बैडमिंटन पर निबंध – Essay on badminton in Hindi

बैडमिंटन एक बहुत ही पॉपुलर गेम है जिसे बच्चों के साथ-साथ बूढ़े भी खेलने में रुचि रखते हैं. इसीलिए आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम बच्चों के लिए बैडमिंटन पर निबंध (Essay on badminton in Hindi) तैयार किये हैं.

यह खेल हमारे देश में बहुत ही प्रसिद्ध खेल माना जाता है जिसे हर कोई खेलने में रुचि रखता है. इस खेल को खेल कर लोग अक्सर अपने एक्सरसाइज भी कर लेते हैं.

इससे यह खेल बॉडी को फिट रखने के लिए भी खेला जाता है.

बैडमिंटन पर छोटे एवं बड़े निबंध – Long and short essay on badminton in Hindi?

Essay on badminton in Hindi

बच्चों आज आपके लिए चार निबंध बैडमिंटन पर लाए हैं जो आपके लिए पढ़ने में बहुत ही आसानी होगी. इसे आप अपने कस के अनुसार पढ़ सकते हो.

निबंध 1-(250 शब्द)

 प्रस्तावना

बैडमिंटन सभी खेलों में से यह भी एक प्रमुख खेल है जो पूरे विश्व में खेला जाता है इस खेल को बच्चे बहुत ही उत्सुकता पूर्वक खेलते हैं और इंजॉय करते हैं इसके साथ बैडमिंटन खेल बहुत ही लोकप्रिय खेल है जिसे सभी कोई इस खेल को खेलना पसंद करते हैं. इस खेल को अक्सर दो कोई के बीच खेला जाता है जिसमें दोनों कॉर्क को एक दूसरे की ओर फेंक कर खेलते हैं.

बैडमिंटन का इतिहास

बैडमिंटन खेल सभी खेलों की तरह भी एक लोकप्रिय खेल है हर कोई बहुत ही उत्सुकता पूर्वक इस खेल को खेलते हैं और इंजॉय करते हैं. इस महत्वपूर्ण खेल का विकास ब्रिटिश इंडिया में हुआ, जिस समय अंग्रेजों अंग्रेजों का शासन भारत में चलता था, अंग्रेजों द्वारा इस खेल को खेला जाता था जिसमें एक शटल कॉक होता था और एक सटल होता था, खेल के दौरान फर्स्ट पर्सन अपने शटल के द्वारा सटल कॉर्क को दूसरे पर्सन की ओर फेंका करते थे और दूसरे पर्सन सदर कॉल को बिना नीचे गिरा है पहले पर्सन की ओर फेंका करते थे इस तरह से यह खेल की प्रक्रिया होती थी.

समय बिता गया और या खेल चलता रहा. जिसे इंग्लिश ऑफिसर की रिटायरमेंट होती थी जहां भी जाते थे अपने साथ इस खेल को ले गए हैं और उस जगह में भी यह खेल प्रसिद्ध हो गया. इस तरह खेल को हर जगह प्रसिद्ध किया गया.

समय के साथ साथ खेल के नियम अनुसार इस खेल के भी नियम बदलाव आता गया और सभी लोग इस खेल को खेलने में अपनी रुचि भी लगे. अभी भी यह खेल को बहुत ही उत्सुकता पूर्वक खेला जाता है.

निष्कर्ष

बैडमिंटन खेल बहुत ही लोकप्रिय खेल है जिसे बच्चों के साथ-साथ बड़े भी इस खेल को बहुत ही आनंद पूर्वक खेलते हैं और खेलते वक्त आनंद भी प्राप्त करते हैं. इस खेल की प्रतियोगिता हर वर्ष दो देशों के बीच कराई जाती है जिसमें ऑडियंस इस खेल को देखने के लिए बहुत ही उत्सुक होते हैं.

निबंध 2 (300 शब्द)

प्रस्तावना

बैडमिंटन पूरे विश्व में लोकप्रिय खेल बन चुका है. इसकी शुरुआत ब्रिटिश भारत से हुई और यहीं से इस खेल में बदलाव आते आते इस खेल को और बेहतरीन बना दिया गया है जिसे आज के जनरेसन में भी बच्चों के साथ साथ अन्य लोग भी बड़े उत्सुकता पूर्वक खेलते हैं. खेल को खेलने में बहुत ही आनंद महसूस होता है और सभी इस खेल को खेलने में रुचि रखते हैं.

समय बीतते बीतते यह खेल इतना प्रसिद्ध हो गया कि 1992 में इसे ओलंपिक के अंतर्गत लाया गया , जिसने महिलाओं के साथ साथ पुरुष भी इस खेल में शामिल होने लगे और इस खेल को और बेहतरीन बना दिया.

खेल के कुछ आयाम 

इस खेल में समय के अनुसार बहुत सारे बदलाव आते गए जैसे इसमें प्रयोग में आने वाली कॉर्क में बहुत सारे बदलाव आ गया है इस खेल में यूज होने वाले कॉर्क के मैट्रियल में भी बदलाव आते गया जिसमें अब कम धागों के साथ-साथ गम धातु का यूज़ करके इसे बनाया जाता है.

यदि इस खेल को अधिक लोगों के बीच में खेलना है तो अपने आवश्यकता अनुसार इसमें आप धातु ज्यादा भी यूज कर सकते हो बनाने में और कम भी. इसमें दो प्रकार के धागे का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें पतला धागा भी मौजूद होता है और मोटा धागा भी.

यह खेल लगभग बच्चे बहुत ही आनंद ले कर खेलते हैं और इस खेल में एक ही पॉइंट होते हैं जिसमें खिलाड़ियों को पार करना होता है यदि वह बराबर अंक हासिल कर लेते हैं तो इस खेल को आगे बढ़ाकर ज्यादा अंक दे दिया जाता है.

दिल में भागीदारी लिए सभी खिलाड़ियों का एम होता है कि वह ज्यादा से ज्यादा अंक प्राप्त कर सके ताकि वह विजेता बन पाए. इस खेल में एक  कैरेट होता है और एक कॉर्क होता है जिसमें एक खिलाड़ी कैरेट की सहायता से कॉर्क को दूसरे खिलाड़ी को हवा में सीखता है ताकि उसका कॉर्क दूसरे खिलाड़ी के कैरेट पर जाकर गिरे यदि कैरेट के बाजार जमीन पर गिर जाता है फेंके गए खिलाड़ी आउट हो जाते हैं. जो जितने अंक प्राप्त करते हैं उनके अनुसार उनका रैंक होता है जैसे जो सबसे ज्यादा अंक प्राप्त किए गए विजेता बन गए.

शारीरिक व्यायाम 

हर एक व्यक्ति को अपने शरीर का एक्सरसाइज करना होता है जिसमें यह एक ऐसा खेल है जिसे खेलने के द्वारा किसी का भी एक्सरसाइज हो जाता है इसलिए अधिकतर कोई इस खेल को एक्सरसाइज करने के लिए खेलते हैं और इंजॉय करते हैं, से उनका खेल भी हो जाता है और साथ में एक्सरसाइज भी हो जाता है. यह खेल हमारे व्यायाम में भी मदद करती है इसलिए लगभग सभी कोई की रुचि इस खेल को खेलने में होती है.

निष्कर्ष

यह खेल हमारे लिए बहुत ही लाभदायक है क्योंकि इस खेल को खेलने के साथ हमारा शारीरिक एक्सरसाइज भी होता है जो हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है. बैडमिंटन खेल लगभग सभी कोई खेलते हैं चाहे वह बच्चा हो या बुरा हो या जवान हो इस खेल को खेल कर वह बहुत ही इंजॉय करते हैं.

निबंध 3 (400 शब्द) 

प्रस्तावना

बैडमिंटन खेल की शुरुआत हमारे देश भारत से हुई है जिस टाइम हमारा देश ब्रिटिश इंडिया था उस समय अंग्रेजों द्वारा इस खेल को खेला जाता था लेकिन अब उस समय से लेकर आज तक इस खेल को खेला जाता है. इस खेल को दो लोगों के बीच में खेला जाता है जिसने वह कॉर्क और कैरेट के सहायता से इस खेल को खेल कर आनंद लेते हैं.

बैडमिंटन से जुड़ी यादें

बैडमिंटन खेल बहुत ही प्राचीन खेल है लेकिन यह प्राचीन खेल होने के बावजूद भी आज के जनरेसन में बहुत ही आनंद पूर्वक खेली जाती है जिसमें हम सभी की यादें भी जुड़ी है. जब हम छोटा हुआ करते थे तो हमें सर्दियों के दिनों में या खेल बहुत ज्यादा खेलना पसंद रहता था जिसमें हम लोग अपने दोस्तों के साथ कभी-कभी अपनी फैमिली के साथ गार्डन में या छत में या मैदान में इत्यादि जगहों में खेलना स्टार्ट हो जाते थे.

इस खेल को खेलने में उस टाइम बहुत ही आनंद मिलता था क्योंकि यह खेल हम लोग अपने दोस्तों के बीच भी खेलते थे खेलने के दौरान हम खुद गिर जाते थे लेकिन, कॉर्क को नीचे गिरने नहीं देते थे चाहे शरीर में चोट लगे या कुछ हो . लगभग सभी को अपने बचपन के दिनों में अगर जाएं तो उन्हें यह खेल अवश्य याद होगा क्योंकि इस खेल में मजा ही कुछ और थी.

इस खेल को खेलने में हम लोग अपने शरीर का एक्सरसाइज भी कर लिया करते थे जब मन हो तब या खेल स्टार्ट हो जाता था जिसमें खेल कर बहुत ही आनंद लिया जाता था.

बैडमिंटन में उपयोग होने वाले उपकरण

बैडमिंटन लगभग सभी कोई का फेवरेट गेम है जिसे खेलना सभी कोई पसंद करते हैं इसमें मुख्यता दो उपकरण प्रयोग में आते हैं जिसने पहला कैरेट होता है जो विभिन्न प्रकार के धातु से मिलकर बना होता है और यह थोड़ा हल्का बनाया जाता है ताकि कॉर्क को सीखने में आसानी हो.

इस खेल में उपयोग में आने वाले दूसरे उपकरण का नाम है शटल कॉर्क जो पक्षियों के पंखों से बना होता है इसमें एक रबर की मात्रा ली जाती है जिसमें पक्षियों के पंखों को लगाकर इसे तैयार किया जाता है जिसकी मदद से बैडमिंटन खेला जाता है.

बैडमिंटन के कुछ नियम

सभी खेलों की भांति इस खेल की भी कुछ नियम होती है लेकिन यदि आप अपने घरों में इसे खेलते हो तो अपने अनुसार नियम बना सकते हो और इसे खेल सकते हो.

हालांकि यह खेल अंतरराष्ट्रीय व्याप्ति प्राप्त खेल है इसलिए इस खेल के कुछ नियम है इन नियमों के पालन करने के अनुसार खिलाड़ी इस खेल को खेलने में सक्षम होते हैं.

इस खेल को 1,1 खिलाड़ी भी खेल सकते हैं और 2,2 खिलाड़ी भी खेल सकते हैं खिलाड़ियों के आधार पर इसके कोर की लंबाई और चौड़ाई को तय किया जाता है अगर कम कोई के बीच में या खेल हो रहा है तो उसमें उसकी लंबाई चौड़ाई कम होगी और यदि ज्यादा कोई के बीच में या खेल हो रहा है तो उसकी कॉर्क की लंबाई चौड़ाई ज्यादा होगी.

इस बेहतरीन खेल के नियम अनुसार इस खेल में कुल 21 पॉइंट होते हैं जिसमें हर खिलाड़ी इस पॉइंट को हासिल करना चाहते हैं ताकि वह विजय हो सके. के दौरान एक खिलाड़ी दूसरे के कॉर्क को गिराना चाहते हैं और दूसरा पहले कॉर्क और को गिराना चाहता है ताकि वह जीत सके.

निष्कर्ष

बैडमिंटन एक ऐसा लोकप्रिय खेल है जिसको छोटे बच्चे से लेकर बूढ़े तक आनंद पूर्वक खेलते हैं और इसे खेलने के द्वारा बहुत ही आनंद भी मिलता है, इस खेल को खेलने के दौरान हमारे पैरों और हाथों की अच्छी खासी कसरत हो जाती है इसलिए खेल हमारे लिए लाभदायक भी साबित होता है.

निबंध 4 (600 शब्द)

प्रस्तावना

बैडमिंटन खेल सभी बच्चों के साथ साथ बूढ़ों के लिए भी लाभदायक खेलें क्योंकि इस खेल को खेलते वक्त शारीरिक व्यायाम भी हो जाता है जिससे हमारा शरीर फिट रहता है इसलिए इस खेल को लगभग सभी को आनंद पूर्वक खेलते हैं.

बहुत कोई तो इसे अपने घरों में अपने परिवारों के साथ खेलते हैं तो कोई स्कूल में इस खेल को स्कूल की ओर से खिलाया जाता है या फिर कॉलेजों में प्रतियोगिता के रूप में इस खेल को खेला जाता है.

बैडमिंटन का खेल

बैडमिंटन खेल विश्व में लोकप्रिय खेल के तौर पर माना जाता है इस खेल को अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त है जिससे या खेल और भी प्रसिद्ध हो गया है. इस खेल को बहुत कोई अपने अनुसार आनंद पूर्वक खेला करते हैं.

इस खेल को खेलने के लिए मैदान में एक जाली बनाई जाती है इस जाली के पहला खिलाड़ी और दूसरे साइट दूसरा खिलाड़ी को रखा जाता है इसके दौरान उन दोनों खिलाड़ियों के पास एक एक  कैरेट होती है और इस खेल में सिर्फ एक कॉर्क होती है, खेल के दौरान पहला खिलाड़ी अपने कैरेट की मदद से कॉर्क  को दूसरे खिलाड़ी को की ओर फेखते हैं और दोनों एक दूसरे की और  कॉर्क को गिराने के प्रयास में जुटे रहते हैं यदि इस खेल के दौरान जिस खिलाड़ी द्वारा कोर्ट गिर जाता है वह खिलाड़ी के पॉइंट कम हो जाते हैं. इस खेल में टोटल 21 पॉइंट होता है जिसमें दोनों खिलाड़ी हो का लक्ष्य पॉइंट बनाने में होता है जो पॉइंट ज्यादा बना पाते हैं वे जीत जाते हैं और यदि कभी पॉइंट बराबर हो जाए तो पॉइंट को बढ़ा दिया जाता है.

रणनीति

इस खेल को खेलने के लिए और इसमें विजय प्राप्त होने के लिए एक अच्छी रणनीति की जरूरत होती है जिसमें खिलाड़ी कुछ रन नीतियों को प्रयोग कर खेल में उतरते हैं विभिन्न प्रकार के स्ट्रोक यूज़ करते हैं जिसमें वे खेलते वक्त हुबहू सेम दिखाई देते हैं जिससे उनके विरोधी पक्ष उनको पहचानने में असक्षम हो सकते हैं इससे वह अपना पॉइंट भी गिरा सकते हैं.

खेल के अंदर इस तरह की रणनीति बनानी होती है जिससे विरोधी पक्ष खेलने के दौरान कंफ्यूज हो जाए ऐसा समय वहां आ जाता है इसी सबके लिए रणनीति बनानी होती है ताकि खिलाड़ी जीत सके.

इस खेल में इस प्रकार की रणनीति बनाई जाती है जिससे विरोधी पक्ष कंफ्यूज हो जाए कि वह किस साइड से अपने कोर्ट को अगले पक्ष में फेंके और किस साइड से नहीं सके, नीतियों को बनाना होता है ताकि खिलाड़ी और खेल में विजय हासिल कर सके.

बैडमिंटन की प्रतियोगिता

बैडमिंटन खेल हमारा देश का प्राचीन खेल है जो क्रिकेट खेल के दूसरे नंबर पर आता है. इस खेल को हम अपनी आवश्यकता अनुसार लिमिट जगह पर खेल सकते हैं इसलिए यह खेल हर परिवार हर दोस्तों और हर गांव के बीच खेला जाता है. इस खेल को खेलने में सब अत्यधिक आनंद लेते हैं.

इस खेल की प्रतियोगिता विभिन्न स्तर तक होती है जैसे कहीं विद्यालय स्तर की प्रतियोगिता तय की जाती है तो कहीं गांव स्तर की तो कहीं जिला स्तर की तो कहीं राज्य स्तर की तो कहीं राष्ट्रीय स्तर की तो कई अंतरराष्ट्रीय स्तर की होती है. जिसमें इच्छुक उम्मीदवार भागीदारी लेकर इस खेल को खेलते हैं और लुफ्त उठाते हैं.

इस खेल की प्रतियोगिता बहुत ही आनंददायक होती है जहां भी इस खेल की प्रतियोगिता हो रही होती है वहां दर्शक लोग की भीड़ अत्यधिक होती है क्योंकि अकेली इतना रोमांचक है कि इसे हर कोई देखना पसंद करता है.

हर साल में एक बार बैडमिंटन की प्रतियोगिता हमारे देश में किसी न किसी रूप में होता है. या खेल हमारे लिए बहुत ही लाभदायक साबित होता है और बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि इस खेल से हमारा शारीरिक व्यायाम होता है जिससे हमारे शरीर के हर एक अंग कुर्ते ले होते हैं इसलिए लगभग सभी कोई को इस खेल को खेलना चाहिए.

प्रकाश पादुकोण और पुलेला गोपीचंद ऐसे बैडमिंटन खिलाड़ी है जिन्होंने इंग्लैंड के दौरान हुए प्रतियोगिता में जीत हासिल करवाया इसके साथ साथ 1980 से 2001 तक इन्होंने इस प्राचीन खेल को अंतरराष्ट्रीय तक पहुंचाने का सफर तय किया.

बैडमिंटन खेलने के लाभ

बैडमिंटन हमारा प्राचीन खेल है जिसे बच्चों के साथ-साथ बूढ़े भी बहुत ही उत्सुकता पूर्वक इस खेल को खेल कर इंजॉय करते हैं. इस खेल को खेलने से अनेक लाभ प्राप्त होते हैं जो निम्नलिखित हैं :- 

  •  बैडमिंटन खेलने से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है.
  • बैडमिंटन खेलने से हमारे मस्तिष्क की क्रियाकलाप भी अधिक तेज गति से होती है जिसमें हमें सोचने समझने की क्षमता अत्यधिक आती है.
  • इस खेल को खेलने से हमारा ब्लड सरकुलेशन बहुत ही नियमित रूप से चलता रहता है और इसके साथ हमारे शरीर का हर एक अंग स्वस्थ रहता है.
  • इस खेल को खेलने से हमारे मोटापा कम होने के साथ-साथ हमारा शरीर भी फुर्तीला रहता है.
  • यह खेल हमारे लिए इतना लाभदायक है इसे खेलने से हमारे दिल से संबंधित रोग नहीं होते और हमारा मन भी खुश मिजाज होता है.

निष्कर्ष

बैडमिंटन एक ऐसा खेल है जो प्राचीन काल से चला आ रहा है और अभी भी इस का सफर कई उच्चायोग तक पहुंच चुका है. इस खेल को बच्चों से लेकर बूढ़ों तक को खेलना पसंद है.

इतना आनंददायक फेल है कि बहुत सारे ऐसे विद्यार्थी हैं जो इस खेल में खिलाड़ी बनने के लिए अपने आपको तैयार करते हैं जिससे उनका चयन बैडमिंटन के खिलाड़ियों में हो सके.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment

×