तोहफा देते हैं और उनके चेहरे में मुस्कुराहट लाते हैं.

मातृ दिवस बच्चों के लिए महत्वपूर्ण दिवस है

हर बच्चे इस मातृ दिवस को बहुत ही आनंद रूप से मनाते हैं क्योंकि हर बच्चों के लिए उनकी जिंदगी में उनकी मां बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा होती है, इसलिए बच्चे मातृ दिवस में अपनी प्यारी सी मम्मीयो का फेस में मुस्कान लाने के लिए अनेक प्रकार के अच्छे अच्छे कार्यों को कर अपनी मां को प् गर्व महसूस कराते हैं.

बच्चे इस प्यारे से त्यौहार को मना कर अपने जननी को अनेक प्रकार की खुशियां प्रदान करते हैं जैसे केक काटकर, उन्हें उपहार देकर, उनके पुराने पलों को याद करवा कर, तथा अन्य बहुत से महत्वपूर्ण विचारों को अपने मां के सामने व्यक्त कर मातृ दिवस को मनाते हैं.

एक माता द्वारा हमारे जीवन में दिए गए जितने भी खुशी के पल होते हैं वह हम मातृ दिवस में मना कर अपनी मम्मी को प्यार देकर व्यक्त करते हैं, हर बच्चों के लिए प्रतिदिन मातृ दिवस होता है प्रत्येक बच्चे को अपनी मां पर नाज होता है क्योंकि इस दुनिया में माता ही एक ऐसे इंसान हैं जिससे बच्चा अपने सारे दुख खुशी बांटते हैं इसलिए मां हम लोगों के लिए दोस्त के रुप में भी अपने प्यार को बांटती है और हमारे दोस्त बनकर हमारे सभी ग़मों को खुद के ऊपर ले कर हमें कष्ट मुक्त करती है. इसलिए हमें अपनी माताओं को सम्मान और इज्जत के साथ साथ प्यार देना आवश्यक है क्योंकि यह एक बच्चा का कर्तव्य होता है जो उसे निभाना चाहिए.

मां के द्वारा दिया गया प्रेरणा 

प्रेरणा हमारे जीवन में बहुत ही अहम भूमिका निभाती है क्योंकि प्रेरणा एक ऐसी चीज है जो हमें सद मार्ग में चलने योग्य बनाती है. यदि हमें अच्छी प्रेरणा किसी से प्राप्त हो रही है तो हमारा विचार हमारा कर्तव्य हमारा रहने का रंग ढंग सब चीज एक नेक इंसान के जैसा होने लगता है. किसी दूसरे से प्रेरणा लेकर हम अपने विचारों को बदलते हैं और सकारात्मक विचार लाते हैं.

जब हम जन्म लेते हैं तो हमारा मुंह से निकला हुआ पहला शब्द मां होता है जो हमें मरते दम तक निस्वार्थ प्रेम करती है. मां द्वारा हमें अनेक प्रकार की प्रेरणा मिलती है जिससे हमारा जीवन और भी बेहतरीन हो जाता है. वे हमें सीख देती है कि हमें कभी दूसरों का बुरा नहीं करना चाहिए, जहां तक संभव हो दूसरों की मदद करनी चाहिए, किसी का अनादर कर उन्हें निंदा नहीं करनी चाहिए, हमेशा अच्छे विचारों के साथ अपनी जिंदगी जीनी चाहिए इत्यादि . मां हमें बचपन से ही अच्छे विचारों को हमारे मन में प्रवेश कराते रहती है जिससे हम जब बड़े होते हैं तो हमारा वही विचार और हमारा वही रंग ढंग नेक इंसान के रूप में उभर कर बाहर आता है.

मां का योगदान हमारे जीवन में बहुत ही अहम रहती है इसलिए हम मातृ दिवस को मना कर अपनी मां को सम्मान देते हैं और उन्हें खुश करते हैं. इसलिए मातृ दिवस पर बच्चों के लिए सबसे महत्वपूर्ण दिवस माना जाता है

मां का हमारे प्रति ध्यान

मां अपने बच्चों की देखभाल के लिए एक पैर में खड़ी रहती है बच्चों की आवश्यकता की पूर्ति समय समय में मां के द्वारा किया जाता है. प्रतिदिन के क्रियाकलापों को सुबह उठकर बच्चों को मां करवाती हैं जैसे ब्रश करवाना, नहाना, नाश्ता करवाना इत्यादि .

मां का हमारे स्वास्थ्य प्रति ध्यान बहुत ही ज्यादा रहता है. हमेशा अपने बच्चों को स्वास्थ्य रूप में देखना चाहती है इसके लिए वह हमेशा पोस्टिक आहार बच्चों को खिलाती है जैसे दूध, हॉर्लिक्स , प्रोटीन वसा संबंधित खाना इत्यादि.

अपने शरीर का ध्यान ना दे कर हमारे हर एक आवश्यकता की पूर्ति करती हैं. हम सबसे जल्दी उठकर हमारे लिए नाश्ता तैयार करती है ताकि हमारा सुबह का नाश्ता समय पर हो सके, सबको खिलाने के बाद वे बाद में भोजन ग्रहण करती है. यदि बच्चों की तबीयत खराब हो जाए तो मम्मी पूरे घर को सर पर उठा लेती है और उन्हें ठीक करने का जल्द से जल्द प्यास करते हैं. हमारे स्वास्थ्य के प्रति उनकी चिंता बहुत ही ज्यादा रहती है इसलिए वह अपने बच्चे का हर एक चीज का ध्यान बहुत ही अच्छी तरीके से रखती है.

मां हमें अनेक प्रकार से प्यार कर हमारे हर आवश्यकताओं की पूर्ति करने के साथ-साथ हमारे स्वास्थ्य का ध्यान भी बहुत ही अच्छी तरीके से रखती है. इसलिए हमारा कर्तव्य बनता है कि हम अपने मां का ध्यान ठीक उसी प्रकार रखें जिस प्रकार वह हमारा ध्यान रखा करती थी. उनके खाना से लेकर उनके स्वास्थ्य का ध्यान हमें बहुत ही अच्छे तरीके से रखनी चाहिए तथा उनको समय भी देनी चाहिए.उनके साथ बैठ कर उनके बाते सुननी चाहिए.

मां हमारे जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा होती है जो हमें हर तरह के प्यार दे कर हमारी जिंदगी खुशियों से भर देती है. इसलिए हम मातृ दिवस बहुत ही उत्साह और निष्ठा पूर्वक बनाकर अपनी माताओं को खुश करने का प्रयास करते हैं. मातृ दिवस हर राज्य के हर क्षेत्र में बहुत ही उत्साह से मनाया जाने वाला दिवस होता है जिसे अनेक प्रकार के कार्यों को कर मां के फेस में मुस्कुराहट लाने के लिए मनाया जाता है.

निष्कर्ष

मां जितने भी हमें प्यार देती है वह किसी से तुलना करने के लायक नहीं होता क्योंकि मां का प्यार निस्वार्थ भाव से किया हुआ प्यार होता है इसलिए हमें भी अपनी माताओं को उन सभी  खुशियों से परिचित कराना चाहिए जो वह हमें बचपन के समय से लेकर बड़े तक देती है. उनको हर पल हमें खुश रखना चाहिए ताकि उनका मन कभी उदास ना हो. हमें उनको प्यार देकर संसार की सभी खुशियां देनी चाहिए.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment

×