DA Increases By Upto 4% : एक करोड़ से ज्यादा केन्द्रय कर्मचारियों-पेंशनर्स को फायदा

DA Increases By Upto 4% : आज के हमारे आर्टिकल में आप सभी प्रिय पाठकों का स्वागत है. आज हम अब सभी पाठकों के साथ केंद्रीय कर्मचारियों के 4% महंगाई भत्ते से जुड़ी बहुत बड़ी अपडेट देने हेतु प्रस्तुत हुए हैं.

यदि आप भी केंद्रीय कर्मचारियों में शामिल है या फिर केंद्रीय कर्मचारियों से किसी भी प्रकार से संबंधित है तो आपके लिए हमारा यह आर्टिकल बेहद लाभकारी सिद्ध होने वाला है. यदि आप हमारे आर्टिकल को आगे तक पढ़ते हैं तो आपको इसके विषय में संपूर्ण विवरण प्राप्त हो जाएगा.

चलिए बिना किसी विलंब के आज के हमारे आर्टिकल को प्रारंभ करते हैं और जानने का प्रयास करते हैं कि आखिर पूरी अपडेट क्या है और किस प्रकार से इन दिनों सुर्खियों में है.

दिवाली है आने वाली :-

केंद्र सरकार ने दिवाली से पहले ही केंद्रीय कर्मचारियों को तोहफा देने की तैयारी कर ली है कैबिनेट मंत्री अनुराग ठाकुर ने बुधवार को कैबिनेट में लिए बहुत ही महत्वपूर्ण फैसले जिसके विषय में हम आपको जानकारी देते हुए यह बात बता दे कि सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते अर्थात DA में 4% तक की बढ़ोतरी कर दी है.

पिछली बार सरकार ने मार्च में DAको बढ़ाया था. यह 1 जनवरी 2022 से लागू किए गए थे. मार्च में सरकार ने दिए में 3% की बढ़ोतरी करी थी अर्थात इसे 31% से बढ़ाकर के 34% कर दिया गया था. अब आपको हम बता दें कि 4% बढ़ाने के पश्चात या 38% हो जाएगी. सरकार के महंगाई भत्ते बढ़ाने से देश के लगभग-लगभग 50 लाख कर्मचारियों तथा 65 लाख़ पेंशन भोगियों को इसका फायदा प्राप्त होगा.

बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता 1 जुलाई 2022 से लागू किया जाएगा, इसके अतिरिक्त सरकार पर सराहना 12,852.56 करोड़ रुपए का अतिरिक्त बोझ पड़ने वाला है.

इस पूरी खबर को पढ़ने से पूर्व आप पोल में भाग ले करके अपनी राय को अवश्य बताएं इसके अतिरिक्त कैबिनेट ने पीएम गरीब कल्याण योजना को 3 महीने बढ़ाने का भी निर्णय लिया हुआ है. वहीं देश के 3 सबसे बड़े स्टेशन नई दिल्ली मुंबई का छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनल एवं अहमदाबाद स्टेशन के रिडेवलपमेंट के वास्ते 10000 करोड़ रुपए की मंजूरी प्रदान कर दी है.

महंगाई भत्ता अर्थात DA क्या है :-

महंगाई कर्मचारियों के बेसिक सैलरी का एक सुनिश्चित प्रतिशत होता है. देश में बढ़ती महंगाई के प्रभाव को न्यूनतम स्तर में लाने हेतु सरकार अपने कर्मचारियों को महंगाई भत्ता प्रदान करती है इसे समय-समय पर बढ़ाया जाता है. रिटायर्ड कर्मचारियों को भी इसका मुनाफा प्रदान किया जाता है.

DA के बाद सैलरी किस प्रकार से बदलेगी :-

इसके नीचे में लिखे फार्मूले में सैलरी को भरने के पश्चात आप अपना DA अमाउंट जान सकते हैं.

बेसिक पे + ग्रेड पे) + DA % = DA अमाउंट

सरल भाषा में यह कहा जाए तो बेसिक सैलरी में ग्रेड सैलरी को जोड़ने के पश्चात जो सैलरी बनती है उसे ही महंगाई भत्ते की दर का गुणा किया जाता है जो भी नतीजा आता है उसे ही महंगाई भत्ता अर्थात Dearness Allowance (DA) कहा जाता है. यदि इसे एक उदाहरण से समझे तो मानिए कि आप ही बेसिक सैलरी है ₹10000 और ग्रेड पे ₹1000 हैं.

दोनों को जोड़ने के पश्चात कुल ₹11000 होते हैं. अब बड़े हुए 38% महंगाई भत्ते के हिसाब से यदि देखा जाए तो यह ₹4,180 होता है. इस सब को जोड़ने के पश्चात टोटल सैलरी ₹15180 होती है. पहले 34% डीए के मुताबिक आपको ₹14740 सैलरी प्रदान की जाती थी किंतु अब हर महीने ₹440 का अतिरिक्त फायदा आपको प्रदान किया जाएगा.

ये भी अवश्य पढ़ें:

सभी केंद्रीय कर्मचारी है प्रसन्न :-

आपको यह जानकर खुशी होगी कि जब से या खबर निकल के आ रही है प्रत्येक केंद्रीय कर्मचारी बेहद ही खुश है. इस महंगाई भरे दौर में जहां पर सब कुछ महंगा होता चला जा रहा है वहां पर हल्की सी राहत भी व्यक्ति को बहुत ही अधिक प्रसन्नता प्रदान कर देती है.

ऐसे में यदि DA को 34% से 38% कर दिया जाता है तो ऐसे में प्रत्येक कर्मचारी बहुत ही अधिक प्रसन्न हो जाएगा. इसके अतिरिक्त लोगों को बहुत ही अधिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि सब कुछ महंगाई के चलते खरीद पाना कठिन हो चुका है.

ऐसे में केंद्रीय कर्मचारियों के डीए एरिया में 4% तक की वृद्धि उठने बहुत ही अधिक राहत प्रदान कर रही है. इसके परिणाम स्वरूप इस बढ़ती महंगाई का असर केंद्रीय कर्मचारियों के ऊपर कुछ खास नहीं पड़ रहा है.

युवकों का रुझान नौकरी की और क्यों :-

इस विषय में सभी ने गौर अवश्य ही किया होगा कि आजकल के युवाओं को पढ़ लिखकर कोई बिजनेस नहीं करना अपितु वह नौकरी प्राप्ति हेतु अथक प्रयास किए जा रहे हैं. क्योंकि नौकरी करने के बहुत से फायदे होते हैं हालांकि इसमें तरक्की करने के आसान थोड़े कम होते हैं किंतु सिक्योरिटी पूरी की पूरी होती है.

नौकरी पेशा से जुड़े सभी लाभार्थियों को बहुत सी सुविधाएं प्रदान की जाती है जैसे कि उन्हें हर महीने एक निश्चित धनराशि वेतन के तौर पर दी जाती है जो कि ना कम होती है और नहीं बढ़ाई जाती है केवल प्रमोशन के पश्चात ही उनकी सैलरी में इजाफा किया जाता है. इसके साथ ही पेंशन की सुविधा भी उपलब्ध होती है. इसके अतिरिक्त जॉब सिक्योरिटी भी होती है जॉब से निकाले जाने के बहुत ही कम आसार होते हैं.

वहीं यदि कोई युवक स्टार्टअप बिजनेस करता है तो उसे बहुत ही अधिक रिस्क लेना पड़ता है. इसके साथ ही इनकम कम होगी ज्यादा होगी या फिर बहुत ही ज्यादा होगी इसकी भी कोई गारंटी नहीं होती है. इसके अतिरिक्त बिजनेस के फेल होने की भी बहुत ही अधिक संभावना होती है. ऐसे में बहुत ही कम ऐसे युवक होते हैं जिनमें एहसास होता है कि वह स्वयं का बिजनेस कर सके.

निष्कर्ष :-

आज के Article की सहायता से अपने आप सभी प्रिय पाठकों के साथ केंद्रीय कर्मचारियों को मिलने वाले महंगाई भत्ते में हुई वृद्धि के विषय में आवश्यक तथा मूल्य जानकारियां प्रदान की है. हम आशा करते हैं कि हमारा यह प्रयास आपको बहुत ज्यादा पसंद आया होगा.

लाभदायक पोस्ट पढ़ें


Important Links

WTechni HomeClick Here
Other postsClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Ahmed Ruhul Amin

हिंदी भाषा के माध्यम से सरकारी योजना, परीक्षा, नौकरी, तकनीक और ट्रेंडिंग जानकारी लिखना मुझे बहुत पसंद है.

Leave a Comment