Banana Farming Business Plan : केला फार्मिंग बिजनेस करके कम निवेश में अच्छा कमाए

आज के समय में हर कोई अपना बिजनेस करना चाहता है. भले हो कोई काम क्यों ना कर रहे हो वाह साइड से एक ऐसा बिजनेस करना चाहता है जिससे उसको अच्छा मुनाफा हो. तो ऐसे में अगर आप भी अपना खुद का बिजनेस स्टार्ट करना चाहते हैं. और आप यह चाहते हैं कि आप अपना बिजनेस अपने गांव में रहकर ही शुरू करें. तो आपको केला फार्मिंग बिजनेस के बारे में जरूर विचार करना चाहिए यह एक बहुत ही फायदेमंद बिजनेस है.

आज के दौर में यह बिजनेस किसानों के द्वारा बहुत ही बड़े पैमाने पर किया जा रहा है. यह बिजनेस एक पारम्परिक बिजनेस है. इस बिजनेस को आपको अपने ही खेत में शुरू करना होगा क्योंकि आपको इसको खेती की तरह ही करना होगा. इसे लोग केले की खेती से भी जानते हैं. आप अपने खुद के खेत से अकेला उप जाकर बेच सकते हैं.

इस लेख के माध्यम से आज हम आप सभी को केले की खेती के बारे में बताएंगे जिसे उस जाकर आप एक अच्छा बिजनेस सेटअप कर सकते हैं. आप अपने खुद के खेत से अकेला उप जाकर इधर उधर सप्लाई करके अपना मार्केटिंग बना सकते हैं. तो पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

केला फार्मिंग बिज़नेस कैसे करें?

केला फार्मिंग बिजनेस करने के लिए सबसे पहले आपको बड़े पैमाने पर जमीन चाहिए होगी अगर सारा जमीन आपका खुद का हो तो फिर आपके तू फायदे ही फायदे हैं और अगर आपका ज्यादा जमीन नहीं है तो फिर आप अपने जमीन के आसपास वाले जमीन को लीज पर 2 से 3 साल के लिए ले लीजिए और फिर और फिर उस पर केला लगाकर केला फार्मिंग बिजनेस का स्टार्ट कीजिए.

फल वाले बिजनेस करने में और केले का बिजनेस करने में सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको इसमें नगद और तुरंत पैसा मिलेगा. जब आप इसे तैयार होने के बाद किसी के पास अप्लाई करेंगे वह आपको तुरंत पैसा दे देगा.

साथ ही साथ में इसमें यह भी फायदा है की कभी-कभी लोग फल फूल आने के वक्त ही अपने हिसाब से और अपनी जरूरत के हिसाब से एडवांस में ही खरीद लेते हैं इससे यह होता है कि आपको फल तैयार होने से पहले ही पैसा मिल जाता है.

ये भी अवश्य पढ़ें:

केले की खेती के लिए मिट्टी

अगर आप केले की खेती का बिजनेस करना चाहते हैं तो फिर आपको सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि. आप जहां केला लगा रहे हो वह जगह कैसा है, उसका मिट्टी कैसा है. आप जहां केला लगाना चाहते हो वहां का मिट्टी दोमट होना चाहिए और वहां जल प्रभाव नहीं पड़ना चाहिए.

अधिक पानी भरने वाले जगह पर या भर जाने पर केले में रोग लगने की संभावना अत्यधिक बढ़ जाती है. इसके अलावा आपको आपके जमीन की पीएच वैल्यू मापनी होगी अगर आपका जमीन का पीएच वैल्यू 6 से 8 के बीच है. तो फिर आप वहां केले की फार्मिंग कर सकते हैं अन्यथा आप वहां फार्मिंग नहीं कर सकते हैं इससे आपका पौधा बहुत जल्द खराब हो जाएगा.

केले की फार्मिंग करने के लिए सबसे सही मौसम बरसात का होता है. बरसात के दिनों में आपको ज्यादा सिंचाई करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. बरसात का समय केले के फार्मिंग करने के लिए सबसे लाभदायक मौसम माना जाता है. बरसात के दिनों में आपको केले का फॉर्मिंग करने के लिए जो आवश्यक तापमान की जरूरत होती है वह मिलेगी. केले का पेड़ कम से कम 16 डिग्री और ज्यादा से ज्यादा 40 डिग्री का तापमान सहन कर सकता हैं.

केले की खेती की तैयारी और खाद

केले की खेती करने के लिए आपको उसको तकरीबन एक महीना पहले ही उस खेत की अच्छी तरह जुताई ट्रैक्टर से करवा कर कुछ दिनों के लिए छोड़ देनी होगी और कुछ दिनों के बाद आपको उसे फिर से जुताई करवानी होगी.

इस तरह से जुताई करवाने पर खेत की मिट्टी अच्छी और भूर भरी हो जाती हैं. और और फिर खेत को तरह से समतल बनाया जाता है कि वहां पर पानी ना ठहरे और उस खेत पर केले लगाने के लिए गड्ढा किया जाता है. इस गड्ढे की चौड़ाई कम से कम एक फिट होने चाहिए और गड्ढों के बीच की दूरी डेढ़ मीटर होनी चाहिए इससे पेड़ को अच्छी तरह से तैयार होने के लिए जगह मिलेगा.

इसके बाद आपको उस गड्ढे में खाद डालनी होगी. खाद आप गोबर का भी डाल सकते हैं और फिर आपको उस गड्ढे की सिंचाई करनी होगी और फिर उसमें आपको केले का पेड़ लगाना होगा. जब आप पौधा लगा लेंगे तो फिर आपको उसके 1 महीने के बाद हर एक पेड़ में 60 ग्राम यूरिया देनी होगी. यह प्रक्रिया आपको 3 महीने तक लगातार जारी रखनी होगी. और जब फिर इसमें फल फूल आने शुरू हो जाती हैं तो उस दौरान आपको फिर से उस में यूरिया कम से कम 60 ग्राम देनी होंगी.

केला की उन्नत किस्में

जब आप केले की फार्मिंग कर रहे हो तो फिर इस बात का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है किया के आप जिस पौधे को लगा रहे हो वह कैसा है उसका क्वालिटी कैसा है. केले की अच्छी क्वालिटी के किस में रोबस्टा, कुटिया, बतिसा, कटिया जैसे किस्म शामिल है.

 इसके अलावा भी और भी कई सारी केले की क्वालिटी बाजार में मिलती हैं जिसे आप लगा सकते हैं. आप इसकी अधिक जानकारी है किसी पौधे बेचने वाले से या फिर किसी नर्सरी से पता कर सकते हैं.

केले के पौधे की रोपाई

केले की फली करने के लिए आपको केले का पौधा किसी भी अच्छे नर्सरी से लाना होगा. नर्सरी के पौधे अच्छे और पैदावार होते हैं. आप इस पौधे को 15 मई से लेकर 5 जुलाई के बीच कभी भी लगा सकते हैं. और अगर आप चाहे तो इसे बरसात के मौसम में भी लगा सकते हैं बरसात के दिनों में पौधे लगाने पर केले के पौधे को समय-समय पर पानी मिलता रहता है.

केले के पौधे की सिंचाई

जब आप केले के पौधे को लगाते हैं तो उस समय आपको लगातार अंतराल में सप्ताह – सप्ताह में पौधे की सिंचाई करते रहने होते हैं.

फिर जब बरसात का समय आ जाता है तो फिर आपको पौधे की सिंचाई करने की जरूरत नहीं पड़ती है. क्योंकि बरसात के दिनों में लगातार पानी आते रहता है जिससे पौधे को पानी आवश्यकता प्राप्त होता है.

और फिर ठंड के दिनों में केले के पौधे को आपको 15 दिन के अंतराल में सिंचाई करते रहने होते हैं.

केले के पौधे में लगने वाले रोग एवं उसकी रोकथाम

केले के पौधे में लगने वाले रोगों की रोकथाम करने के लिए आपको नजदीकी बीज भंडार से या फिर किसी नर्सरी से पता करके कि उसमें रोग लगने पर क्या दवाई देनी चाहिए और फिर आप उस दवाई को लाकर अपने के पौधे पर दे दे.

केले के फलों की तुड़ाई

जब केला तैयार हो जाता है तो फिर उससे दो तरीके से तोड़ा जाता है एक जब केला कच्चा होता है कच्चा केला का लोग सब्जी बनाते हैं और बहुत से लोग आटे में उसका प्रयोग करते हैं. और दूसरा तब तोड़ा जाता है जब केला पीला रंग आने शुरू हो जाते हैं. जब केला में पीला रंग आ जाता है तो आप समझ लीजिए कि केला पक चुका है.

केले को रखने और तोड़ने के लिए आपको बड़ी-बड़ी प्लास्टिक और बॉक्स और डालिये की जरुरत होती है. केले का का एक घेरे का वजन 20 किलो से लेकर 25 किलो तक होता है. इस प्रकार एक हेक्टेयर खेत में 60 से 70 टन प्ले की पैदावार सलाना की जाती है.

केला फार्मिंग बिजनेस में इन्वेस्टमेंट.

किसी भी बिजनेस में उसका इन्वेस्टमेंट इस बात पर तय होती हैं कि आप उस बिजनेस को किस लेवल पर कर रहे हैं. अगर आप बड़े लेवल पर बिजनेस कर रहे हैं तो फिर आप का फायदा ज्यादा होगा और अगर आप छोटे लेवल पर इन्वेस्टमेंट कर रहे हैं तो फिर आप का फायदा कम ही होगा.

बिजनेस में उसका इन्वेस्टमेंट आप जिस चीज पर कर रहे हो और उसमें क्या-क्या जरूरत होती है उसका रेट पर ही इन्वेस्टमेंट तय होता है.

अगर अंदाजे की बात करें तो फिर आपका इन्वेस्टमेंट केला फार्मिंग के लिए लगभग 2 लाख से ढाई लाख के आसपास लगेगा. यह सिर्फ एक अंदाजा है इसमें आपको कम भी पड़ सकता है और ज्यादा भी.

केले के फार्मिंग में जोखिम

जब आपके केले की फार्मिंग कर रहे हो तो फिर आप को सबसे जरूरी इस बात पर ध्यान देनी है कि जब आप का किला तैयार हो जाए तो फिर आप उसे कहां कब और कैसे बेचेंगे और यह काम आपको केला लगाने के तुरंत बाद ही करनी होगी अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो फिर आप का केला सप्लाई ना करने पर आपका केला गल सर सकता है जिससे आप को भारी नुकसान हो सकता है.

और साथ ही केले में सबसे बड़ी जोखिम उसमें कीटाणु और लो रोग लग जाने पर होता है . रोग लग जाने पर पूरा का पूरा पेड़ ही खराब हो जाता है और उससे किसान को भारी नुकसान का सामना करना पड़ता है.

केला फार्मिंग बिजनेस में कर्मचारी

अगर आप अकेला फार्मिंग कर रहे हैं तो फिर आपको केले के पौधे की सिंचाई और देखरेख करने के लिए उसमें दवाई और खाद छिड़कने के लिए कम से कम 2 से 3 कर्मचारी की जरूरत पड़ेगी.

केले के पौधे में उसके खरपतवार और मिट्टी का गुडाई करते रहना पड़ता है.

केला फार्मिंग बिजनेस में साधन

अगर आप केला फार्मिंग बिजनेस कर रहे हैं तो फिर आपको उससे जुड़ी सारी चीजों की व्यवस्था रखनी बहुत ही जरूरी है. दवाई देने के लिए दवाई मशीन की होनी बहुत जरूरी है.

उसके लिए कर्मचारी की होनी जरूरी है और तोड़ कर रखने के लिए बॉक्स का होना जरूरी है. और केले को यहां वहां ले जाने के लिए अपना खुद का ट्रांसपोर्ट करने वाला एक गाड़ी का भी होना जरूरी है. पौधे की सिंचाई करने के लिए पौधे तक प्लास्टिक पाइप लगानी बहुत ही जरूरी है.

केला फार्मिंग बिजनेस मार्केटिंग

किसी भी बिजनेस में उसकी मार्केटिंग करना बहुत ही जरूरी है. ऐसे करने पर ज्यादा से ज्यादा लोग आपके केले को खरीदने के लिए आएंगे और अगर आपका केला का क्वालिटी अच्छा है तो फिर आपको अच्छा से अच्छा दाम भी मिलेगा.

मार्केटिंग करने के लिए आपको फल मंडी पर जाकर लोगों को आपके खेले के बारे में बताना होगा और जगह जगह पर चौक चौराहे पर आपको बैनर लगाना होगा. और आपके जानने वालों को भी बताना होगा और उन्हें बोलना होगा कि आपके जानने में कोई भी फल व्यापार है तो फिर उसे हमारे बारे में बताएं.

केला फार्मिंग बिजनेस से कमाए

केला फार्मिंग बिजनेस में बहुत ही अच्छा कमाई है गिरे से गिरे हुए रेट में भी अगर आप बेचते हैं तो फिर भी आपका केला कम से कम ₹20 दर्जन बिकेगा.

आप अपने केलो को कच्चा भी भेज सकते हो और उसे पक्का कर भी भेज सकते हो और दोनों तरीके से ही पैसे कमा सकते हो.

केला फार्मिंग बिजनेस में आवश्यक लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन

अगर आप केले की बिजनेस छोटे लेवल में कर रहे हैं तो फिर आपको कोई भी लाइसेंस की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. और किसी तरह की रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं पड़ेगी.

अगर आप बड़े लेवल पर बिजनेस करते हैं केले का सप्लाई करते हैं तो फिर आपको जीएसटी लाइसेंस बनाकर रखनी होगी. और अगर कोई भी अन्य लाइसेंस की जरूरत पडती है तो फिर आप उसे भी बनवा कर रख ले.

निष्कर्ष

आज हमने आप सभी को अपने इस लेख के माध्यम से केला फार्मिंग बिजनेस के बारे में बताया है. के आप किस प्रकार इस बिजनेस के माध्यम से को लाखो लाख कमा सकते हैं. केले की फार्मिंग करने के लिए आपको बड़े पैमाने में जमीन की आवश्यकता पड़ सकती हैं.

उम्मीद करता हूं आप सभी को हमारा ये लेख पसंद आया होगा और आप इस लेख का लाभ उठाया होगा. अगर आप आगे भी इसी तरह की न्यूज़ अथवा जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो फिर इस वेबसाइट पर हमेशा आते रहे.

दूसरे लाभदायक पोस्ट पढ़ें

Important Links

WTechni HomeClick Here
Other postsClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Leave a Comment

×