कंप्यूटर के लाभ-हानि

0
12
कंप्यूटर के लाभ - हानि

आज के आधुनिक समय में कंप्यूटर का उपयोग एक आम बात हो गया है। आधुनिक समय में डिजिटल तरीके से कामकाज के लिए कंप्यूटर का सबसे ज्यादा महत्व है। आज के दौर पर 80 फ़ीसदी काम कंप्यूटर द्वारा होने लगा है कंप्यूटर का इस्तेमाल बूढ़े से लेकर छोटे बच्चे भी कर रहे हैं। और जिन लोगों को कंप्यूटर नहीं आ रहा है। वह भी कंप्यूटर सीखने का प्रयास कर रहे हैं।

कंप्यूटर मनुष्य के जीवन की एक दैनिक कार्यों को करने के लिए भी उपयोग किया जा रहा है। कंप्यूटर का इस्तेमाल इसलिए इतना ज्यादा तेजी से बढ़ रहा है। क्योंकि कंप्यूटर से कम समय में आसानी से और कम पैसे खर्च करके वह काम करवाया जा सकता है। जिसे हाथ से करने में काफी दिक्कत आती है। समय भी ज्यादा लगता है और पैसा भी ज्यादा खर्च होता है।

कंप्यूटर का काम करीब 10 से 15 इंसानों के बराबर है जितना काम 10-15 इंसान मिलकर करते हैं। उतना काम कंप्यूटर अकेला उतने ही समय में कर लेता है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको कंप्यूटर के फ़ायदों के बारे में और कंप्यूटर से नुकसान के बारे में बात करेंगे। हालांकि कंप्यूटर के फायदे अधिक है और नुकसान कम है। लेकिन फिर भी तीन प्रकार के नुकसान होते हैं। उनके बारे में इस आर्टिकल में हम मुख्य रूप से जिक्र करेंगे। जो कि सभी के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकता है सो अधिक जानकारी के लिए लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक जरूर् पढ़े-

कंप्यूटर के फायदे

कंप्यूटर मनुष्य के लिए आमतौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला एक ऐसा उपकरण बन गया है। जो सभी कार्यों को बड़े आसानी से बिल्कुल कम समय में संपन्न करता है। कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है। जिसे हर कार्य आसानी से और सरलता के साथ पूरा किया जा सकता है। कंप्यूटर से काम करने में उस काम को बिल्कुल परफेक्ट तरीके के साथ पूरा किया जा सकता है। कंप्यूटर के क्या-क्या फायदे हैं। जो नीचे निम्न रूप से दिए गए हैं।

ये भी जाने –

तेज़ गती

कंप्यूटर एक प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक मशीन है। जो किसी भी कार्य को तेजी से संपन्न करती है। हालांकि कंप्यूटर पर कार्य करने के लिए एक कंप्यूटर ऑपरेटर की जरूरत होती है। लेकिन कंप्यूटर 10 से 15 लोगों का काम अकेले कर सकता है और उसके साथ ही कंप्यूटर से किसी भी प्रकार की गलती होने के चांसेस बिल्कुल ना के बराबर होता है।

कंप्यूटर इंसान की तुलना में बहुत तेज कार्य करता है। इसके अलावा किए गए कार्य का संग्रहण भी रखता है साथ ही कार्य को एक सरल तरीके से करता है।

कंप्यूटर में डाटा को प्रोसेस करने की क्षमता होती है। जो बहुत कम समय में इनपुट किए थे। डाटा को प्रोसेस करके आउटपुट दे देता है।

कंप्यूटर द्वारा प्रोसेस किए गए डेटा की गति इतनी तेज होती है कि डाटा प्रोसेस होने में 1 सेकंड भी नहीं लगता है। मतलब की यह कंप्यूटर मनुष्य से काफी कम समय मे फ़ास्ट गति से कार्य करता है।

काम की शुद्धता

कंप्यूटर द्वारा किए गए काम में अत्यधिक शुद्धता होती है। कंप्यूटर द्वारा किए गए काम में 99.99 प्रतिशत गलती नहीं होती है। अगर कोई गलती होती है तो वह कंप्यूटर ऑपरेटर की वजह से हो सकती है। कंप्यूटर द्वारा प्रोसेस किए गए डेटा में कोई प्रकार की गलती कभी भी देखने को नहीं मिल सकती है।

कंप्यूटर दिए गए इनपुट को सही तरीके से प्रोसेस करके आउटपुट देता है। कंप्यूटर की गणना हंड्रेड परसेंट बिना कोई त्रुटि के होती है। कंप्यूटर द्वारा की गई गणना में किसी भी प्रकार की कभी भी समस्या नहीं आ सकती। इसीलिए ज्यादातर कार्यों को कंप्यूटर के माध्यम से किया जा रहा है। क्योंकि कंप्यूटर मनुष्य की तुलना में बहुत अधिक शुद्धता के साथ रिजल्ट दिखाता है। मनुष्य तो एक बार के लिए किसी काम को करने में गलती कर सकता है लेकिन इसके द्वारा किया गया कार्य कभी गलत नही होता।

संग्रहण क्षमता

कंप्यूटर की संग्रहण क्षमता बहुत ज्यादा होती है। कंप्यूटर जो भी काम करता है। वह संग्रहित करके रखता है। जब तक कि कंप्यूटर ऑपरेटर उस फाइल को डिलीट नहीं कर देता।

कंप्यूटर की संग्रहण क्षमता मनुष्य की तुलना में कई गुना होती है और संग्रहित की गई फाइलों को भी चंद सेकेंड में ढूंढ लिया जाता है। कंप्यूटर द्वारा किए गए सभी काम क्रम के अनुसार फाइलों में सेव हो जाते हैं।

कम मेहनत और थकान मुक्त

कंप्यूटर पर बहुत कम मेहनत करनी होती है। जितना काम आप हाथ से करते हैं। इतनी मेहनत में कई गुना ज्यादा काम कंप्यूटर द्वारा किया जा सकता है। इसके अलावा कंप्यूटर पर कितना भी काम आप बिना रुके कर सकते हैं। कंप्यूटर थकान मुक्त उपकरण है। जिसको कितना भी उपयोग करने के बाद भी किसी भी प्रकार की रुकावट नहीं आती है और ना ही कंप्यूटर परिणाम देना बंद करता है।

कंप्यूटर के द्वारा एक बार में कई घंटों तक लगातार काम किया जा सकता है और उन सभी कार्यों द्वारा प्राप्त रिजल्ट में कोई प्रकार की त्रुटि नहीं आती है। हालांकि मनुष्यों में लगातार काम करने के कारण थकावट की वजह से कई प्रकार की त्रुटियां उत्पन्न हो जाती है।

स्वचालितता

कंप्यूटर में टाटा ऑटोमेटिक प्रोसेस होता है। डाटा को प्रोसेस करने के लिए आपको सिर्फ इनपुट देना होता है। उसके बाद कंप्यूटर खुद उस डाटा को प्रोजेक्ट करके आउटपुट दिखाता है। यह कंप्यूटर की सबसे बड़ी खूबी है।

कंप्यूटर के माध्यम से कई प्रकार के काम को स्वचालित तरीके से किया जा सकता है। जिनमें कम मेहनत से डाटा इनपुट करके उनका परिणाम प्राप्त किया जा सकता है।

संचार सुविधा

इसके अलावा यह कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर से आपस में कई संचार माध्यमों से जोड़ा जा सकता है और वीडियो कॉल भी किया दी की वजह से आपस में दो या अधिक लोग कंप्यूटर पर दूर बैठे-बैठे बातचीत भी कर सकते हैं।

कंप्यूटर द्वारा एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में डाटा का आदान प्रदान किया जा सकता है तथा कई महत्वपूर्ण फाइलों को एक कंप्यूटर से दूसरे कमरे में भेजा जा सकता है। इसके अलावा डाटा स्थानांतरण करने के लिए फाइलों को अलग अलग तरीके से बनाया जा सकता है। जैसे डॉक्स फाइल, पीडीएफ फाइल, जेपीजी फाइल, पीएनजी फाइल इत्यादि

कार्य विविधता

कंप्यूटर एक वर्सेटाइल मशीन है। जिसमें अलग-अलग कार्यों को एक साथ किया जा सकता है। कंप्यूटर में कई प्रकार के टैब ओपन करके एक साथ एक से अधिक काम को संपन्न किया जा सकता है।

कंप्यूटर में उन सभी काम को समान स्पीड के साथ एक साथ आसानी से संपन्न किया जा सकता है। एक साथ कई विषयों पर क्षेत्रों के कार्य संपन्न किए जा सकते हैं।

भरोसेमंद उपकरण

कंप्यूटर एक भरोसेमंद उपकरण बन चुका है। कंप्यूटर द्वारा दिया गया परिणाम हंड्रेड परसेंट सही है और लोगों के लिए भी एक विश्वसनीय उपकरण बन चुका हैं।

कंप्यूटर का आविष्कार आज से कई सालों पहले हुआ था। उसके पश्चात इसकी 4 5 जनरेशन आ चुकी है। सभी जनरेशन में कंप्यूटर की कमियों को दूर किया गया और आज के समय उपयोग किया जाने वाला मॉडर्न कंप्यूटर का निर्माण हुआ। मॉडर्न कंप्यूटर में बिल्कुल ना के बराबर त्रुटिया है।

कंप्यूटर में खराब होने वाले भागों को आसानी से रिप्लेस कर के नए पार्ट डाले जा सकते हैं। कंप्यूटर को आसानी से मेंटेनेंस किया जा सकता है और मेंटेनेंस का खर्चा भी कम आता है।

प्रकृति के अनुकूल

कंप्यूटर प्रकृति के अनुकूल उपकरण माना जाता है क्योंकि कंप्यूटर से प्रदूषण नहीं होता है। हालांकि कई प्रकार की अल्ट्रावॉयलेट किरणें जो कंप्यूटर से निकलती है। वह शरीर के लिए तथा मानव जाति के लिए हानिकारक है। लेकिन इनका प्रदूषण कंप्यूटर चाहिए बिल्कुल ना के बराबर हो रहा है। कंप्यूटर मैं सभी कार्य बिना पेपर के होते हैं।इनमें किसी भी कार्य को करने में पेपर की जरूरत नहीं होती है।

कंप्यूटर द्वारा प्रिंट निकालते वक्त पेपर की आवश्यकता होती है। लेकिन प्रिंट निकालने की इतनी जरूरत नहीं पड़ती है। इसीलिए बिना पेपर काम होने की वजह से पेपर की बचत होती है और लाखों पेड़ बच जाते हैं। क्योंकि कागज का निर्माण पेड़ों से होता है। इसीलिए कंप्यूटर प्रकृति का रक्षक माना जाता है।

कम्प्युटर के नुकसान

कोई भी वस्तु हो उसमें फायदों के साथ-साथ नुकसान अवश्य देखने को मिलते हैं। हालांकि ऐसा हो सकता है कि किसी भी चीज के फायदे अधिक हो और नुकसान कम हो कंप्यूटर में भी कुछ ऐसा ही है। कंप्यूटर के फायदे बहुत हैं। लेकिन फायदों के साथ-साथ कंप्यूटर के कई प्रकार के नुकसान भी है। जिनके बारे में आप नीचे डिटेल में पढ़ सकते है।

विवेक क्षमता का अभाव

कंप्यूटर के बढ़ते उपयोग ने लोगों की मानसिक शक्ति को कमजोर किया है। क्योंकि पहले लोग सभी प्रकार की गणना अपने दिमाग से करते थे। लेकिन जैसे ही कंप्यूटर आया है कंप्यूटर द्वारा सभी घटनाएं हो रही है। लोग अपने दिमाग की घटनाओं को करना छोड़ रहे हैं। ऐसे में विभाग की कोई प्रकार की कसरत नहीं हो पाती है और मानसिक तौर पर लोग कमजोर होते जा रहे हैं।

मनुष्य पर निर्भर

कंप्यूटर को स्वचालित मशीन बताया जाता है। लेकिन फिर भी एक कंप्यूटर को चलाने के लिए कम से कम एक ऑपरेटर की जरूरत अवश्य होती है। कंप्यूटर का कोई भी कार्य ऐसा नहीं है।

जो मनुष्य द्वारा ऑपरेट किए बिना ही हो सके। क्योंकि कंप्यूटर द्वारा डाटा प्रोसेसिंग तब संभव हो पाएगा जब मनुष्य द्वारा इनपुट डाला जाएगा। कंप्यूटर मुख्य रूप से मनुष्य पर निर्भर है और मनुष्य द्वारा ऑपरेट किया जाता है।

साफ-सुथरा वातावरण

कंप्यूटर के काम को करने के लिए एक साफ-सुथरे वातावरण की जरूरत पड़ती है। अन्यथा कंप्यूटर की कार्य क्षमता बहुत ज्यादा प्रभावित होती है और कंप्यूटर में कई प्रकार की वायरस और धूल जमा हो जाती है। जो कंप्यूटर को कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न करवा देती है।

लाइट की जरूरत

कंप्यूटर से काम करने के लिए स्वच्छ वातावरण की आवश्यकता होती है और इसके साथ ही लाइट की आवश्यकता बहुत जरूरी है। बिना बिजली के कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। हालांकि कई प्रकार के बैटरी के आधार पर कुछ समय तक कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जा सकता है। लेकिन लंबे समय तक बिना लाइट कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं होगा।

निष्कर्ष

कंप्यूटर के आने से कितना कुछ बदल चुका है ये सब आपके सभी के सामने है अगर आज दुनिया दिन प्रतिदिन प्रोग्रेस कर रही है तो यह सब कंप्यूटर की ही वजह से संभव हुआ है।

जहां व्यक्ति को किसी व्यक्ति काम करने के लिए महीने लगते तब वही काम आज कंप्यूटर के मदद से सेकंड में किया जा सकता है, हालांकि कंप्यूटर एक।मशीन है लेकिन यह मशीन किसी भी व्यक्ति से ज्यादा काम करने और अच्छा रिजल्ट देने की क्षमता रखता है।

कंप्यूटर के आने से दुनिया भर में हर दिन नए कामों को दिशा दी जा रही है, मतलब की कंप्यूटर के काफी फायदे है और वह इसके कुछ नुकसान भी है जिसके बारे में हम आपको ऊपर डिटेल में बता चुके है।

कंप्यूटर से जुड़ी ऊपर दी गयी जानकारी जो कि आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण थी इसलिए हमने आपके साथ इस महत्वपूर्ण जानकारी को शेयर किया।

उम्मीद करते है कि आपको इस लेख के माध्यम से दी कंप्यूटर से जुड़ी यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी।

Previous articleज़मीन पर लोन कैसे लें?
वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है. लोगों को उनके जीवन में कैरियर बनाने में सही निर्देश देना और हर प्रकार के नौकरी के बारे में जानकारी देना काफी पसंद है ताकि उनका भविष्य बन सके.

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here