E Shram Card Payment Status 2022: इस वजह से रुक सकता है ई श्रम भत्ता, फ़ोन से जल्दी चेक करें अपना Status 

E Shram Card Payment Status 2022: इस वजह से रुक सकता है ई श्रम भत्ता, फ़ोन से जल्दी चेक करें अपना Status : e-Shram Card holders को मिलेगा हर महीने 3 हजार रूपये का लाभ : जल्द से जल्द करे ये काम, E Shram Card श्रमिक किस्त वाले 2nd लिस्ट कैसे देखें | E Shram Card 2022 की दूसरी किस्त इस तारीख को आएगी | E Shram Card Second Installment, E Shram Card 2nd Kist | Shramik Card ka 2nd installment | Shramik Card ka 2nd kist ka paisa kab aayega

e Shram Card Holder को मिलेगा 3 हजार रुपए का लाभ: e Shram Card को लेकर मजदूरों के बीच में काफी चर्चे हो रहे हैं. इसकी वजह यह है कि इस योजना का लाभ बहुत सारे मजदूरों को मिल चुका है और हम भी बहुत सारे को मिलना बाकी है. बहुत सारे लोग पहली किस्त की राशि प्राप्त कर चुके हैं और दूसरी के इंतजार में हैं जबकि कई ऐसे भी हैं जिन्हें पहली किस की राशि प्राप्त नहीं हुई है. वही आपको यह जरूर जानकर खुशी होगी कि जितने भी लोगों ने e Shram Card बनवाए हैं और जब उनकी आयु 60 वर्ष से ज्यादा हो जाएगी तो उन्हें ₹3000 प्रति महीने पेंशन के रूप में प्राप्त होंगे. इस लाभके बारे में विस्तार से जानने के लिए हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

भारत की केंद्र सरकार चाहती है कि भारत के रहने वाले हर असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिक को आर्थिक रूप से मदद की जाए और इसी लिए श्रम कार्ड होटल की शुरुआत की गई है जिसके माध्यम से असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सभी मजदूरों का पंजीयन किया जाएगा और उनके डाटा को संभाल कर रखा जाएगा और उसी के माध्यम से जब योजना चलाई जाएगी तो फिर उन्हें पैसे प्रदान किए जाएंगे.

E Shram Card Yojana 2022 ये गलती ना करें

E Shram Card योजना की पंजीयन प्रक्रिया बहुत पहले ही शुरू हो चुकी है और अभी तक करीब 30 करोड लोगों ने पंजीयन करा लिया है. अकेले उत्तर प्रदेश के अंतर्गत 7.5 करोड़ लोगों ने पंजीयन की प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा किया है.  श्रम कार्ड की पहली किस्त का पैसा भी बांटा जा चुका है और अभी भी बहुत सारे ऐसे मजदूर हैं जिन्हें इसका पैसा नहीं मिला है  तो ऐसे लोग भी श्रम कार्ड के दूसरी किस्त के पैसे का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश राज्य में सरकार ने यह घोषणा की है कि हर महीने मजदूरों को ₹500 दिए जाएंगे और इस प्रकार कुल मिलाकर 4 महीनों में ₹2000 श्रम कार्ड योजना के तहत गरीबों को प्रदान किया जाएगा. लेकिन श्रम कार्ड योजना की पहली किस्त 2 महीने का एक साथ मिलाकर दिया जाएगा यानी कि दिसंबर और जनवरी महीने की जो पहली किस्त होगी वह एक साथ दी जाएगी. श्रम कार्ड के पहली किस्त का पैसा बांटा जा चुका है और अभी भी इसके वितरण की प्रक्रिया चालू है और बहुत सारे मजदूर पहली किस्त का पैसा सीधे अपने अकाउंट में प्राप्त कर चुके हैं जो कि सरकार ने ट्रांसफर किए हैं. 

योजना का नामE Shram Card Yojana
संचालन केंद्र सरकार 
सत्र 2021-22
लाभार्थीअसंगठित क्षेत्र के मजदूर
लाभआर्थिक रूप से मदद
आवेदन का तरीकाऑनलाइन
आवेदन की स्थिति सक्रिय
आधिकारिक वेबसाइटeshram.gov.in

ऐसे मजदूर जो पहले ही पहली किस्त का पैसा प्राप्त कर चुके हैं वे अब दूसरी किस्त के आने का इंतजार कर रहे हैं. लेकिन जिन  मजदूरों को अभी तक पहली किस्त का पैसा भी नहीं मिला है वह काफी चिंतित हैं.  लेकिन आपको मैं बता दूं कि जिन  मजदूरों को पहली किस्त का पैसा अभी तक प्राप्त नहीं हुआ है तो वह उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि अगर वह इस पैसे को प्राप्त करने के योग्य है तो फिर हो सकता है कि सरकार दोनों किस्त का पैसा आपको एक साथ आपके अकाउंट में ट्रांसफर कर देगी.

e-Shram Card holders को मिलेगा हर महीने 3 हजार रूपये का लाभ

भारत में असंगठित क्षेत्र से जुड़े लोगों ने e-Shram Card योजना के लिए आवेदन दिया है और बहुत सारे लोग इसका लाभ प्राप्त कर चुके हैं. पहली किस्त के रूप में ₹1000 खातों में भेजे गए और अब दूसरे किस्त के ₹1000 भी जल्दी लोगों के खाता में जाने वाली है. अगर आप पहले से एक e Shram Card Holder है तो आपके लिए बहुत ही खुशी की बात है कि जब आपकी आयु 60 वर्ष से ज्यादा हो जाएगी तब बर्फी मैं आपको ₹3000 पेंशन के रूप में दिए जाएंगे.

E Shram Card Registration में किस गलती की वजह से आपको पैसे नहीं मिलती है?

E Shram Card Registration के दौरान अगर आपने किसी प्रकार की गलती की है तो फिर आपको श्रमिक कार्ड योजना से मिलने वाली राशि नहीं प्राप्त होगी तो आपको यह जाना पड़ेगा कि आखिर यह कौन सी गलती है जो आपको नहीं करनी है तो चलिए हम आपको यहां पर बताते हैं. . अभी तक डेढ़ करोड़ लोगों को श्रमिक कार्ड का पैसा मिल चुका है और अगर जिन्हें नहीं मिला है तो उन्हें तो समझना होगा कि आखिर उन्होंने क्या गलती की है कि अभी तक उनके खाते में सरकार ने श्रम कार्ड का पैसा ट्रांसफर नहीं किया है.

पूरे भारत में 38 से 40 करोड़ ऐसे मजदूर है जो असंगठित क्षेत्र से संबंध रखते हैं और आप यह समझ ले कि सिर्फ इन्हीं लोगों के लिए श्रम कार्ड बनाने का प्रावधान है और जो मजदूर संगठित क्षेत्र से संबंध रखते हैं अगर वह इसमें पंजीयन करा भी रहे हैं तो फिर उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा. तो पहले तो आप यह समझ ले कि अगर आप असंगठित क्षेत्र के मजदूर हैं तभी आप इस योजना के लिए आवेदन करें अन्यथा आपके आवेदन करने के बावजूद आपको श्रम कार्ड योजना की किसी भी किस्त की राशि नहीं मिलेगी.  

अब यहां पर मुद्दे की बात यह है कि असंगठित मजदूरों ने तो श्रम कार्ड योजना के तहत अपना कार्ड बनवा लिया लेकिन वैसे मजदूरों ने भी श्रमिक कार्ड बनवाया जो कि असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत नहीं आते हैं.   आपको यह भी पता होना चाहिए कि बिना आधार कार्ड के श्रमिक कार्ड नहीं बन सकता है. श्रम कार्ड आधार कार्ड से लिंक किया हुआ रहता है जिसकी वजह से सरकार को यह पता होता है कि कौन से मजदूर असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं और कौन से मजदूर संगठित क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं.

असंगठित क्षेत्र के मजदूर किसे कहते हैं?

असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत मजदूरों के विभिन्न कैटेगरी है और अगर आप डिग्री में से 1 डिग्री में आते हैं तो भी आपको असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत रखा जाएगा लेकिन अगर आप एक मजदूर है लेकिन असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले कैटेगरी में नहीं आते हैं तो फिर आपको अप्लाई करने पर भी कोई फायदा नहीं होने वाला और ना ही श्रम कार्ड बनाने का कोई फायदा मिलेगा.

असंगठित मजदूर उसे कहते हैं जो किसी सरकारी संगठन से जुड़ा हुआ ना हो या फिर किसी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में कोई अच्छे पोस्ट पर काम ना कर रहा, हो जैसे की दिहाड़ी मजदूर, रिक्शा चालक, राजमिस्त्री, चाय बेचने वाला, घर का नौकर, पेपर बांटने वाला, बढ़ाई, ठेला लगाने वाला, सब्जी विक्रेता, दूध बेचने वाला, पंचर बनाने वाला, इलेक्ट्रिशियन का काम करने वाला, मैकेनिक, प्लंबर, आया, आशा वर्कर इत्यादि असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मजदूर हैं. ऐसे ही असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत काम करने वाले लोगों के लिए श्रमिक कार्ड की शुरुआत की गई है और इनमें से अगर कोई श्रमिक कार्ड के लिए आवेदन करता है तो उससे श्रमिक कार्ड की पहली और दूसरी किस्त मिलने का सौ परसेंट चांस रहेगा.

ये है असंगठित क्षेत्र के मज़दूरों की लिस्ट

मैकेनिकप्लंबर
इलेक्ट्रिशियनआया (मिडवाइफ)
कंस्ट्रक्शन वर्करअखबार विक्रेता
मनरेगा कामगारसब्जी एवं फल विक्रेता
नाईप्रवासी मजदूर
रेहड़ी पटरी वालेकारपेंटर
लेबलिंग एंड पैकेजिंगघरेलू कामगार
मछुआरा शेयर क्रॉपर
ड्राइवर एग्रीकल्चरल लेबरर्स
सीएससी केंद्र चालकस्मॉल एंड मार्जिनल फार्मर

इस प्रकार असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले जिन मजदूरों ने रजिस्ट्रेशन कराया है उनके खाते में सरकार ने पैसे भेजने शुरू कर दिए हैं. जिन मजदूरों के खातों में पैसे नहीं आए हैं और आगे भी अगर आने का सार नहीं लग रहा है तो समझ ले कि क्या वह असंगठित क्षेत्र से सच में है या फिर नहीं उन्हें एक बार पता चल जाए तो उन्हें निश्चित हो जाएगा क्यों नहीं मिलेगा या नहीं मिलेगा. आपको मालूम अब चल ही गया है कि आप असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं या फिर नहीं. 

उत्तर प्रदेश से शुरू हुआ ई श्रम का लाभ

उत्तर प्रदेश के जितने भी असंगठित क्षेत्र के मजदूर हैं उनके खातों में ₹1000 भेजे जा चुके हैं. 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने यह घोषणा की है कि हर महीने ₹500 है असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को श्रमिक कार्ड के अंतर्गत लाभ के रूप में दिया जाएगा और आगे भी जारी रहेगा और हर 2 महीने में ₹1000 की राशि श्रमिक कार्ड धारक मजदूरों को प्रदान की जाएगी. 

हर महीने ₹500 दिए जाएंगे तो इस प्रकार हर 2 महीने में एक बार उन्हें ₹1000 की राशि प्रदान की जाएगी.

श्रमिक कार्ड का लाभ किसे नहीं मिलेगा?

अगर आपने श्रमिक कार्ड का आवेदन कर लिया है और आपका कार्ड बनकर रेडी भी हो गया है लेकिन अगर आपको नहीं मालूम कि आप श्रम कार्ड के योग्य है या फिर नहीं है तो आपको यह पहले जरूर पता होना चाहिए तभी आप को इसका लाभ मिलेगा.

यहां पर हम आपको जानकारी देने वाले हैं कि वह कौन से लोग हैं जिन्हें श्रमिक कार्ड का लाभ नहीं मिलेगा.

  • वैसे लोग जो पहले से किसी कंपनी में नौकरी कर रहे हैं और उनका ईपीएफ का अकाउंट है तो फिर ऐसे लोगों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा.
  • अगर कोई व्यक्ति पहले से ही ईएसआई का लाभ उठा रहा है तो उन्हें भी श्रमिक कार्ड से मिलने वाला लाभ प्राप्त नहीं होगा.

चूँकि आधार कार्ड पीपीएफ अकाउंट से कनेक्टेड होता है और इस कारण अगर आप पहले से ही ईपीएफ का इस्तेमाल कर रहे हैं या फिर ईएसआई कार्ड आपका बना हुआ है तो सरकार को यह पता होता है कि आप ईपीएफ का लाभ उठा रहे हैं. इस वजह से सरकार ऐसे लोगों को श्रमिक कार्ड का लाभ नहीं देती है.

श्रमिक कार्ड की अगली किस्त इस तारीख को मिलेगी?

श्रमिक कार्ड शुरुआत उत्तर प्रदेश राज्य से की गई है क्योंकि यह एक सबसे बड़ी जनसंख्या वाला राज्य है और इस राज्य में सबसे बड़ी जनसंख्या निवास करती है. सरकार के लिए यह एक चुनौतीपूर्ण कार्य है कि इतनी भारी जनसंख्या वाले राज्य में जन जन तक इस योजना का लाभ पहुंचाना.

उत्तर प्रदेश राज्य की ओर से यह घोषणा की गई थी कि जो साल भर में दिया जाने वाला पैसा है उसे हर महीने ₹500 के हिसाब से दिया जाएगा और प्रत्येक 2 महीने में ₹1000 को प्रदान किए जाएंगे. इस प्रकार पहली किस्त जो है वह दिसंबर और जनवरी महीने के लिए दिया जाना है और जो मजदूर इसके लिए योग्य है उन्हें पहली किस्त प्राप्त हो चुकी है. लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि सूचना के अनुसार सिर्फ आस्था क्षेत्र से रखने वाले मजदूरों को ही इस योजना का लाभ दिया जा रहा है.

इसके दूसरी किस्त का इंतजार सभी लोग तो कर रहे हैं लेकिन इसके तारीख की बात करें तो 15 फरवरी के अंदर ही दूसरी किस्त भी श्रमिकों के खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी.

ये भी पढ़ें:

E Shram Card Yojana 2022 Second Kist Date

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण होगी क्योंकि इसमें हमने आपको E Shram Card Yojana 2022 Second Kist Date की हर समस्या के बारे में बताया है और उसका समाधान भी आपको समझाया है. अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

1 thought on “E Shram Card Payment Status 2022: इस वजह से रुक सकता है ई श्रम भत्ता, फ़ोन से जल्दी चेक करें अपना Status ”

Leave a Comment