BDO क्या है और एक BDO ऑफिसर कैसे बने?

पढ़ाई-लिखाई करके हर कोई बड़ा आदमी बनना चाहता है. सभी अच्छे से अच्छा जॉब करना चाहते हैं लेकिन वहीं कुछ लोग बिजनेसमैन बन कर भी अपना नाम कमाना चाहते हैं. कुछ लोग सोचते हैं कि अपने टैलेंट का सही इस्तेमाल कैसे करें और हर रोज अपने करियर में नया कैसे सीखे इसके लिए प्राइवेट नौकरी पसंद करते हैं. वही एक ऐसा तबका भी है जिन्हें सरकारी नौकरी काफी पसंद है और जब किसी ब्लॉक में जाते हैं तो वहां पर जो ऑफिसर होता है उसे देखकर भी काफी प्रेरणा लेते हैं और सोचते हैं कि वह भी उसकी तरह बने. लेकिन सभी को यह नहीं मालूम होता है कि बीडीओ क्या है (What is BDO in Hindi) और एक बीडीओ ऑफिसर कैसे बने.  हम इस पोस्ट में यह जानेंगे की BDO का फुल फॉर्म क्या होता है. अक्सर हम आम बोलचाल की भाषा में सिर्फ इसी शब्द का इस्तेमाल करते हैं लेकिन अगर आप किसी से पूछे तो जवाब में मिलेगा कि भाई मुझे तो बस यही पता है, इस का फुल फॉर्म क्या होता है मुझे नहीं मालूम.

हमारे देश भारत में जनसंख्या काफी ज्यादा है इसीलिए हर क्षेत्र में कंपटीशन भी बहुत अधिक है. एक पद के उम्मीदवारों की संख्या लाखों में हो जाती है. तो जब आप किसी जॉब को प्राप्त करने के लिए जाते हैं तो उसमें सीटें बहुत कम होती हैं और उम्मीदवारों की संख्या ज्यादा होने से कंपटीशन भी बहुत हाई हो जाता है. लेकिन अगर आप सही तरीके से कॉन्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी करेंगे तो फिर आपको सफलता जरूर मिलेगी. अगर आपको नहीं मालूम कि कॉन्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी कैसे करते हैं तो आप इस पोस्ट के जरिए समझ सकते है. सभी अपना अच्छा भविष्य बनाना चाहते हैं इसीलिए सरकारी नौकरी की कामना काफी ज्यादा करते हैं. इन नौकरियों में एक पद जिससे हम BDO बोलते हैं इसके लिए भी हर साल लाखों छात्र प्रयास करते हैं. लेकिन सभी को यह नहीं मालूम होता है कि BDO बनने के लिए क्या करें. किसी भी एग्जाम की तैयारी करने के लिए एक प्लानिंग की जरूरत होती है जिसके बिना सफलता मिलना मुश्किल है.

एक बीडीओ का क्या काम होता है यह वही लोग जानते हैं जो ब्लॉक अक्सर जाया करते हैं. हर इंसान को अपने क्षेत्र के प्रखंड जिसे ब्लॉक बोलते हैं उसमें किसी ना किसी तरह का काम तो पड़ता ही रहता है इसीलिए वहां पर जाना भी जरूरी है और वहां पर उपस्थित ऑफिसर के सिग्नेचर के बिना हमारा काम भी नहीं हो पाता. जब आप जानते हैं कि एक BDO की सैलरी कितनी होती है तो आप भी मन में सोचने लगते हैं कि काश मैं भी एक ऑफिसर बनता. तो कोई बात नहीं अगर आप एक छात्र हैं या फिर अभिभावक हैं जो अपने बच्चे को इस तरह का ऑफिसर बनाना चाहते हैं तो इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको हर जानकारी देने की कोशिश करेंगे वो भी आसान और सरल भाषा में. जिससे आप को समझने में देर नहीं लगेगी की BDO क्या होता है (What is BDO in Hindi) और इसके एग्जाम की तैयारी कैसे करें.

बीडीओ क्या है – What is BDO in Hindi

BDO kya hai hindi

किसी भी जिले के अंतर्गत किए जाने वाले डेवलपमेंट का प्लान और इंप्लीमेंटेशन के लिए एक मुख्य विकास अधिकारी को काम पर रखा जाता है जिसे BDO कहा जाता है. यानी की प्रखंड स्तर पर जो अधिकारी होता है उसे सरकार द्वारा दिए गए सभी परियोजनाओं को जमीनी स्तर पर क्षेत्र के विकास के लिए पूरी करने की सारी जिम्मेदारी दी गई होती है. जिसे पूरा करने के लिए उसे हर क्षेत्र तक सुविधाओं को पहुंचाना जरूरी होता है.

सरकार के विकास प्रशासन शाखा में BDO होता है जो इसका संचालन करने के लिए काम करते हैं. जब किसी व्यक्ति को जिले के अंतर्गत बनाए जाने वाले जितने भी डॉक्यूमेंट होते हैं उनमें से किसी की जरूरत पड़ती है तो फिर वह ब्लॉक ही जाता है. इन डॉक्यूमेंट में सबसे प्रमुख जाति प्रमाण पत्र, आवासीय प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, जन्म प्रमाण पत्र, के अलावा अगर किसी क्षेत्र में किसी भी तरह का सरकारी योजना होता है तो उसके लिए भी BDO की अनुमति के बगैर काम शुरू नहीं किया जा सकता है.

सरकार की तरफ से जमीनी स्तर पर दिए जाने वाले सभी योजनाएं प्रखंड में ही भेजे जाते हैं और फिर उसे प्रखंड पदाधिकारी अपने ब्लाक के अंतर्गत जितने भी क्षेत्र होते हैं वहां के पंचायत मुखिया से संपर्क करके सभी परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूरा करने की कोशिश BDO करते हाँ और इनके हस्ताक्षर के बिना पूरा नहीं किया जा सकता है.

बीडीओ का फुल फॉर्म – Full-Form of BDO in English & Hindi

Block Development Officer

 

प्रखंड विकास पदाधिकारी

बीडीओ बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता

जो भी इंसान BDO बनने की ख्वाहिश रखता है तो उसे आवेदन करने से पहले यह सुनिश्चित करना होगा कि वह ग्रेजुएशन किया हुआ हो. कोई इंसान जिसने ग्रेजुएशन पास कर रखा है भले ही वह किसी भी विषय से हो वह ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर पद के लिए आवेदन कर सकता है.

इसका मतलब है कि जो भी इंसान Science, Commerce या आर्ट्स हमसे कोई भी विषय चुनकर अपनी ग्रेजुएशन को पूरा करता है वह इस पद के लिए योग्य है.

बीडीओ के लिए आयु सीमा

जो उम्मीदवार ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर पद के लिए आवेदन करना चाहते हैं उस उम्मीदवार की उम्र कम से कम 21 साल और ज्यादा से ज्यादा 40 साल के बीच में जरूर होना चाहिए. जो उम्मीदवार OBC (अन्य पिछड़ा वर्ग) से बिलॉन्ग करते हैं उनके लिए 3 साल की छूट दी हुई होती है. इसके अलावा SC/ST (Scheduled Caste/Scheduled Tribe) वाले उम्मीदवार को 5 साल के लिए छूट दी गई है.

Category Age Limit
General 21 साल
 OBC (Other Backward Caste) 24 साल
SC/ ST 26 साल

बीडीओ ऑफिसर कैसे बने?

छात्रों को पढ़ाई करते वक्त इसका निर्णय लेना होता है कि उन्हें भविष्य में क्या करना है. अक्सर बच्चे 10वीं और 12वीं पास करने के बाद ही कंफ्यूज हो जाते हैं कि आगे क्या करें और अपना भविष्य किस क्षेत्र में जाकर बनाएं. वहीं अगर उन्हें सही तरीके से हर कोर्स और क्षेत्र के बारे में मालूम हो तो वह अपनी पसंद से अपने करियर का चुनाव उसी वक्त कर सकते हैं और उसी डायरेक्शन में अपनी मेहनत को करके सफलता आसानी से हासिल कर सकते हैं. जब एक प्लान के तहत किसी काम को किया जाता है तो उसे पूरा करना भी आसान हो जाता है.

डेवलपमेंट ऑफिसर का पद ऐसा पद है जिसे लोग काफी इज्जत करते हैं. इसलिए जिनको भी यह ख्वाहिश है कि वह भविष्य में जाकर ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर बने और नहीं पता कि इसके लिए क्या करना होता है तो आगे हम पूरे विस्तार से इसके बारे में आपको जानकारी दे रहे हैं. ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर बनने के लिए कौन से विषय पढ़ने जरूरी होते हैं और इसकी तैयारी कैसे करें यदि आप इस पोस्ट को  पढ़ रहे हैं तो पढ़ते पढ़ते समझ जाएंगे.

BDO बनने के लिए क्या करें?

BDO की परीक्षा राज्य स्तर पर ली जाती है. हर राज्य की अपनी एक कमिशन बनी होती है जिसके तहत ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर की बहाली की जाती है. इसके लिए जो परीक्षा देना होता है उसे राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित प्रशासनिक सेवा परीक्षा कही जाती है. इस परीक्षा में पास होने वाले उम्मीदवारों को सिलेक्ट करके फिर उसे इस पोस्ट पर नियुक्त किया जाता है.

BDO बनने वाले उम्मीदवार का चयन लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के आधार पर किया जाता है. यानी कि सबसे पहले जो इस परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं उन्हें Written examination में बैठना पड़ता है. जो लोग इसे क्लियर कर लेते हैं उनको पर्सनल इंटरव्यू के लिए सिलेक्ट किया जाता है. पर्सनल इंटरव्यू भी पास कर लेने के बाद में पद पर नियुक्ति कर दी जाती है. इसकी परीक्षा के अलग-अलग स्टेज होते हैं जिससे हम आपको नीचे में विस्तार से बता रहे हैं.

BDO की परीक्षा

Preliminary exam – प्रारंभिक परीक्षा

जो इस पद के लिए आवेदन करते हैं उम्मीदवारों को सबसे पहले राज्य लोक सेवा आयोग (State Public Service Commission) के आयोजित किए हुए परीक्षा में शामिल होना पड़ता है. अलग-अलग राज्यों में इस सेवा को अलग-अलग आयोग चलाते हैं. जैसे उदाहरण के लिए झारखंड में JPSC (Jharkhand Public Service commission) इसकी परीक्षा का आयोजन करती हैं और उम्मीदवारों का चुनाव करते हैं.

इस परीक्षा में 2 पेपर का एग्जाम दिया जाता है और कुल मिलाकर 250 सवाल पूछे जाते हैं जो कि 200-200 अंक के होते हैं. इन सवालों का जवाब देने के लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है.

  • General Studies Question – 150 Marks – 200
  • Social Studies Queston – 100 Marks – 200

इसमें ऑब्जेक्टिव टाइप के सवाल पूछे जाते हैं और साथ में मल्टीपल चॉइस क्वेश्चंस भी होंगे. इसमें किसी भी तरह की नेगेटिव मार्किंग नहीं की जाती है. क्वेश्चन पेपर 2 भाषाओं में होता है एक तो अंग्रेजी में और दूसरा हिंदी या फिर कोई क्षेत्रीय भाषा.

Main Examination – मुख्य परीक्षा

जो कैंडिडेट Preliminary exam पास कर जाते हैं उन्हें Main Examination मैं बैठने का मौका मिलता है. यह एग्जाम भी लिखित परीक्षा के रूप में लिया जाता है. इसमें कुल मिलाकर 6 पेपर से सवाल पूछे जाते हैं. जिसमें की पारंपरिक निबंध की तरह के क्वेश्चन पूछे जाते हैं.

सभी पेपर डिस्क्रिप्टिव तरह के क्वेश्चन पूछे जाते हैं और हर पेपर के लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है. इसमें 6 कंपलसरी पेपर होते हैं. इसमें जो लैंग्वेज पेपर होता है वह उसी भाषा की लैंग्वेज में लिखा जाना जरूरी है. लैंग्वेज पेपर के अलावा जो भी पेपर है उन्हें आप या तो हिंदी या फिर इंग्लिश में जवाब दे सकते हैं.

Subject Duration Marks
Paper 1: General Hindi & General English 3 घंटे 100
Paper 2: Language & Literature 3 घंटे 150
Paper 3: Social Sciences (History, Geography) 3 घंटे 200
Paper 4: Indian Constitution & Polity 3घंटे 200
Paper 5: Indian Economy, Globalization, Sustainable Development 3घंटे 200
Paper 6: General science, Environment and Technology Development 3घंटे 200

Interview

सिर्फ वही उम्मीदवार इंटरव्यू के लिए बुलाए जाते हैं जिन्होंने लिखित परीक्षा को पास किया है और सभी मापदंड को पूरा किया है. इंटरव्यू में अधिकतम 100 नंबर के सवाल पूछे जाते हैं. लिखित परीक्षा में जो भी नंबर मिलता है उसे इंटरव्यू मे नंबर के साथ मिलाकर ही मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है और फिर इसके आधार पर उम्मीदवार का सिलेक्शन किया जाता है.

BDO का क्या काम होता है?

  • ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर को यह देखना होता है कि अथॉरिटी और दूसरे अधिकारियों द्वारा अप्रूव किए गए योजनाओं और कार्यक्रमों को कुशलता से किया जा रहा है या नहीं किया जा रहा है.
  • पंचायत समिति के द्वारा दिए गए सभी डॉक्यूमेंट और लेटर्स को चेक करके ऑथेंटिकेट करने और उस पर साइन करने का काम करते हैं.
  • BDO पंचायत समिति फंड से पैसे निकालते हैं और फिर योजना के अनुसार उसको पंचायत को बांट देते हैं.
  • अगर ऑडिटर बताता है कि पंचायत समिति अकाउंट में किसी तरह की गड़बड़ी है तो फिर उसको ठीक करने के लिए यह कदम उठाते हैं.
  • इनके काम पंचायतों को योजनाओं को तैयार करने और देखने में मदद करना है कि वह पंचायत समिति की योजनाओं और प्राथमिकताओं के अनुरूप है. इनका यह भी काम होता है कि पंचायत द्वारा किए गए निर्धारित मानकों के अनुसार हो और निर्धारित किए गए समय के भीतर हो.

बीडीओ की सैलेरी कितनी होती है

जो अपने भविष्य के बारे में चिंता करते हैं उन्हें बहुत तरह के जॉब का ऑप्शन मिलता है लेकिन उनकी सबसे बड़ी इच्छा यह होती है कि वह जिस जॉब में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं उसके बारे में सारी जानकारी हो. इसके लिए उन्हें उस जॉब में कितनी सैलरी मिलती है इसका पता होना भी जरूरी है. हम यहां पर ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर के बारे में चर्चा कर रहे हैं इसलिए आपको बता देते हैं कि एक ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर को कितनी सैलरी मिलती है.

आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि ब्लॉक डेवलपमेंट अधिकारी का मासिक वेतन 9300 रुपए से लेकर ₹34800 के बीच में होती है.

संक्षेप में

हर कोई अपना भविष्य सुनहरा बनाना चाहता है इसलिए पढ़ाई के मामले में कोई भी पीछे नहीं रहना चाहता. यही वजह है कि हमने आज के पोस्ट में आपको बताया कि BDO क्या है (What is BDO in hindi) और एक BDO ऑफिसर कैसे बने? शिक्षा के तो कई रूप हैं आप जिस भी कोर्स को करेंगे और उसी में लगे रहेंगे तो आपको उसमें कैरियर बनाने में काफी आसानी होगी. लेकिन हर किसी को पता नहीं होता है कि BDO बनने के लिए क्या करें जिसकी जानकारी हमने इस पोस्ट में दी है.

सरकार द्वारा हर साल सरकारी नौकरी के लिए एग्जाम आयोजित जाते हैं. इसमें कई अलग-अलग पदों के लिए जो खाली जगह होती है उनके लिए वैकेंसी निकाल कर और फिर परीक्षा का आयोजन किया जाता है और जो इसमें पास होते हैं तो फिर उसको पद पर नियुक्त कर दिया जाता है. लेकिन इस तरह के एक एग्जाम को पास करना बिल्कुल भी आसान नहीं होता है. इसके लिए आपको हर तरह की जानकारी रखनी होती जैसे कि BDO बनने के लिए एग्जाम किस प्रकार से लिया जाता है?इसकी परीक्षा कैसे होती है? कौन से सब्जेक्ट से सवाल होता है? इस का सिलेबस क्या है. यानी कि हर तरह का जानकारी का होना काफी जरूरी है ताकि आप बढ़िया तरीके से तैयारी कर सकें. इस पोस्ट के माध्यम से अपने आप को यह भी बताया कि BDO का फुल फॉर्म क्या होता है.

हम उम्मीद करते हैं कि इस पोस्ट में बताए गए तथ्यों से आप को समझ में आ गया होगा की BDO कैसे बनते हैं और इसकी तैयारी कैसे करते हैं. अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप में अधिक से अधिक शेयर करें.

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here