DIG कैसे बने?

आज भारत में 130 करोड़ जनसंख्या निवास करती है। जिसके देखने के लिए भारत को कई डिपार्टमेंट तथा कर्मचारियों की आवश्यकता होती है ताकि इतनी बड़ी जनसंख्या वाले देश को handle कर सके तथा इसके नागरिकों को किसी प्रकार की असुविधा ना हो इस बात का ध्यान प्रशासन तथा सरकार दोनों रखती है।

यदि हम प्रशासनिक पदों की बात करें तो वास्तव में इनका समाज में एक आदर्श के रूप में माना जाता है जब देश तथा समाज में क्राइम बढ़ने लगता है तो इसकी रोकथाम के लिए भी भारत सरकार में एक अलग ही विभाग बनाया है। जिसे हम पुलिस विभाग कहते हैं।

इस पुलिस विभाग का काम देश में शांति तथा व्यवस्था बनाने का है यह विभाग देश के नागरिकों को होने वाले दंगों से बचाने का काम करती है साथियों इस विभाग में जाने के लिए यदि कोई व्यक्ति तैयारी करना चाहता है और इस विभाग के बड़ी पोस्ट को पाना चाहता है तो उसके लिए आपको कड़ी मेहनत की आवश्यकता होगी क्योंकि यह विभाग बहुत आदर्श तथा न्याय पूर्ण माना जाता है।

हर किसी का सपना होता है कि वह एक बड़ी पोस्ट में जाए और अपने देश की सेवा करें हम आज इस लेख के माध्यम से आपको पुलिस विभाग के ऐसे ही बड़ी पोस्ट के बारे में बताएँगे जिसको पाने का सपना हर कोई देखता है आज हम DIG (Deputy inspector general) के बारे में बताएंगे तथा इस पद के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए तथा इसके बनने की पूरी प्रोसेस भी बताएँगे।

DIG क्या है?

DIG पुलिस डिपार्टमेंट की उच्चतम पदों में से एक है जिसका पूरा नाम Deputy inspector general होता है। इसे हम हिंदी में पुलिस उप महानिदेशक कहते हैं। यह पद महानिर्देशक के ठीक नीचे का पद है इसके पास भी पुलिस सेवा तथा शक्तियों का अधिकारी होता है।

पुलिस उप महानिदेशक की रैंकिंग की बात की जाए तो यह भारतीय सेना में लगभग ब्रिगेडियर रैंक के बराबर होता है। इसके पास बहुत सी ताकत होती है यह अपने मन मुताबिक कार्य कर सकता है परंतु उसकी सूचना अपने सीनियर अधिकारी पुलिस महा निर्देशक को देता है या अपने कंधों पर Gorget Patchपहनते हैं जिस का रंग गहरे नीले रंग का होता है तथा उस पर सफेद रंग की एक लाइन बनी होती है।

एक राज्य में DIG की संख्या जिलों के आधार पर निर्भर की जाती है एक राज्य में कई सारे DIG हो सकते हैं DIG का समाज में तथा रिश्तेदारों में एक अलग ही नाम होता है यह अपने कार्यों के कारण अलग ही छवि बनाते हैं।

DIG कैसे बने

जब लोग पुलिस विभाग में आते हैं तो लोगों का सपना होता है कि वह इस विभाग के ऊँचे से ऊँचे पोस्ट में जाए परंतु हर कोई यह पद नहीं पा सकता है। जब विद्यार्थी पुलिस विभाग में जाने के लिए तैयारी करता है तो उसे राज्य तथा केंद्र द्वारा संचालित परीक्षा को देना पड़ता है तथा उसे उत्तीर्ण कर इस विभाग में जाता है। हम इस बिंदु के अंतर्गत आपको यह बताएंगे कि DIG बनने के लिए आपको किन-किन परीक्षाओं तथा पात्रता ओं की आवश्यकता होगी।

DIG बनने के लिए पात्रता

सभी स्टूडेंट जानते है कि आज जब भी केंद्र सरकार या राज्य सरकार के द्वारा कोई भी सरकार नौकरीं के पदों पर भर्ती निकाली जाती है यो उसके लिए एक योग्यता और पात्रता अवश्य निर्धारित की जाती है बैसे ही इस पद के लिये भी कुछ जरूरी पत्रताओ को निर्धारित किया गया है।

जिनके बारे में आप नीचे डिटेल में पढ़ सकते है बता दे कि अगर आपके पास नीचे दी गयी निर्धारित पात्रता होगी तभी आप इस पद के किये आवेदन कर सकेंगे और इसकी परीक्षा में शामिल हो सकेंगे

  • आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  • आवेदक राज्य तथा केंद्र सरकार द्वारा संचालित परीक्षाएं को पास किया हो।
  • आवेदक सुप्रिडेंट पुलिस की पोस्ट पर 14 साल तक कार्य किया हो।
  • आवेदक के ऊपर किसी प्रकार के अपराध तथा कानूनी कार्रवाई सिद्ध ना हुई हो।
  • SP तथा DSP के पद पर रहते हुए उन्होंने बहुत सारे ऐसे कार्य किए हो जो जनहित के लिए काफी लाभदायक सिद्ध हुए हो।

DIG बनने के लिए परीक्षाएं

आप यह बात समझ तो गए होगे कि यह पद सामान्य पद नहीं है इसके लिए बहुत ही कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है। इसके लिए आपको कई सारे चरणों से गुजरना पड़ता है। यदि आप इसकी तैयारी कर रहे हैं तो आपको संयम तथा कड़ी मेहनत की आवश्यकता होगी। राज्य तथा केंद्र दोनों ही इसके लिए कुछ परीक्षा है लेती है। जिसे आपको पास करना होता है। सामान्य तौर पर यह परीक्षाएं तीन चरणों में होती है प्राथमिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा तथा साक्षात्कार होता है

इसमें आपको तीनों परीक्षा पास करनी होती है यदि कोई व्यक्ति केवल मुख्य परीक्षा ही पास किया हो तथा साक्षात्कार में फेल हो गया हो तो वह इस पद के नौकरी लिए अयोग्य होगा आयोग इस बात का ध्यान रखता है कि परीक्षा को लचीला तथा अभ्यार्थियों के आसपास होने वाली घटनाओं को ध्यान में रखकर परीक्षा लेता है तथा इसके लिए वह सिलेबस बनाता है। उसी सिलेबस में से परीक्षा में पूछा जाता है।

परीक्षा बहुत ही कठिन होती है। इसको पास करना हर किसी के बस की बात नहीं होती है इसके लिए लोग दिन-रात कड़ी मेहनत करते हैं तथा अपने राज्य से दूसरे राज्य में जाकर शैक्षणिक संस्थानों में तैयारी करते हैं.

संघ लोक सेवा आयोग

परीक्षा के लिए केंद्र ने एक केंद्रीय आयोग बनाया है। जिसे हम संघ लोक सेवा आयोग कहते हैं इसमें पूरे भारत के विद्यार्थी शामिल होते हैं और उसकी परीक्षा देते हैं जाहिर सी बात है कि पूरे भारत के अभ्यार्थी इस परीक्षा में भाग लेते हैं तो इसे पास करना आसान नहीं होता है।

जैसा कि आप जानते ही होगे की यह आयोग भी इस परीक्षा को तीन चरणों में लेता है यदि कोई व्यक्ति इस परीक्षा को पास करता है तो वह इंडियन पुलिस सर्विस के रूप में चयनित होता है और आपको सुप्रिडेंट पुलिस की पोस्ट प्राप्त होती है जब आप सुप्रिडेंट पुलिस की पोस्ट में 14 साल तक कार्य करते हैं तो आपका प्रमोशन होता है। प्रमोशन होने के बाद आप डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल बनते हैं.

राज्य लोक सेवा आयोग

इसी तरह से राज्य सरकार भी अपने अभ्यर्थियों के हित के लिए राज्य लोक सेवा आयोग के अंतर्गत इसकी परीक्षा लेता है जिसके लिए केवल राज्य के लोग प्रतिभागी के रूप में शामिल होते हैं। इसमें आपकी पोस्टिंग डिप्टी सुप्रिडेंट पुलिस के रूप में होती है आपको इस पद में 10 से 15 साल तक कार्य करना पड़ता है तब जाकर आप सुप्रिडेंट पुलिस बनते हैं इसके पश्चात आपका प्रमोशन होता है और 14 साल के बाद आप पुलिस उप महानिदेशक बनते हैं।
वर्गों के अनुसार attempt मौका

यदि सामान्य वर्ग से है तो उसे संघ लोक सेवा आयोग में तीन बार attempt करने का मौका मिलता है। यदि कोई अन्य पिछड़ा वर्ग में है तो उसे 6 बार तथा एसटीएससी दिव्यांग वर्ग में है तो उसे अनलिमिटेड attempt प्राप्त होते हैं इस तरह से आप एक अच्छी योजना बनाकर इस परीक्षा को पास कर सकते हैं।

DIG का वेतन कितना होता है

वैसे तो आप इतना समझ ही गए होगें कि यहां कितनी बड़ी पोस्ट है तो इसकी वेतन भी अच्छी खासी होगी परंतु यह राज्य तथा केंद्र सरकार के pay scale पर निर्भर करती है। यदि कोई व्यक्ति DIG राज्य सेवा के आधार पर बना है तो उसे 6th pay scale के आधार पर उसको तनखा मिलेगी। यदि कोई संघ लोक सेवा आयोग के माध्यम से बना है उसे सातवें वेतनमान के अनुसार वेतन मिलेगी इस तरह से DIG की वतन 220000 तक बनती है।

इतना ही नही क्योकि यह पुलिस विभाग का काफी उच्च पद होता है इसलिय इस पद पर नियुक्त होने वाले व्यक्ति को वेतन के अलावा विभिन्न प्रकार की सरकारी सुविधाए उपलब्ध कराई जाती है।

तैयारी कैसे करे

आज पुलिस विभाग के लिए काफी युवा तैयारी करते है इसलिय इस पद से जुड़े परीक्षा में कॉम्पटीशन काफी बढ़ गया है इसलिय अगर आप इसकी परीक्षा जो उत्तीर्ण करना चाहते है तो इसके लिये आपको इस परीक्षा के लिए संघ लोक सेवा आयोग के अनुसार ही तैयारी करना होगा इसमें अभ्यार्थी को इस बात का ध्यान रखना पड़ता है कि इसमें पूछे जाने वाले सवालों में सबसे ज्यादा कौन से सवाल पूछे जाते हैं तथा आपको इसके पूरे सिलेबस की जानकारी होना अति आवश्यक है। इसके बिना आप यह परीक्षा पास नहीं कर पाएंगे। बाकी आपको इस पद पर चयनित होने और इसकी परीक्षा जो पास करने के लिए किस प्रकार की तैयारी करनी है उसके लिए आप नीचे डिटेल में जान सकते है –

सिलेबस की जानकारी

किसी भी परीक्षा के लिए उसमे आने वाले सिलेबस के बारे में पता होना बेहद जरूरी होता है ताकि आप उस सिलेबस के हिसाब से अपनी तैयारी को बेहतर बना सके। इसीलिये आपको सबसे पहले यह देखना होगा कि इसके सिलेबस में कौन-कौन से विषय को पूछा गया है तथा उसी के अनुसार आप तैयारी करें संघ लोक सेवा आयोग में निम्नलिखित विषय शामिल किए गए हैं जो इस प्रकार है:-

  • सामान्य ज्ञान
  • इतिहास
  • भूगोल
  • विज्ञान
  • अर्थशास्त्र
  • कंप्यूटर
  • हिंदी
  • इंग्लिश
  • गणित
  • रिजनिंग
  • निबंध
  • दैनिक घटनाएं
  • योजना
  • संविधान
  • राज्य व्यवस्था
  • महापुरुषों की जीवनी तथा अन्य

साक्षात्कार

साक्षात्कार के लिए आपको ऐसे व्यक्ति से अनुभव लेना चाहिए जो पहले इस परीक्षा के लिए तैयारी करता हूं या चयनित हो चुका हो। आप किसी संस्था के माध्यम से भी साक्षात्कार के लिए भी जा सकते हैं उन संस्थाओं में आपको इसके लिए तैयारी कैसे किए जाए कैसे बात करें कैसे उठे तथा फाइल को कैसे तैयार करें इसके बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे इस तरह से आप इस परीक्षा के लिए तैयार हो पाएंगे।

बैसे भी अगर आप किसी कम्पटीशन परीक्षा की तैयारी के रहे है तो आप जानते ही है की आज साक्षात्कार किसी भी एग्जाम का सबसे कठिन चरण माना जाता है इसलिए अगर आप इस पद को हासिल करना चाहते है तो अपने इस से जुड़े साक्षात्कार की अच्छे से तैयारी कर ले.

टाइम टेबल

हम जब भी किसी अच्छी बड़ी पोस्ट की तैयारी करते हैं तो हम एक टाइम टेबल की आवश्यकता होती है हमें उस टाइम टेबल के मुताबिक ही कार्य करना चाहिए एक अच्छा टाइम टेबल बनाने के लिए अपनी दैनिक दिनचर्या में थोड़ा बदलाव करके उस टारगेट के लिए हमेशा जागरूक रहना चाहिए। टाइम टेबल को विषय अनुसार बांटते ताकि आपको टाइम टेबल को नियमित रूप से फॉलो करने में आसानी होगी।

संक्षेप में

सभी लोग जानते है की पुलिस एक ऐसा विभाग है जिसमे अलग – अलग अनेक पदों में भर्ती निकाली जाती है जिसमे आज के युवा बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते है, जिसमे पुलिस विभाग का डीआईजी एक ऐसा पद जिसका लेवल बहुत ऊँचा होता है साथ ही जितना ऊँचा इस पद का लेवल होता है उतना ही कठिन इसका एग्जाम होता है. इसके एग्जाम को आप बिना जानकारी और बिना परिश्रम के उत्तीर्ण नहीं कर सकते है इसलिए आज हमने आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस महत्वपूर्ण पद से जुडी सम्पूर्ण जानकारी के बारे में अवगत कराया। ताकि आप इसके लिए उचित जानकारी हासिल कर के इसकी अच्छी तैयारी कर सके.

आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे जो भी इसकी तैयारी करना चाहता है वह उपरोक्त दिए गए बिंदुओं के जरिए तैयारी कर सकता है तथा इस लेख में हमने DIG के बारे में सारी जानकारी दे दी है आप यदि समाज तथा संबंध के बीच में अच्छा सामान चाहते हैं तो आप भी एक अच्छी पोस्ट की तैयारी करें और उसके योग्य बने।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here