अच्छा इंसान कैसे बने?

हर इंसान की ख्वाहिश होती है कि संसार में उसका नाम हो और एक अच्छे व्यक्तित्व के रूप में उसे पहचाना जा सके. अगर आप भी चाहते हैं कि इसी तरह आपका भी नाम हो और जानना चाहते हैं कि एक अच्छा इंसान कैसे बने तो इस लेख से बने रहे.

इस लेख के माध्यम से हम आपको जानकारी देंगे कि वह कौन से तरीके हैं जिनको अपनाकर आप एक बेहतर पर कामयाब इंसान बन सकते हैं. जिससे लोग आपकी तारीफ करते नहीं थकेंगे.

इंसान के व्यक्तित्व उनके व्यवहार से पता चलता है. बात करने के तरीके से लोग पता लगा लेते हैं कि इंसान कैसा है. अच्छे व्यक्तित्व के इंसान को हर कोई पसंद करता है. ऐसे लोगों से बातचीत करने की इच्छा भी सभी लोगों को होती है. लोगों से कैसे बात करें आपको जरूर पता होना चाहिए क्योंकि एक अच्छे इंसान की यह सबसे बड़ी पहचान होती है कि वह लोगों से बहुत अच्छे ढंग से बातचीत करता है.

यदि आप भी मानते हैं कि आप में बहुत सारे त्रुटियां हैं लेकिन आप एक अच्छे इंसान के रूप में बंद करो करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि एक अच्छे इंसान की क्या पहचान है. एक बेहतर और अच्छा एवं शरीफ इंसान कैसे बने और उसके लिए आपको क्या करना पड़ेगा.

एक शरीफ व्यक्ति कैसे बने?

achha insaan kaise bane (अच्छा इंसान कैसे बने?)

एक बेहतरीन इंसान अपने व्यक्तित्व से लोगों को आसानी से आकर्षित कर लेता है. उदार व्यक्ति की पहचान हमेशा एक नेक दिल इंसान के रूप में होती है और लोगों के बीच में उनके पापुलैरिटी अच्छी खासी होती है.

बुरा इंसान बनने के लिए बस आपको एक काम करना होता है जिससे बुराई झलकती हो लेकिन एक अच्छा इंसान बनने के लिए आपको हर काम सही ढंग से करना पड़ेगा और कभी भी ऐसा कोई काम नहीं करना है जिससे आपके व्यक्तित्व पर दाग लगे.

इससे आसानी से समझ सकते हैं कि एक शरीफ व्यक्ति कितना शब्द और शिष्टाचार का पालन करने वाला होता है. जिससे लोगों को भी पता चलता है कि यह इंसान कभी कोई बुरा काम नहीं कर सकता एवं यह हमेशा लोगों की मदद करता है.

चलिए बात कर लेते हैं कि एक अच्छा और सफल इंसान बनने के लिए क्या करें:

1. लोगों से सही ढंग से बात करें

जब आप किसी इंसान से बातचीत करते हैं तो आपके शब्दों से आपके व्यक्तित्व की झलक आती है. कोई व्यक्ति अच्छा है या बुरा उनके शब्दों से ही पता चल जाता है. बातचीत करने का ढंग बताता है कि कोई इंसान असभ्य है या सभ्य.

बड़े लोगों को हमेशा आप कहकर पुकारना चाहिए एवं कभी भी उनकी बातों पर प्रतिक्रिया देने के पहले सोच ले कि आप जो बोलने जा रहे हैं उससे आपसे उम्र में बड़े इंसान को किसी प्रकार की तकलीफ ना हो.

बड़े लोगों के साथ-साथ छोटे बच्चों के साथ भी इस तरह से कोमलता भरे शब्दों से बात करें कि बच्चे भी आपकी उदारता को महसूस कर सकें. जब एक बच्चे को आप अच्छे ढंग से बातचीत करते हैं तो वह भी आपसे अच्छी बातें सीखता है.

किसी भी इंसान से कैसे बातचीत करें इसके लिए हमने अलग से लेख तैयार किया है जिसे आप यहां से पढ़ सकते हैं पर समझ सकते हैं कि लोगों से बात कैसे करें.

2. सब को सम्मान दें

आप अच्छा इंसान बनकर लोगों का सम्मान पाना चाहते हैं ठीक उसी प्रकार दूसरे इंसान भी आप से सम्मान की उम्मीद करते है. आपसे उम्र में छोटा हो या बड़ा हो आपको हर किसी का सम्मान जरूर करना चाहिए. आप इसे एक आदत के रूप में अपना सकते हैं. जब भी लोगों से मिले उनसे मीठे स्वर में बात करें. और उन्हें अभिवादन करते हुए भेंट करें. जब मुलाकात पूरी हो जाए तो अभिवादन के साथ उन्हें शुभकामना दे और फिर उस जगह से जाएं.

इससे लोग आपसे मिलकर काफी खुश होंगे और अपने आप को खास महसूस करेंगे.

3. सकारात्मक सोच रखें

हर इंसान के अंदर अच्छाई और बुराई दोनों छुपी हुई होती है. जो इंसान लोगों के साथ अच्छे व्यवहार करता है उसे अच्छा बोला जाता है. जिनका भी व्यवहार बुरा होता है उन्हें बुरा बोला जाता है.

कोई भी इंसान पैदा होने के साथ बुरा नहीं बनता बल्कि उसे ऐसे हालात मिलते हैं जिसकी वजह से उसके व्यवहार में परिवर्तन होते हैं. इंसान जो बुरी स्थिति में फंसता है तो बुरा काम भी करता है. यहीं पर बात आती है सकारात्मक सोच रखने की.

जब इंसान अपने सकारात्मक सोच के साथ किसी भी विपरीत परिस्थिति से लड़ता है तो उसे जरुर सफलता मिलती है. ऐसा नहीं है कि अच्छे इंसान हमेशा सुखी रहते हैं बल्कि उसे दूसरों की तुलना में और ज्यादा दुखों का सामना करना पड़ता है लेकिन मैं अपने सकारात्मक सोच की वजह से स्थिति से उबर कर बाहर आते हैं. चाहे स्थिति कैसी भी हो अपनी परिस्थिति की वजह से सही रास्ते कभी भी नहीं बदलते जिसकी वजह से ही उन्हें एक अच्छे इंसान की पहचान होती है.

4. दूसरों की मदद करें

जिसे भी मदद की जरूरत हो मुझसे जरूर मदद करेंगे एक अच्छे इंसान की पहचान होती है. आपके आसपास ऐसे अनेकों इंसान मिलेंगे जिनके पास खाने के लिए खाना नहीं होता है और यहां तक की आपके आस पड़ोस में ही ऐसे कई पड़ोसी मिल जाएंगे जो परेशानियों में घिरे रहते हैं ऐसे लोगों की हमेशा मदद करें.

जब कभी भी आप दूसरे लोगों को मदद करेंगे आप को देखेंगे देखेंगे कि आप अंदर कितनी खुशी मिलती है. आपको बहुत ही अच्छा अनुभव होगा इसके अलावा जब भी आपको समय मिले या फिर भी आपके पास पैसे हो तो गरीब लोगों की मदद करें.

5. अपने कर्तव्यों का पालन करें

आपकी जिंदगी में भी कई प्रकार के कार्य होंगे जो घर आपके कार्यालय से जुड़े हुए होंगे जहां कहीं भी काम करते हो वहां आपके ऊपर कई प्रकार के फ़र्ज़ होंगे तो आप अपने कर्तव्यों का पूरी निष्ठा के साथ पूरा करें.

सच्चे इंसान की पहचान होती है कि अपनी भाषा के साथ-साथ अपने कार्य में भी निपुण होते हैं. अनुशासन का पालन करते हुए अपने कर्तव्य निभाते हैं. अपने कार्य को पूरी गुणवत्ता के साथ पूरा करते हैं. अगर आप भी अच्छे इंसान के रूप में बंद कर लोगों के सामने एक बढ़िया सा उदाहरण देना चाहते हैं तो अपने कर्तव्य को पूरी ईमानदारी से निभाएं.

6. स्वार्थ को त्याग दें

एक स्वार्थी इंसान कभी भी दूसरों के लिए अच्छा नहीं हो सकता है. अच्छा होने का मतलब यही है कि आप दूसरों की मदद करते हैं दूसरों की आदर करते हैं एवं उनसे अच्छी तरह से बातचीत करते हैं.

जो इंसान खुदगर्ज होते हैं वह सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं दूसरों से उन्हें कोई मतलब नहीं होता. लोगों को भी इस तरह के इंसान को पहचानने में एक दो बार गलती होती है लेकिन अगली बार से वह ऐसे इंसान से दूर रहना पसंद करते हैं. अच्छे इंसान की यही खासियत है वह कभी भी ऐसा काम नहीं करता जिससे वह खुदगर्ज लगे.

आप अगर आप सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं तो यह समझ ले कि हम अच्छे इंसान नहीं कहे जाएंगे इसलिए खुदगर्जी को छोड़कर आपको दूसरों के बारे में ध्यान देना है. जब आप दूसरों की मदद करते हैं तो बिना मदद मांगे ही जब आप मुसीबत में होते हैं तो दूसरे लोग भी आपकी खूब मदद करते हैं.

7. गुस्सा ना करें

कुछ लोगों का गुस्सा नाथ में होता है या नहीं वह छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा हो जाते हैं. गुस्से पर काबू रखना काफी जरूरी है. जो इंसान को किसी बात पर गुस्सा आता है उस वक्त वह अपना आपा खो जाता है वह हर बातें भी ऐसी करता है जो उसे नहीं करनी चाहिए.

एक क्रोधित इंसान ऐसी स्थिति में ऐसे शब्दों का प्रयोग कर सकता है जो उसके लिए बाद में पछतावा का कारण बन जाता है. लेकिन यहां पर आपको थोड़ा धैर्य रखना जरूरी है और गुस्सा होने के बावजूद उसे दबाने की जरूरत है. बच्चे लोगों की यही पहचान होती है कि उन्हें कितना भी गुस्सा दिलाया जाए वह कभी अपने चेहरे और अपने बातों से उसे जाहिर नहीं होने देते भले ही उन्हें अंदर से कितना भी गुस्सा लगा हो.

दूसरा ऐसी चीज है जो थोड़ी देर के लिए ही सही दिमाग में भूचाल मचा देती है लेकिन अगले कुछ दिनों के बाद में जब दिमाग ठंडा हो जाता है तो फिर वही इंसान बिल्कुल सामान्य व्यवहार करता है. यही वजह है कि गुस्से में लिया जाने वाला फैसला हमेशा गलत होता है. अगर आप एक अच्छे इंसान बनना चाहते हैं तो आपको अपने गुस्से को काबू में रखना बहुत जरूरी है.

8. माफ करना सीखें

माफ करना एक अच्छे इंसान की बहुत बड़ी पहचान होती है. हमें जिस खुदा ने बनाया है वह भी हमारी गलतियों को हमेशा से माफ करता है. हम तो बस एक इंसान है जिसे बचपन से ही यह सिखाया जाता है कि लोगों के साथ अच्छे व्यवहार करो गलती हो जाती है और अगर किसी से गलती हो जाती है तो उसे क्षमा करो.

हमारे आसपास रहने वाले दोस्त सगे संबंधी हम से उम्मीद रखते हैं और कभी-कभी ऐसी गलती कर देते हैं दिल से हमारा नुकसान हो जाता है या फिर हमारे दिल पर ठेस लग जाती है. ऐसी स्थिति में आपको एक बड़ा दिलवाला बनना चाहिए जो कि एक अच्छे इंसान की निशानी है.

एक इमानदार इंसान कभी भी बदले की भावना नहीं रखता. अगर कोई उसका नुकसान भी करता है चाहे जानबूझकर हो या फिर अनजाने में वह उसे माफ कर ही देता है. अगर कोई आपका जानबूझकर नुकसान करता है फिर भी उसके साथ अच्छा व्यवहार करें हो सकता है इससे उसका दिल बदल जाए और आपके लिए उसके दिल में हमदर्दी पैदा हो जाए.

आपके अच्छे व्यवहार से वह यह समझ जाएगा कि जिस इंसान को में नुकसान पहुंचा रहा हूं वह बड़ा दिल वाला है मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए. तो हमेशा लोगों को अच्छे व्यवहार के साथ उनकी गलतियों पर उन्हें माफी भी देना एक अच्छे इंसान के लिए सबसे बढ़िया कामों में से एक काम है.

9. ईमानदार बने

ईमानदारी को सबसे अच्छी नीति कहा जाता है. जब लोगों को आप पर विश्वास होता है तो आपको भी पूरी इमानदारी के साथ उस विश्वास को बनाए रखने के लिए भरपूर प्रयास करना चाहिए. जब कोई आप पर किसी प्रकार की जिम्मेदारी देता है तो आप उसकी जिम्मेदारी को पूरा करें कि से ही इमानदारी कहां जाता है.

अगर आप किसी से वादा करते हैं तो उस वादे को समय के साथ पूरा करें. जब आप हर बार किसी के वादे को पूरा करते हैं तो वह इंसान यह समझ जाता है कि आप एक इमानदार आदमी है. यह किसी को बताने की जरूरत नहीं पड़ती लोग यह खुद महसूस कर लेते हैं.

कोई काम ही नहीं बल्कि अगर आप उसके साथ अच्छी बातचीत करते हैं उनको अच्छी सलाह एवं मशवरा देते हैं जब मुश्किल के वक्त में होते हैं तो भी यह समझ जाते हैं कि आप एक अच्छे इंसान हैं और आप में बहुत ईमानदारी है.

इमानदार इंसान की हर जगह इज्जत होती है एवं काम में भी उनकी प्रशंसा की जाती है. ईमानदारी कई प्रकार से हो सकते हैं चाहे वह काम को लेकर हो या फिर बात को लेकर.

निष्कर्ष

ऐसा कोई इंसान नहीं जो खुद की तारीफ दुनिया में नहीं चाहता. हर कोई प्रयास करता है कि उसकी इमानदारी उसकी अच्छाई को पूरी दुनिया जाने. लेकिन ऐसा नाम हासिल करना हर किसी के बस की बात नहीं. लोग वादाखिलाफी कर जाते हैं और अपने बातों पर खड़े नहीं उतरते. इस तरह के लोगों की इज्जत कहीं भी नहीं होती.

ऐसे लोग ना तो परिवार में अच्छी जगह हासिल कर पाते हैं और ना ही अपने समाज में उनकी आदर की जाती है. लेकिन एक अच्छे इंसान की कई खूबियां होती हैं जैसे कि वह कभी भी अपनी ईमानदारी के रास्ते को नहीं छोड़ते, सच के साथ रहते हैं, दूसरों की गलतियों को क्षमा करते हैं इस तरह की कई निशानियां है.

अगर आप भी चाहते हैं कि समाज में आपका नाम होगा और हमारे लिखे इस आर्टिकल अच्छा इंसान कैसे बने पढ़ चुके हैं तो हम यह आश्वासन आपको दे सकते हैं कि इसे फॉलो करके आप एक अच्छे इंसान के रूप में बनकर समाज में अपना नाम बना सकते हैं.

अगर हम आपको हमारी लेखन सामग्री अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों को जरूर शेयर करें.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here