Cement Latest Price: सीमेंट का नया MRP हुआ जारी

घर बनाने वाले प्रत्येक व्यक्ति को झटका लगा है, क्योंकि सीमेंट का नया एमआरपी जारी हो चुका है. आज के समय में प्रत्येक व्यक्ति का आमतौर पर यही स्वप्न होता है, कि वह खुद के घर को बनाए.

आज के इस महंगाई भरे दौर में जहां मूलभूत सामग्रियों की आपूर्ति ही इतनी कठिनाइयों से होती है. वहां पर घर बनाना सपना ही रह जाता है.

तो इस बात का अनुमान भी आपको अवश्य ही होगा कि यह कोई सरल कार्य नहीं है.

आज के हमारे लेख में सीमेंट के दामों में बढ़ोतरी को लेकर चर्चा करेंगे.

तो इस विषय में अधिक जानकारी हासिल करने के लिए हमारे पोस्ट को पढ़े ताकि दामों में वृद्धि होने से पहले आप घर बनाने के लिए सीमेंट खरीद सके.

बढ़ती महंगाई का प्रभाव:

देश में बढ़ रही महंगाई से आम लोगों के वास्ते हर दिन मुश्किल सा होता चला जा रहा है और तो और सब्जियों से लेकर के एफएमसीजी आइटम्स भी महंगे होते चले जा रहे हैं.

अब इसी से संबंधित यह खबर भी आ चुकी है जो कि घर बनाने वाले प्रत्येक व्यक्ति या फिर कंस्ट्रक्शन कराने वालों के लिए चिंता का विषय बन चुका है.

घर बनाने में सबसे ज्यादा उपयोग किए जाने वाले वस्तु अर्थात सीमेंट के दामों में ₹2 से लेकर के ₹4 प्रति बोरी के हिसाब से वृद्धि हुई है.

इतना ही काफी नहीं है, अब नवंबर में भी सीमेंट के बोरों के रेट में वृद्धि होने वाली है, जो कि स्वयं के घर बनाने वाले या फिर कंस्ट्रक्शन कार्य करने वाले लोगों के लिए दुखद समाचार है.

अगर आप जानना चाहते हैं कि भवन निर्माण के किन-किन सामग्रियों में कितनी गिरावट आई है, तो हमारे द्वारा शेयर किए गए एक और आर्टिकल भवन निर्माण सामग्री रेट की पूरी डिटेल्स जाने.

एमके ग्लोबल ने जारी की सीमेंट कीमतों पर रिपोर्ट: 

एमके ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विस लिमिटेड इस बात की जानकारी प्रदान की है कि सीमेंट कंपनी नवंबर में कीमतों में ₹10 से लेकर ₹30 प्रति बैग के हिसाब से बढ़ोतरी करने की तैयारी में है.

एमके ग्लोबल ने अभी हाल फिलहाल में ही एक सेक्टोरियल रिपोर्ट में यह बात उल्लेख की थी कि सीमेंट कंपनी 22 नवंबर को सभी क्षेत्रों में ₹10 से लेकर ₹35 प्रति बैग की कीमतों में वृद्धि करने की पूरी योजना बना चुकी है.

आपको हम इस बात से पूरी तरह से अवगत करवा की इन कीमतों में बढ़ोतरी का या खुलासा अगले कुछ दिनों में ही जारी किया जाने वाला है. 

देश के विभिन्न क्षेत्र में सीमेंट कीमतों पर रिपोर्ट:

देश के अलग-अलग भागों में सीमेंट कीमतों पर रिपोर्ट एमके ग्लोबल ने बताया है कि अक्टूबर 2022 में औसत अखिल भारतीय सीमेंट मूल्य वृद्धि लगभग ₹3 से लेकर के ₹4 प्रति बोरी के हिसाब से थी.

महीने दर महीने (एमओएम) के बेसिस पर कीमतों में पूर्व और दक्षिण में 2% से लेकर के 3% एवं पश्चिम में लगभग 1% की वृद्धि की गई.

रिपोर्टों में इस बात का भी उल्लेख है, कि उत्तर एवं मध्य क्षेत्र में 1% से लेकर के 2% की गिरावट देखने को मिली है.

हाल ही में निर्माण सामग्रियों का दाम आसमान छू रही थी जिसके कारण लोगों को घर बनाने का बजट बिगड़ गया था. ऐसे में हाल ही में सरिया सीमेंट के दामों में आयी है भारी गिरावट, यहाँ देखे नई रेट.

अक्टूबर में दिखा मांग का प्रभाव: 

ऊंचा आधार के कारण ही 22 अक्टूबर को उद्योग की मात्रा में उच्च एमओएम अंक और निम्न दोहरे अंकों वाले एमओएम में गिरावट की संभावना जताई जा रही थी.

रिपोर्टों कि यदि मानें तो उनके मुताबिक मानसून की देरी से बाहर निकलने एवं त्योहारों की छुट्टियों के परिणाम स्वरुप ही श्रमिकों की कमी ने 2022 के अक्टूबर की मांग को प्रभावित किया.

आने वाले सप्ताहों में मांग में सुधार की उम्मीद जताई जा रही है. सभी प्रमुख त्यौहार समाप्त हो चुके हैं, एवं एक व्यस्त निर्माण सीजन प्रारंभ होने को है.

सीमेंट इंडस्ट्री पर कम होंगे दबाव: 

एमके ग्लोबल ने इस बात की जानकारी प्रदान की है, कि लागत में बढ़ोतरी सीमेंट की कीमतों में बढ़ोतरी तथा आने वाली तिमाहियों में निर्माण गतिविधियों में तेजी के साथ साथ आने वाली तिमाही में उद्योग के लोगों के वास्ते लागत दबाव कम होने की संभावना है.

इतना ही नहीं इसके अलावा उद्योग मार्जिन दूसरी तिमाही में नीचे रहने की उम्मीद भी जताई जा रही है. अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की कीमतें $195 प्रति टन के शिखर से करीब करीब 30% नीचे है.

एमके ग्लोबल ने यह भी कहा है कि इसके अतिरिक्त इंधन की कीमतों में भी गिरावट से वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही से लागत में कम से कम ₹150 से लेकर के ₹250 प्रति टन की बचत होने की उम्मीद भी है.

अगर आप भी किफायती घर बनाना चाहते हैं तो एक अन्य आर्टिकल के माध्यम से हाउस कंस्ट्रक्शन टिप्स को अवश्य पढ़ें और अपने पैसे को बचाएं.

बढ़ती महंगाई में कहीं राहत नहीं: 

इस बारे में सभी जानते ही हैं, क्योंकि इससे सभी लोग कहीं ना कहीं रिलेट भी कर रहे हैं, कि देश में महंगाई बहुत ही ज्यादा तेजी से बढ़ रही है. लेकिन अभी कंस्ट्रक्शन मैटेरियल्स की कीमतों में गिरावट देखने को मिली थी.

अगर इसके कारण को जानने की कोशिश की जाए तो वह था मॉनसून, क्योंकि इस समय में देश के बहुत सारे हिस्सों में भारी वर्षा हो रही थी.

ऐसे में निर्माण कार्य को कर पाना बहुत ही ज्यादा कठिन था और इन सभी मैटेरियल्स की मांग में भी कमी आई थी.

इन सभी के चलते इन सभी कंस्ट्रक्शन मैटेरियल्स की कीमतों में गिरावट देखने को मिली थी.

लेकिन जैसे ही मॉनसून की समयवधि समाप्त हो गई और फिर से सब कुछ रफ्तार में आने लगे तो इन सभी की कीमतों में भी वृद्धि की जा चुकी है.

केवल सीमेंट के ही मूल्य नहीं गिरे थे:

वैसे तो अभी संभवत केवल सीमेंट के मूल्यों में ही वृद्धि देखने को मिली है.

लेकिन कंस्ट्रक्शन मैटेरियल्स के और भी सारे सामग्रियों में वृद्धि देखने को मिल सकती है. क्योंकि उनके भी मूल्य पिछले कुछ महीनों से बहुत ही ज्यादा गिरे हुए हैं.

सीमेंट के अतिरिक्त सरिया, ईंट इत्यादि के मूल्यों की बढ़ने की संभावना जताई जा रही है. 

ऐसे में जाहिर सी बात है जब इन सभी सामग्रियों के मूल्य कम थी, उस समय जिन लोगों ने भी इनको खरीद कर नहीं रखा था वह अभी इन सभी चीजों को खरीदने में ज्यादा पैसों का निवेश करेंगे. 

खुद का घर बनाना हर व्यक्ति का सपना होता है क्योंकि खुद का घर बनाना कोई आसान बात नहीं है और वह भी आज के इस महंगाई भरी दौर में, अभी कुछ दिन से खबर आ रही हैं की सीरिया और सीमेंट के दाम में गिरावट आई है.

निष्कर्ष: 

आज के इस पोस्ट में हमने कंस्ट्रक्शन मैटेरियल में से एक सीमेंट के बारे में आई नई अपडेट के बारे में जरूरी जानकारियां उल्लेखित की है.

हमने इसके मूल्यों में आई वृद्धि के बारे में भी जानकारियां प्रदान की है. हमें आशा है कि हमारे द्वारा उपलब्ध कराई गई सभी जानकारियां आपको पसंद आई होगी.

Ahmed Ruhul Amin

हिंदी भाषा के माध्यम से सरकारी योजना, परीक्षा, नौकरी, तकनीक और ट्रेंडिंग जानकारी लिखना मुझे बहुत पसंद है.

Leave a Comment