बीएसए कैसे बने?

बीएसए जिसका पूरा नाम बेसिक शिक्षा अधिकारी होता है और एक बीएसए की ड्यूटी पूरे जिले की शिक्षा व्यवस्था को सुचारु रूप से संचालित कराना होता है। इस पद के अधिकारी को अपने पूरे जिले की शिक्षा व्यवस्था की देख रेख के लिए राज्य सरकार के अन्तगर्त इस पद के लिए चयनित किया जाता है।

बीएसए का काम पूरे जिले में प्राइमरी स्कूल या फिर जूनियर हाई स्कूल जैसे स्कूल में शैक्षिक व्यवस्था को लागू करना होता है साथ ही अगर जिले के किसी भी प्राइमरी स्कूल या जूनियर हाई स्कूल या फिर कॉलेज में टीचर या प्रधानाचार्य पर जांच होने में किसी प्रकार की कमी पाई जाती है तो बेसिक शिक्षा अधिकारी उसे दण्ड देने का निर्धारण कर सकता है.

इसलिए इस पद को जिले की शिक्षा विभाग का सबसे बड़ा पद माना जाता है। जिले में होने वाली संबिदा वाली भर्तियाँ उस जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी के अधीन ही होती है। अगर आप भी एक बेसिक शिक्षा अधिकारी बनना चाहते है.

और आपको नही पता है कि एक बेसिक शिक्षा अधिकारी बनने के लिए आपको कितनी पढ़ाई करनी होती है और आपको अपने एग्जाम कि किस प्रकार तैयारी करनी होती है तो इस आर्टिकल को अंत तक ज़रुर पढ़े। इस आर्टिकल में आपको ये सभी जानकरी दी जाएगी।

बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) कैसे बनें

अगर आप बेसिक शिक्षा अधिकारी बनना चाहते है तो सबसे पहले आपको ये बात जान लेनी चाहिए कि यह ऑफिसर लेवल का पद है और इसलिए इसका एग्जाम काफी कठिन होता है। जिसको पास करने के लिए किसी भी Student के लिए काफी मुश्किल हो जाता है लेकिन अगर आप इस एग्जाम के पैटर्न और सिलेबस के बारे में जानकारी लेने के बाद इस एग्जाम की तैयारी करेगे तो आप निश्चित ही सफल होगें।

बेसिक शिक्षा अधिकारी बनने के लिए आपको तीन स्टेप्स को पूरा करना पड़ता है पहली दो स्टेप्स में आपका एग्जाम होता है इसमें आपको 2 परीक्षाये पास करनी पड़ती है और इसके बाद आपका एक इंटरव्यू होता है अगर आब इन सभी में सफल हो जाते है तब आप एक बेसिक शिक्षा अधिकारी बन सकते है।

ये भी जाने –

बेसिक शिक्षा अधिकारी के आवेदन फॉर्म प्रत्येक वर्ष आते है. जिसमे आपको अपना फॉर्म अप्लाई करना होता है। फॉर्म अप्लाई करने के बाद आपको प्री एग्जाम के लिए बुलाया जाता है। ये परीक्षा राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा कराई जाती है।

अगर कोई उम्मीदवार इस परीक्षा में पास हो जाता है तब उस उम्मीदवार को अगली परीक्षा के लिए shortlist किया जाता है और उसको मेन परीक्षा के लिए बुलाया जाता है। ये परीक्षा प्री एग्जाम से ज्यादा कठिन होती है। अगर उम्मीदवार ने अपनी परीक्षा की तैयारी अच्छे से की है तो आप इस परीक्षा में ज़रुर सफल होगे।

योग्यता

जब हम किसी सरकारी नौकरी हो या फिर प्राइवेट नौकरी उसके लिए आवेदन करते है तो उसके लिय कुछ जरूरी योग्यताओ से गुजरना होता है। बैसे ही यहां अगर आप इस नौकरी को पांना चाहते है और उसमे आवेदन करना चाहते है तो उसके लिए आपको नीचे दी गयी योग्यताओ से गुजरना होगा आप।इन्हें एक बार अच्छे से अवश्य पढ़ ले –

बेसिक शिक्षा अधिकारी के पद के लिए शैक्षिक योग्यता

बेसिक शिक्षा अधिकारी के एग्जाम की परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त
विश्वविद्यालय से ग्रजुएट होना अनिवार्य है अगर आप अपनी ग्रेजुएशन के अंतिम बर्ष में है तब भी आप इस परीक्षा में
शामिल हो सकते है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी के लिए तय आयु सीमा

बेसिक शिक्षा अधिकारी की परीक्षा में आवेदन करने के लिए आपकी आयु कम से कम 21 बर्ष होनी चाहिए और अधिक से अधिक आयु 40 वर्ष है। लेकिन आरक्षण के कारण कुछ जाति वर्गों में आयु सीमा में छूट दी जाती है जो नीचे दी गई है।

  • अगर आवेदक अन्य पिछड़ा वर्ग का उम्मीदवार है तो उसके लिए तय उम्र सीमा 43 वर्ष (3 वर्ष की छूट)
    है।
  • अगर आवेदक किसी अनुसूचित जाति या फिर किसी अनुसूचित जनजाति वर्ग से आता है तो उसके लिए तयउम्र सीमा 45 वर्ष (5 वर्ष की छूट) है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी की परीक्षा का पैटर्न

जैसा कि आप जानते है कि किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए आपको उस परीक्षा के पैटर्न के बारे में पता होना बहुत आवश्यक हो जाता है क्योंकि इससे आपको पता चलता है कि परीक्षा के किस तरह के प्रश्न आते है।

और परीक्षा में किस किस टॉपिक से ज्यादा प्रश्न आते है जिससे आपको आने वाले परीक्षा के प्रश्न पत्र का अनुभव हो जाता है। और आप ज्यादातर ऐसे ही टॉपिक पढ़ते है जिससे परीक्षा में ज्यादा प्रश्न पूछे जाते है।

अगर आप उस परीक्षा के पिछले सालो के प्रश्नोंपत्रों को पढ़ते है और उनकी सहायता से अपने एग्जाम की तैयारी करते है तो आप निश्चित हो सफल हो जायेगे। आज कल हर क्षेत्र में कॉम्पटीशन काफी बढ़ता जा रहा है और जब आप किसी सरकारी नौकरी की तैयारी करते है। और आज हर युवा स्टूडेंट सरकारी नौकरी पाने की होड़ में लगा हुआ है जिससे आपको बहुत ही ज्यादा competition मिलता है।

और जब बात किसी अधिकारी लेवल की नौकरी की हो तो ये completion बहुत ज्यादा बढ़ जाता है क्योंकि बेसिक शिक्षा अधिकारी जो एक जिला लेवल का अधिकारी होता है इस लिए ये एग्जाम काफी कठिन हो जाता है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी के एग्जाम में दो परीक्षाये होती है एक प्री एग्जाम और दूसरी मेन एग्जाम। इनके बारे में विस्तार से बताया जा रहा है कृपया ध्यान से पढ़े जिससे आप पाने एग्जाम को आसानी से पास कर सकते है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी की प्रारंभिक परीक्षा

परीक्षा : बेसिक शिक्षा अधिकारी की प्रारंभिक में General Studies के प्रश्न पूछे जाते है और परीक्षा का पेपर कुल 300 नंबर का होता है। इस पेपर में कुल 120 प्रश्न पूछे जाते है और हर प्रश्न का अंक 2।5 अंक का होता है।

लेकिन अच्छी बार ये होती है कि इस परीक्षा में सभी प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होते है जिनको हल करने में ज्यादा समस्या नही होती है। और बेसिक शिक्षा अधिकारी के इस पेपर का टाइम 2 घंटे का होता है जिसमे आपको सभी प्रश्न हल करने होते है.

लेकिन आपको एक बात पता होनी चाहिए की इस पेपर में नेगेटिव मार्किंग भी होती है जो 0।33 मार्क्स की होती है मतलब अगर आप कोई तीन प्रश्नों का गलत जबाव देते है तो आपका एक सही जबाब कट जाता है। इस लिए इस पेपर को देते समय ये ध्यान रखे कि कि आप सिर्फ वही प्रश्न करे जो आपको अच्छे से आता है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी की प्रारंभिक परीक्षा का सिलेबस

इस पेपर में General Studies के प्रश्न पूछे जाते है तो General Studies के कुछ टॉपिक है –

  • General Science
  • Indian Polity
  • Indian history
  • Current Affairs National & International
  • Indian Economy
  • Indian Agriculture
  • Population
  • Ecology
  • Education Culture Social study of Uttar Pradesh
  • General Intelligence

बेसिक शिक्षा अधिकारी का मेन एग्जाम

अगर आप प्री एग्जाम में सफल हो जाते है तो आपको बेसिक शिक्षा अधिकारी की परीक्षा का मेन एग्जाम देने का अवसर दिया जाता है। लेकिन याद रहे ये पेपर पिछले पेपर से कठिन होता है। इस मेन एग्जाम की परीक्षा में आपके 2 पेपर कराये जाते
है। और दोनों पेपर 200-200 नंबर के होते है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी के मेन एग्जाम का पहला पेपर General Studies का होता है और इस पेपर में आपको 3 घंटे का टाइम दिया जाता है। और ये पेपर 200 मार्क्स का होता है। लेकिन ये पेपर ऑब्जेक्टिव टाइप नही होता है।

इस पेपर में आपको तीन सेक्शन दिए जाते है “Section A,B,C। Section A में 10 प्रश्न होते है जिसके सभी प्रश्नों के जबाब आपको देने होते है.और हर प्रश्न की वर्ड लिमिट 125 होनी चाहिए और इस सेक्शन का एक प्रश्न 10 मार्क्स का होता है।

इसी तरह Section B में भी 10 प्रश्न दिए गये होते है और इसमें आपको हर प्रश्न 50 वर्ड में लिखना होता है और इस सेक्शन का एक प्रश्न 6 मार्क्स का होता है। अब सबसे आखिरी section में आपको 20 प्रश्न दिए गये होते है और आपको हर प्रश्न कम से कम 25 वर्ड में लिखना होता है और इस सेक्शन का एक प्रश्न 2 मार्क्स का होता है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी के मेन एग्जाम के पहले पपेर का सिलेबस

  • History of India
  • Indian Culture
  • Indian Geography
  • India Polity
  • India & world current affairs
  • Science and Technology
  • Educational Development in India

बेसिक शिक्षा अधिकारी के मेन एग्जाम का दूसरा पेपर

बेसिक शिक्षा अधिकारी के एग्जाम के इस पेपर में आपको कुछ प्रश्न General Studies के आते है और 2 निबंध भी लिखने होते है। और ये पेपर भी 200 मार्क्स का होता है। इस पेपर में भी 2 section होते है पहले सेक्शन में आपको General Studies के प्रश्न पूछे जाते है और दुसरे सेक्शन में आपसे 2 निबंध लिखने को कहा जाता है। और हर निबंध कम से कम 700 वर्ड का होना चाहिए।

इस पपेर की तैयारी करने के लिए आपको अपने निबंध लिखने की आदत को अच्छे से सुधारना चाहिए जिससे आप इस पेपर में अच्छे से निवंध लिख सको इस पेपर में पास होना आपके निवंध के लिखने पर निर्भर करता है। अगर आप इस पेपर में अच्छा निबंध लिखते है तो आप निश्चित रूप से इस परीक्षा में पास हो जायेगे।

बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्य और अधिकार

बेसिक शिक्षा अधिकारी के कई कार्य और अधिकार होते है जो सरकार द्वारा प्रदान किये जाते है। कुछ अंधकार और कार्य के बारे में आप नीचे पढ़ सकते है –

  • एक बेसिक शिक्षा अधिकारी अपने जिले के सभी सरकारी स्कूलों के कर्मचारियों को अवकाश
    प्रदान करता है अगर वो चाहे तो अवकाश नही भी दे सकता है।
  • अपने कार्यक्षेत्र के सभी स्कूलों में प्रशाशानीय नियंत्रण रखना एक BSA का ही काम होता है.
  • स्कूलों में किसी अन्य तरह की कोई भी गड़बड़ी की जाँच करना और इससे संबंधित अन्य
    मुद्दों पर अपना निर्यण ले सकता है।
  • अपने अधीनस्थ काम करने वाले कर्मचारियों के वेतन के वितरण की स्वीकृति भी बेसिक शिक्षा अधिकारी हि देता है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी की सैलरी

जब कोई व्यक्ति किसी नौकरी के लिए तैयारी करता है तो उसके मन मे यह सवाल ज़रूर उठता है कि आख़िर इस पद पर चयनित होने के बाद उसकी सैलरी क्या होगी और यहां आप एक बेसिक शिक्षा अधिकारी बनना चाहते है.

तो आपको बता दे कि अगर आप इसके सभी एग्जाम को पास लेते है और इसके लिए सेलेक्ट हो जाते है तो सरकार की तरफ से आपको 20000 से लेकर 400000 तक का वेतन प्रतिमाह दिया जाता है।

निष्कर्ष

किसी भी नौकरी के लिए जाने और उसकी बेहतर तैयारी करने के लिए इस जॉब के बारे में पता होना उससे जुड़ी सभी जानकारी होना बहुत महत्वपूर्ण होता है।

और ये तो आप सभी जानते है कि शिक्षा जिसका महत्व सभी के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। इसलिए बीएस सरकार विभाग का काफी महत्वपूर्ण अधिकारी होता है।

जिसके काफी लोग तैयारी करते है लेकिन इसमे सफलता उन्ही को मिलती है जिनको इसके बारे में अच्छी जानकारी होती है।

इन्ही  महत्वपूर्ण बातो को ध्यान में रखते हुए आज हमने अपने इस लेख के माध्यम से आपको बीएस कैसे बने इसके लिए क्या योग्यता होनी चाहिए और इसकी तैयारी कैसे करने चाहिए जैसी महत्वपूर्ण बातों से अवगत कराया है. ताकि अगर आप इस पद के लिए आसानी से अपनी तैयारी कर सके और इसमें सफलता हासिल करे.

मुझे उम्मीद है की दी गयी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और आपके लिए हेल्पफुल रही होगी। बाकि आप हमे नीचे कमेंट  करके बता सकते है की दी गयी जानकारी आपको किस प्रकार हेल्पफुल रही.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here