विज्ञापन क्या है और क्या महत्व है – Advertisement in Hindi

क्या आपने पहले कभी जानने की कोशिश की है Advertisement क्या है (What is Advertisement in Hindi)? नहीं……
कोई बात नहीं आज आपके मन में ये सवाल आ ही गया है तो आप बिलकुल सही जगह पर आ पहुंचे है। हम यहाँ आपके दिमाग में चल रहे सवाल के जवाब को लेकर ही इस पोस्ट में आये है। आप ने मोबाइल में अक्सर ब्राउज़िंग करते वक़्त, यूट्यूब में वीडियो देखते वक़्त और सबसे ज्यादा टीवी देखते टाइम Ads देखा होगा। टीवी पर फिल्म देखने के बिच में कई बार आप Ads देख कर बोर भी हो चुके होंग। क्रिकेट मैचेस के ओवर्स के बिच में आप हमेशा Ads बार बार देखते होंग। क्रिकेट फील्ड के ग्राउंड में और उसके चारो तरफ ढेर सरे Advertisement बोर्ड्स और बैनर्स भी देखे होंगे।

ये सारे Advertisement के ही तरीके हैं जिन्हें आप अक्सर देखते हैं लेकिन शायद कभी कभी उसके ऊपर ध्यान देते है। क्यों की हम अपने काम की चीज़ पर ही ध्यान दे पाते है। आज कल हर किसी के पास एंड्राइड  की स्मार्टफोन है और उसमे इंटरनेट कनेक्शन भी रहता है। जिससे लोग अपना अधिकतर समय ऑनलाइन रहते है। इस में यूट्यूब का उपयोग बहुत ज्यादा होती है। इसी बीच बहुत सारे वीडियो Ads भी दिखाये जाते है। हम Ads के माध्यम से बहुत सारे लाइफ में प्रयोग होने वाले products और services के बारे जान पाते हैं और उनकी ब्रांड वैल्यू हमारे दिमाग में छप जाती है। और इस तरह हम उस प्रोडक्ट को जाकर खरीदते है।

आपने क्या क्या विज्ञापन देखा है जो आपको अभी भी याद है। कुछ विज्ञापन बहुत attract करने वाले होते हैं जैसे “Washing Powder Nirma”, रमेश और सुरेश 5 स्टार चॉकलेट, Asian paints, Nerolac paints इत्यादि ये विज्ञापन शायद आपको भी याद होंग। तो चलिए जानते हैं विस्तार से विज्ञापन के बारे में विज्ञापन in Hindi (Advertisement in Hindi).

जब किसी प्रोडक्ट या सर्विस को पब्लिक के सामने अनोखे ढंग से present किया जाता है जो कस्टमर्स को attract करने में सफल हो और उस प्रोडक्ट और सर्विस की सेल बढ़ जाये इसे Advertisement बोलते है। जब Advertisement या विज्ञापन ऐसे प्लेटफार्म से किया जाता है जहाँ से इसे बहुत सारे लोगो तक पहुँचाया जा सकता हो तो इसे Mass Advertisement बोलते है।

विज्ञापन को एक तरह से Selling art (विक्रय कला) भी बोला जाता है जो लोगों तक पहुँचने का बहुत बड़ा माध्यम है। इस के द्वारा कस्टमर्स को फोटो, मैसेज। वीडियो और ऑडियो सुचना का इस्तेमाल कर के प्रोडक्ट की जानकारी और उसकी क्वालिटी को अच्छे से बतायी जाती है। ये इंडस्ट्रीज के विकास का दुसरा रूप है। इंडस्ट्री में जब प्रोडक्शन बढ़ जाता है तो ये जरुरी हो जाता है की बने हुए प्रोडक्ट को सिर्फ पहुँचाया न जाये बल्कि उस प्रोडक्ट की जानकारी दे दी जाए। जिसे उस प्रोडक्ट की जरुरत होगी वो खुद ही प्रोडक्ट की तलाश कर लेगा जिसे जरुरत नहीं होगी वो इसके बारे में सुनकर टाइम ख़राब नहीं करेंगा। यहाँ कहने का मतलब ये है की किसी भी प्रोडक्ट की पॉपुलैरिटी बढ़ने के लिए Advertisement मुख्य भूमिका निभाता है।
वो कैसे?

चालिये इसे मैं आप से ही एक सवाल पूछ्ने के बाद बताता हूँ।

Question

जब बरसात का मौसम आता है और मच्छर काटने लगते हैं तो आप क्या करते हैं?

आप शॉप तो जरुर जाते होंगे और बोलते होंगे की ALL OUT  या MORTEIN दे दीजिये। अब आप मुझे बताये की ALL OUT और MORTEIN के बारे में आपको कहाँ से पता चला। तो आपका जवाब होगा टीवी पर विज्ञापन देख कर। जी हाँ आप सही समझे टीवी में विज्ञापन देख देख कर हमें बहुत सारे प्रोडक्ट की जानकारी मिलति है और उसे हम बड़े ब्रांड के रूप में जानते हैं और मानते भी है।

दिवाली आने वाली है और आप दीवाली की तैयारी करनी शुरू कर चुके होंगे। आप को दीवाली से जुड़े Advertisement भी देखने को मिलने लगे होंगे। Cadbury Celebration का Advertisement तो आपको याद ही होगा जो दीवाली स्पेशल गिफ्ट ready कर के पैक के रूप में टीवी में दिखाते है। Advertisement देख कर ही Cadbury को गिफ्ट के रूप में लोग एक दूसरे को देते हैं।ये सब विज्ञापन का ही कमाल है की लोगो तक अपनी पॉपुलैरिटी इतनी बढ़ा दी जाती है की लोगो के मन में वो ब्रांड के रूप में अपनी छाप बना लेता है। इस तरह बिक्री बहुत बढ़ जाती है।

  • जब कोई नयी प्रोडक्ट लांच की जाती है तो उसके बारे में पब्लिक को कुछ भी मालूम नहीं होता। तो ऐसे में विज्ञापन के माध्यम से इसकी जानकारी हर एक आदमी तक बहुत ही आसानी से पहुँचाया जाता है।

  • किसी भी प्रोडक्ट और सर्विस की क्वालिटी के बारे में बता कर लोगो को अपनी ओर attract किया जाता है।
  • Advertisement में दिखाये जाने वाले प्रोडक्ट की ब्रांड वैल्यू बनती है जिससे लोग उस पर भरोसा करने लगते हैं।
  • कस्टमर्स के दिमाग में उस प्रोडक्ट की छाप बन जाती है। जैसे लोग Toothpaste बोलने की जगह Pepsodent या फिर Colgate बोलते हैं।
  • प्रोडक्ट के ऊपर discount देकर कस्टमर की संख्या बढ़ाई जाती और Selling भी बढ़ जाती है।
  • Advertisement के माध्यम से लोग अपने से मिलते जुलते प्रोडक्ट की तुलना कर के भी बताते हैं की कौन बेस्ट है।
  • प्रोडक्ट पर लोग विश्वास करते हैं और उसे पुरे परिवार के लोग पसंद करते हैं और कहीं भी जाये उसी का इस्तेमाल करते है। एक तरह से उस खास प्रोडक्ट के लिए आदत बना लेते हैं।
  • मार्किट में प्रोडक्ट की वजह से ही संतुलन बना रहता है

Vigyapan के प्रकार  – Types of advertisement in Hindi

हम हर दिन इंटरनेट का इस्तेमाल करते है। हर इंसान अब smartphone का इस्तेमाल करता है। चाहे आप गूगल खोले या यूट्यूब आपको हर जगह विज्ञापन देखने को मिलते होंगे। साथ ही टीवी में भी आप चाहे News, Cricket, Serial या Movie देख रहे हो विज्ञापन वहाँ भी देखने को मिलता होगा। आप Ads को अनेक रूप में देखते हैं। ये सारे अलग अलग तरह के Advertisement है। चलिए अब जान लेते हैं की आखिर Advertisement कितने तरह के होते है।

Persuasive Advertisement:

जब किसी नए प्रोडक्ट को लांच किया जाता है तो पैरेंट ब्रांड का ये goal होता है की उपभोक्ता को प्रोडक्ट के trial के लिए attract कर सके। हर एक कपनी इसके लिए अलग अलग तरीके अपनाती है।

Persuasive Advertisement प्रोडक्ट को प्रमोट करने का ऐसा तरीका है जिसका लक्ष्य consumer को राजी करना है ऐसे स्थिति में जब उस प्रोडक्ट की competetion में पहले से ही बहुत सारे प्रोडक्ट मार्किट में उपलब्ध हो। Trial के प्रोडक्ट्स को खरीदने के लिए लोगो को मोटीवेट करना और उस नए प्रोडक्ट के ब्रांड वैल्यू बढ़ने और उसे बनाए रखने के लिए भी प्रोत्साहित करते है। इसे कस्टमर loyalty भी बढ़ने का चांस होता है।

Informative Advertisement:

इस तरह के विज्ञापन सुचना या इनफार्मेशन के ब्रॉडकास्ट करने या फिर बिज़नेस preference को ध्यान में रख कर काम करते है।  इसके साथ ही इन विज्ञापनो का उद्देश्य लोगो को शिक्षित करना, हाई लिविंग कल्चर को डेवेलोप करना, ट्रेडिशनल thinking और spiritual प्रोग्रेस के लक्ष्य को पाने के लिए प्रेरित करना है। Social Development, इंटरनेशनल harmony, wild animal protection , travelling safety के बारे में इनफार्मेशन देना भी इसका उद्देश्य होता है।

Institutional Advertisement:

Institutional Advertisement commercial institution के द्वारा पब्लिश किये जाते हैं और लोगो तक भी पहुंचाए जाते है।  इस तरह के Ads customers में विश्वास और कॉन्फिडेंस पैदा करने के लिए प्रयोग किये जाते है। राष्ट्र हित को लेकर बड़ी बड़ी इंडस्ट्री ग्रुप्स इंस्टीटूशन के रूप में nationally popular opinion बनाती है। इस में Advertising  का मकसद सोशल वेलफेयर यानि जन कल्याण होता है।

Industrial Advertisement:

इस तरह के Advertisement का लक्ष्य होता है raw material यानि कच्चा माल और equipment की बिक्री बढ़ाना। इस तरह के विज्ञापन का इस्तेमाल आम लोगो को attract करना नहीं होता बल्कि ये उन इंडस्ट्रीज या targeted लोगो को aim करते हैं जो इस इंडस्ट्री से जुड़े प्रोडक्ट को इस्तेमाल करते हो। चाहे वो प्रोडक्शन या manufacturing के मकसद से करे या फिर प्रोडक्ट के उपयोग के लिए करे।

Financial Advertisement:

फाइनेंसियल Advertisement जो होते हैं वो बैंक, लोन, इन्शुरन्स और mortgage से रिलेटेड होते है। इस के जरिये कंपनियां अपनी केटेगरी में आने वाली दूसरी कम्पनीज को अपने शेयर्स खरीदने के लिए मोटीवेट करती है। इस के लिए कंपनी अपने इनकम और एक्सपेंस (खर्च) दोनों दिखाती है।

Classified Ads :

इस तरह के Ads बहुत संछिप्त और कम खर्च में लोगो तक पहुंचाए जाते है। ऐसे Ads शोक व्यक्त करने वाले (कोंडोलेंसेस), Astrological, मैरिज से जुड़ी, बधाई सन्देश, purchase, sale, requirement, job vacancy , दूल्हा और दुल्हन की तलाश के लेकर अख़बार में पब्लिश किये जाते है।

अगर आप एक बिज़नेस मैन है, किसी प्रोडक्ट की manufacturer कंपनी के मालिक हैं, किसी सर्विस को प्रोवाइड करते हैं तो आपके लिए ऐसे कौन से मध्यम हैं जिनका उपयोग कर के आप अपने प्रोडक्ट या सर्विस का Advertisement या विज्ञापन कर सकते है। तो जान लीजिये की इसके बहुत सारे माध्यम है। और उसी की चर्चा अब हम यहाँ करने जा रहे है।

Television

एक ताज़ा रिसर्च से पता चला है की सभी विज्ञापनो के बिच अभी भी टेलीविज़न बेस्ट और पॉपुलर Advertisement माध्यम है। टेलीविज़न में Ads चलाना काफी महंगा होता है। जब कोई स्पेशल इवेंट होता है उस वक़्त तो हर सेकंड के हिसाब से पैसे लिए जाते है। जैसे क्रिकेट मैच के बीच में दिखाये जाने वाले Ads, High TRP वाले shows के sponser के Ads, Soccar यानि वर्ल्ड कप फुटबॉल खेल के बिच दिखाये जाने Advertisement काफी हाई चार्ज किये जाते है।

टेलीविज़न में दिखाये जाने वाले Ads का पॉपुलर events

  • Football matches
  • Cricket matches
  • IPL T20 matches
  • High TRP shows jaise KBC, Big Boss
  • Latest released movies

Radio Advertisements

रेडियो विज्ञापनो को हवा में रेडियो waves के रूप में ट्रांसमीटर से ऐन्टेना तक प्रसारित किया जाता है और इस तरह रेडियो waves को रिसीव कर के जिस डिवाइस से साउंड के रूप में Advertisement सुनते हैं उसे रेडियो Advertisement बोला जाता है।
इस के माध्यम से Advertisement को प्रसारण करने के लिए किसी स्टेशन या फिर नेटवर्क से एयरटाइम या नेटवर्क ख़रीदा जाता है। रेडियो के जरिये Ads को बस साउंड के रूप में ही ब्रॉडकास्ट किया जा सकता है। रेडियो Ads को जो सपोर्ट करते हैं वो इसे एक प्रॉफिट के रूप में देखते है। ये एक expanding माध्यम है जो की एयर और ऑनलाइन दोनों जगह मौजुद है। Arbitron के अनुसार बात की जाये तो रेडियो में लगभग 241.6 million लिस्टनेर या फिर 93% अमेरिकन है।

Online Advertisements

ऑनलाइन Ads कस्टमर्स को attract करने के लिए इंटरनेट का सहारा लेते हैं और वर्ल्ड वाइड वेब का प्रयोग करते है। इंटरनेट में बहुत सारे पॉपुलर search engines हैं जो Ads दिखाने का काम करती है। सर्च इंजिन्स के अलावा भी websites और mobile app advertisements companies हैं जो वेबसाइट और applications दोनों जगह विज्ञापन दिखाने का काम करती है। यूट्यूब भी Advertisement दिखाने के मामले में अब बहुत पॉपुलर प्लेटफार्म है

Best online advertisements search engines

Google

Media.net ( Yahoo & Bing Ad network)

इस के अलावा ऑनलाइन और भी वेबसाइट हैं जहाँ हम अपने खुद के चीजों  का Advertisement कर सकते है। यहाँ तक की अब आप अपने सेकंड हैंड यानि used गुड्स को भी सेल करने के लिए Advertisement कर सकते है।

OLX

Quikr

Justdial

Print Advertisement

इस तरह के विज्ञापन अख़बार,magazine, business magazine में पब्लिश किये जाते है। ऐसे मगज़ीने के तरीके को प्रिंट Advertisement बोला जाता है। Impression Ad का जो पहला रूप होता है उसे क्लासिफाइड Advertising बोलते है।

Billboard Advertisement

Public place और रोड के किनारे जो बड़े बड़े बैनर और पोस्टर के रूप में Ads लगाये जाते हैं उन्हें billboard Advertisement बोलते है। सिटीज में बिल्डिंग और रोड के किनारे इस तरह के Ads को सबसे ज्यादा लगाया जाता है।

Shop Advertisement

वैसे विज्ञापन जो दुकानो के अन्दर में लगाये जाते हैं उसे शॉप Advertisement बोलते है। इसे दूसरे शब्दों में इन-स्टोर Advertisement भी बोलते है।

Air Advertisements

Aeroplane में लगे Ads और एयर बैलून के जरिये किये जाने वाले Advertisement को एयर Advertisement बोलते है।

Vigyapan के विशेषता – Qualities of Advertisement

एक अच्छा विज्ञापन अधिक से अधिक लोगो का ध्यान आकर्षित करने का काम करता है। वो कौन सी विशेषताएं हैं जो एक विज्ञापन की क्वालिटी को बेहतर बनाती  है। चलिए जानते हैं की एक अच्छे विज्ञापन में कौन सी qualities होनी चहिये।

Innovative and original Decoration:

विज्ञापन को जब पब्लिश किया जाये तो उससे पहले ये जरुरी होता है की presentation बहुत ही आकर्षक हो। उस में डेकोरेशन ऐसी हो की लोगों की नज़र खुद उसकी तरफ खिंची चली जाए।

Concentrate on main feature of Product:

जो प्रोडक्ट है उसकी सबसे बेस्ट क्वालिटी को विज्ञापन में जरुर रखे ताकि उससे स्ट्रेंथ बढ़ जाए। इसे लोगों को समझ में आ जाये की ये प्रोडक्ट उन्हें क्यों खरीदनी चहिये।

Capable to attract everyone:

विज्ञापन चाहे किसी भी प्रोडक्ट का हो उसकी सबसे जरुरी विशेषता ये होती है की वो लोगो का ध्यान अपनी और खिंच सके। विज्ञापन की scene, भाषा और प्रेजेंटेशन ऐसी हो जो लोगो के मन को भाए।

Easily Understandable:

विज्ञापन बनाने वाली कंपनी को इस बात का भी ख्याल रखना होता है की वो ऐसा विज्ञापन तैयार करे जिसे हर तरह के लोग पढ़ सके और समझ सके। चाहे लोग शहर के हो या गांव के well graduate  हो या फिर कम पढ़े लिखे सभी को Ads का मतलब आसानी से समझ में आ जाए। जिस विज्ञापन को लोगो को समझने में दिमाग लगाना पड़ता है उससे लोग जुड़ नहीं पाते और फिर बाद में उस पर से रूचि भी खतम हो जाता है।

Attractive Title:

कहते हैं न First Impression is the last impression, उसी तरह किसी भी Advertisement के title पर भी लोगो की पहली नज़र जाती है और उसे लोग पढ़ते है। Title ऐसी होनी चाहिए की लोगो के मन में interest जग जाये की इसके अन्दर और क्या लिखा है।

Importance of Advertisement in Hindi – विज्ञापन का महत्व

आज ऐसा वक़्त आ चूका है जब लोगों के बीच दूरियाँ ख़तम हो चुकि है। इसका सबसे बड़ा कारण ही हर दिन तेज़ी से डेवेलोप होती टेक्नोलॉजी। अब दूरियों का कोई मतलब नहीं रहा हर कोई किसी से भी और कभी भी जुड़ा हुआ रह सकता है।

हर दिन मार्किट बढ़ता जा रहा है और कोई मार्किट में अपना पकड़ बनाना चाहता है और साथ ही इसे पक्का करना चाहता है। जो छोटे बिज़नेस होते हैं वो भी अपने आप को बड़ा करना चाहते है। और इसके लिए हर तरह के प्रयास करते है। इसी कड़ी में वो Advertisement का सहारा लेते है। और अपने प्रोडक्ट को दुनिया के हर इंसान तक पहुँचाना चाहते हैं.

पुराने वक़्त में sources कम थे और लोगो तक पहुँच पाना मुश्किल था लेकिन अभी घर बैठे आप लाखों लोगों तक अपनी सेवा या प्रोडक्ट को बहुत ही आसानी से पहुंचा सकते है। इस के लिए जरुरत के अनुसार विज्ञापन के अलग अलग तरीको का प्रयोग करते है। विज्ञापन किसी प्रोडक्ट के लिए बहुत जरुरी होता है। क्यों की ये एक आइना होता है जो बिना लोगो तक पहुंचे हुये अपने बारे में सारी क्वालिटी को बता देता है। चलिए जन लेते हैं की आखिर विज्ञापन का महत्व क्या  हैं.

Product की जानकारी 

विज्ञापन के माध्यम से लोगों को प्रोडक्ट से जुडी हर जानकारी मिल जाती है की ये वस्तु किस काम की है? और इसकी क्या विशेषता है इसके साथ ही ये भी मालूम चल पता है की ये औरो से कैसे अलग है।

Seller का लाभ 

Advertisementके जरिये सिर्फ ग्राहक या consumer को ही नहीं बल्कि इसे बेचने वाले दुकानदार को भी लाभ मिलता है।

बाजार का निर्माण

नए प्रोडक्ट्स के बारे में जानने के लिए लोगो को मिलता है। इसे उस प्रोडक्ट के लिए बाजार बनाने में उपयोगी होता है।

Economical Development

विज्ञापन राष्ट्र सेवा में भी योगदान देता है। Advertisement के माध्यम से लोगो को जागरूक किया जाता है। और इस तरह बाजार भी बढ़ता है और लोगो की लेवल ऑफ लिविंग भी ऊँची होती जाती है। इस तरह देश की इकॉनमी मज़बूत होती है और देश के विकाश में मदद मिलती है.

Conclusion

दोस्तों अब आप समझ गए होंगे कि Advertisement क्या है (Advertisement in Hindi) और विज्ञापन in hindi किसे कहते है। इसके कितने प्रकार होते है। साथ ही आपने ये भी जाना की विज्ञापन करने के कितने माध्यम होते है। किस तरह अब अपने प्रोडक्ट को लोगों तक पहुँचाना बहुत आसान हो चूका है। अपने सेवाओं को लोगों तक पहुंचाकर एक तरह से ये काम राष्ट्रहित के तहत ही आता है। देश की ग्रोथ होती है। इस पोस्ट के जरिये आपने ये भी जाना की विज्ञापन का महत्व क्या है। दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई हो तो इसे सोशल मीडिया में ज्यादा से ज्यादा शेयर करे।

विज्ञापन क्या है और क्या महत्व है – Advertisement in Hindi
4.9 (98%) 10 votes

2 Comments

  1. Bajrang Lal October 11, 2018

Leave a Reply

%d bloggers like this: