ठेकेदार कैसे बने?

क्या जानते हैं कि जितने भी तरह के रोड, भवन, इमारते और कंपनियां बनाई जाती हैं उसके लिए ठेकेदार को ही कॉन्ट्रैक्ट दिया जाता है. अगर आपके मन में भी यह सवाल उठ रहा है कि ठेकेदार कैसे बने तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें.

अगर आप एक कांट्रेक्टर के रूप में काम करना शुरू करते हैं तो यह खुद के लिए एक बेहतरीन बिजनेस माना जाता है.

खुद के बलबूते काम करना और खुद का व्यवसायी काफी बढ़िया प्रगति करने का तरीका है. लेकिन इसके अंदर भी कई चैलेंज है जिसको आपको खुद ही सामना करना होगा. ठेकेदार के रूप में काम करना भी इतनी आसान बात नहीं है.

खुद बॉस के रूप में अपनी कंपनी शुरू करना, इसे सबसे बेहतरीन करियर और काम मान सकते हैं.

कई सारे ठेकेदारों को देखा होगा जो मकान बनाने का काम करते हैं इसके अलावा भी वे विभिन्न प्रकार के डिजाइन के भवन का निर्माण करते हैं ठेकेदारी कैसे किया जाता है और इसके लिए जरूरी बातें क्या है इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताएंगे.

खुद ही एक ठेकेदार के रूप में अपना जगह बनाने के लिए कौन से काम करने हैं इसकी जानकारी हम आपको यहाँ पर देने जा रहे हैं जिसे आपको ध्यान से पढ़ें है ताकि ये आपके लिए फायदेमंद साबित हो.

Contractor कैसे बने?

1. सुनिश्चित करें कि आप Selft Employed होना चाहते हैं

हर इंसान में एक टीम लीडर बनने की काबिलियत नहीं होती है लेकिन जिनमें होती है उन्हें पता होता है कि वह अच्छे ढंग से खुद की कंपनी को लीड कर सकते हैं तो अगर आप में वह क्वालिटी है या नहीं यह अब जाना चाहते हैं तो अब खुद से यह सवाल जरूर पूछें

क्या आप किसी भी स्थिति में सुख से निर्णय लेने के काबिल हैं?

क्या आप प्रेशर के दौरान किसी का सपोर्ट लेने के बजाय खुद ही उसका सामना अकेले करने में सक्षम है?

क्या आप इस काम में नौकरी करने के ठीक उल्टे अपने लाइफ टाइम से अधिक से अधिक समय दे सकते हैं?

अगर आपके सवालों का जवाब हां है तो फिर आप एक कांट्रेक्टर के रूप में काम करके इस बिजनेस की स्थापना कर सकते हैं.

आप अपने लाइफ स्टाइल कोपर के अपनी आर्थिक स्थिति को समझें और अपने भविष्य के लक्ष्य को जाने उसके बाद अपने परिवार से बातचीत कर ले कि आप इस काम की शुरुआत करना चाहते हैं या नहीं?

बॉस के रूप में काम करने के कई फायदे हैं लेकिन जिम्मेदारियां भी सबसे अधिक एक बॉस के कंधे में ही होती है.

जो इतनी सारी जिम्मेदारियां आती हैं तो इससे काफी ज्यादा टेंशन और प्रेशर दिमाग में पड़ता है जोकि एक व्यवसाई के लिए आम बात है.

2. शुरु करने से पहले फाइनेंसिंग/लोन करवाएं

अगर ठेकेदारी के काम में जा रहे हैं तो आपको यह जरूर पता होना चाहिए कि इसके लिए आपके पॉकेट में कितने पैसे होने चाहिए विभिन्न प्रकार के ठेकेदारी के कामों में लागत अलग अलग होती है.

बड़ी पूंजी लगाने के अलावा भी आपको अपने बिजनेस और व्यक्तिगत खर्चों को इसी में कवर करना पड़ेगा जब तक कि आपके बिजनेस से आमदनी शुरू नहीं हो जाती.

इससे पहले कि आप एक ठेकेदार बनने के लिए अपना पहला कदम कदम उठाएं, अपने फाइनेंस की पूरी रिव्यू करें

अपनी जरूरतों को समझें और फिर जरूरत हो तो फाइनेंसियल सोर्स से लोन लेने का विचार करें लेकिन लोन लेने के पहले आपके पास पर्याप्त दस्तावेजों का होना जरूरी है.

3. कांट्रेक्टिंग बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन और बीमा करा लें

इससे पहले कि आप अपने बिजनेस के ऑफिस का दरवाजा अपने क्लाइंट के लिए खोलें आपको कुछ जो की जरूरत है जो निम्नलिखित:

यह निर्णय लेकर आप अपने बिजनेस को कानूनी रूप से किस प्रकार स्थापित करना चाहते हैं?

क्या आप किसी के साथ मिलकर से शुरू करना चाहते हैं या फिर आप अकेले ही इस पर मालिकाना हक रखना चाहते हैं?

कई ऐसे भी प्रोफेशन है जिसमें मिलकर काम करने की जरूरत होती है अगर आपको इस तरह का कोई इरादा हो तो क्लाइंट के साथ में कॉन्ट्रैक्ट साइन जरूर कर लें

अपने बिजनेस का नाम रखें और फिर इसे जरूरत पड़ने पर रजिस्टर भी करा ले

जरूरत के अनुसार बीमा भी करा लें

अपने बिजनेस का एक बैंक अकाउंट भी बना ले

4. बिज़नेस प्लान तैयार करें

क्या आपके पास बिजनेस प्लान तैयार है?

यह मैं आपसे इसलिए पूछ रहा हूं कि अगर आप एक फुल टाइम जॉब कर रहे हैं तो क्या आप अभी तुरंत उस जॉब को छोड़कर कांट्रेक्टर के रूप में काम करने के लिए तैयार हैं अगर हां तो आपको एक बिजनेस प्लान तैयार रखना भी जरूरी है

या फिर आपके पास पहले से ही क्लाइंट हैं और आप इस उनकी जरूरत को पूरा करने के लिए आप बिजनेस तुरंत शुरू कर रहे हैं तो फिर उसके पहले ही आपको अपने बिजनेस प्लान के साथ इस क्षेत्र में प्रवेश करना है.

अधिकांश स्टार्टअप बिजनेस में कई कारणों से बिजनेस प्लान बनाए जाते हैं:

  • मार्केट रिसर्च करके अपने व्यावसायिक विचार की feasibility का परीक्षण करना.
  • अपने ग्राहकों को उत्पाद एवं सेवाओं को कैसे मार्केटिंग करना है इसके बारे में पूर्ण करने के लिए
  • माय नेम सिंह या फिर आकर्षक इन्वेस्टर्स को प्राप्त करना
  • भविष्य में होने वाले खर्च का आकलन करना जैसे नहीं मशीनरी, नए एम्पलाई को हायर करना.
  • एक सॉलिड बिजनेस प्लान का होना और इससे रेगुलर बेसिस पर अपडेट करते रहना आपको सफलता की कुंजी दिलाता है.

5. अपने बिज़नेस का एकाउंट्स खुद संभालें

अपने बिजनेस के शुरुआती दौर में आप अपने बिजनेस अकाउंट खुद ही संभाल के पैसे बचा सकते हैं.

इसीलिए आप अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर सकते हैं जो आपके काम को बेहद आसान कर देती है अभी कई क्लाउड बेस्ड सॉफ्टवेयर पैकेजेस आते हैं जैसे Freshbook और ZOHO का इस्तेमाल कर सकते हैं

6. काम में हमेशा प्रोफेशनल बने रहें

आपका कोई भी प्रोफेशन हो आप का लुक और आपके एक्ट करने का तरीका हमेशा मायने रखता है आपके जो भी कस्टमर होते हैं जो आपको नहीं जानते वह आपके बुरे बर्ताव और आप के पहनावे से भी उन पर बुढ़वा बुरा असर भी पड़ सकता है

प्रोफेशनल होने का यह भी मतलब है कि आप उनसे फोन में अच्छे बोलने में बात करें वॉइस मेल का प्रयोग करें और उनके आए हुए ईमेल और मैसेज को अच्छे ढंग से रिप्लाई करें

आज के इस ऑनलाइन दौर में ऑनलाइन रिव्यू और सोशल मीडिया के इस्तेमाल से बुरा कस्टमर सेवा आपके बिजनेस को चौपट कर सकते हैं

आज की ऑनलाइन रिव्यू और सोशल मीडिया की दुनिया में, खराब ग्राहक सेवा आपके बिजनेस के लिए बहुत बुरा साबित हो सकता है

अगर आप अपने बिजनेस को घर से ही संभालना चाहते हैं और वहीं पर कारण से मीटिंग करना चाहते हैं तो अपने घर के एक कमरे को अच्छी तरह से फर्निश्ड और इक्विप करें ताकि वह प्रोफेशनल लुक दिखाई दे.

7. अपने बिज़नेस का मार्केटिंग कराएं

जब कोई बिजनेस शुरुआती दौर में होता है तो उस वक्त सबसे बड़ा चैलेंज शुरुआती कस्टमर ढूंढने होते हैं अगर आप किसी फुल टाइम जॉब छोड़ कर इस पेशे में गए हैं तो आपको अपने शुरुआती के कुछ पैसे चुकाने वाले बैंक कस्टमर ढूंढने काफी चैलेंजिंग हो सकते हैं.

अगर आपके कांटेक्ट में कोई पोटेंशियल क्लाइंट नहीं है तो आप अपने दोस्त फैमिली मेंबर को कांटेक्ट कर सकते हैं और जितने भी उनके जाने वाले लोग हैं उनसे word-of-mouth का फायदा ले सकते हैं जो सीधे अच्छी फीडबैक देकर आपको बिजनेस बढ़ाने में मदद करेंगे

अगर आप इस प्रेस से शुरुआत कर रहे हैं तो एक मार्केटिंग प्लान को भी इसमें शामिल करें और अच्छी मार्केटिंग स्ट्रैटेजिस के साथ अपने पहले क्लाइंट को ढूंढें

8. लोगों के बिच अपना रेपुटेशन बनायें

सबसे आइडियल कस्टमर हुआ है जो जीवन भर आपसे आपकी सेवाएं लेता रहे लेकिन आइडियल कस्टमर बनाने के लिए आपको उसको अपने काम के जरिए आकर्षित करना पड़ेगा..

आपको अपने कंप्यूटर से भी बेहतर सुविधा आपको अपने कस्टमर को देनी पड़ेगी

तब जाकर लोगों की तब जाकर लोगों के बीच में आपकी रेपुटेशन बनेगी . इसके लिए जो जरूरी बातें हैं वह निम्नलिखित हैं

ईमानदारी और इंटीग्रिटी के लिए एक रेपुटेशन को डेवलप करना

समय पर काम करना और ओवर-डिलीवरी

हर गलती को सही करना

हर कस्टमर को स्पेशल मानिए और उन्हें रेगुलरली धन्यवाद देने के तरीके ढूंढने.

9. सारे कामों को खुद न करें

अगर आपका बिजनेस अच्छा चल रहा है और अब को पर्याप्त समय नहीं मिल पा रहा है तो सारे कामों को खुद ही निपटाने में ना लगे रहे.

अपनी सहायता के लिए एक शब्द कांट्रेक्टर को रखें ताकि वे आपके लोड को कम कर सकें. इससे आपको यह फायदा होगा कि आप अपनी क्षमता का हंड्रेड परसेंट दे सकेंगे और आपके दिमाग में किसी प्रकार का प्रेशर भी नहीं होगा

10. बिज़नेस का विस्तार करने से पहले इसके लिए खुद को तैयार करें

कॉन्ट्रैक्ट से जुड़े अधिकतर बिजनेस जब बोलने लगते हैं तो एक समय ऐसा आता है जब उससे विस्तार करने की जरूरत पड़ती है और उसके लिए कुछ और लोगों को हायर करके उन्हें भी काम देना होता है.

बिजनेस को एक्सपेंड करने के पहले आपको कुछ बातों के लिए तैयार होना पड़ेगा तब आप इसे सफलतापूर्वक कर सकते हैं जो महत्वपूर्ण बातें इसके लिए जरूरी है वह निम्नलिखित है:

आपको अपने काम से जुड़े लोगों को ढूंढने में परेशानी का सामना करना पड़ता है.

जब तक आपका स्टाफ अपने सैलरी से ज्यादा इनकम नहीं करता तो आपकी प्रॉफिट भी नहीं बढ़ती.

आपके काम की रिपीटेशन मुश्किलों में जा सकती हैं अगर उनका परफॉर्मेंस अच्छा नहीं होता है.

अधिकतर कॉन्टैक्टर तो ऐसे होते हैं जो अपने बिजनेस को छोटा ही रखते हैं और उसी दायरे में रहकर अपने कामों को निपटा पी लेते हैं जिससे उनको काम हैंडल करना आसान भी होता है और बिजनेस को नियंत्रित करना भी उनके लिए परेशानी का कारण नहीं बनता.

वहीं दूसरी और अगर आप अपने बिजनेस को फैला कर बहुत बड़ा बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको काफी मेहनत करनी पड़ेगी और काफी चुनौतियों का भी सामना करना पड़ेगा.

निष्कर्ष

अपने खुद के पैरों में खड़ा होना काफी अच्छी बात है जहां एक और एक फुल टाइम जॉब करके जीवन बिताना कम टेंशन वाला काम होता है लेकिन पैसे भी एक सीमित मात्रा में मिलते हैं.

वहीं दूसरी ओर एक बिजनेस करने वाले इंसान को काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है लेकिन इसमें आए सीमित मात्रा में नहीं होती बल्कि आपकी मेहनत और आप की प्लानिंग पर आए काफी बड़ी भी हो सकती है.

इसी प्रकार के बिजनेस के बारे में हमने यहां पर जानकारी दी और बताया कि इच्छा रखने वाले लोग कांट्रेक्टर कैसे बने? ठेकेदार बनने के लिए कौन से गुण आपके अंदर होने चाहिए और किस प्रकार से आप एक सफल ठेकेदार बन सकते हैं?

अगर आपको यह आर्टिकल अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें

About Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है. लोगों को उनके जीवन में कैरियर बनाने में सही निर्देश देना और हर प्रकार के नौकरी के बारे में जानकारी देना काफी पसंद है ताकि उनका भविष्य बन सके.

Leave a Comment